• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्थान में बारिश बनी किसानों की बैरन, कोटा संभाग में 2 लाख हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र में फसलें बर्बाद

राजस्थान में बारिश बनी किसानों की बैरन, कोटा संभाग में 2 लाख हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र में फसलें बर्बाद

सोयाबीन की फसल में 10 से 85 फीसदी तक का नुकसान दर्ज किया गया है जबकि उड़द की फसल में 20 से 90 प्रतिशत तक नुकसान होने की आशंका है.

सोयाबीन की फसल में 10 से 85 फीसदी तक का नुकसान दर्ज किया गया है जबकि उड़द की फसल में 20 से 90 प्रतिशत तक नुकसान होने की आशंका है.

Heavy rain in Rajasthan: राजस्थान के काेटा संभाग में हुई भारी बारिश ने किसानों के अरमानों को पानी में डूबो दिया है. कोटा समेत बारां और बूंदी जिले में उड़द तथा सोयाबीन की फसलों को व्‍यापक नुकसान हुआ है.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में पहले देरी से हुई बारिश ने किसानों (Farmers) की चिन्ता बढ़ाई तो अब ज्यादा बारिश (Rain) परेशान कर रही है. कोटा संभाग में ज्यादा बारिश के चलते फसलों को बड़ा नुकसान होने की आशंका है. कृषि विभाग की ओर से अब तक किए गए आकलन के मुताबिक सोयाबीन और उड़द (Soybean and urad) का 2 लाख हेक्टेयर से ज्यादा क्षेत्र अतिवृष्टि के चलते प्रभावित हुआ है. कोटा, बारां और बूंदी जिले में व्‍यापक पैमाने पर उड़द तथा सोयाबीन की फसल को नुकसान हुआ है. कृषि विभाग द्वारा किए गए आकलन के मुताबिक 31 जुलाई से 4 अगस्त तक सोयाबीन का 1 लाख 48 हजार 477 हेक्टेयर क्षेत्र ज्यादा बारिश से प्रभावित हुआ है.

इसके साथ ही उड़द का कुल 54 हजार 26 हेक्टेयर क्षेत्र ज्यादा बारिश से प्रभावित हुआ है. सोयाबीन की फसल में 10 से 85 फीसदी तक का नुकसान दर्ज किया गया है, जबकि उड़द की फसल में 20 से 90 प्रतिशत तक नुकसान होने की आशंका है. सब्जियों की फसल के साथ ही धान, चंवला और तिल की फसल को भी नुकसान हुआ है. फसलों को हुए नुकसान से किसान बेहद मायूस हैं.

कोटा में सबसे ज्यादा हुआ नुकसान
कृषि विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक अभी तक ज्यादा बारिश से केवल तीन जिलों कोटा, बारां और बूंदी में नुकसान देखने को मिला है. कोटा में 24 हजार 400 हेक्टेयर में उड़द बोई गई थी, जबकि सोयाबीन की बुवाई 1 लाख 17 हजार 200 हेक्टेयर में की गई थी. कृषि विभाग के मुताबिक कोटा जिले में उड़द का 21 हजार 182 हेक्टेयर क्षेत्र और सोयाबीन का 74 हजार 644 हेक्टेयर क्षेत्र ज्यादा बारिश से प्रभावित हुआ है. कोटा जिले में लाडपुरा, सांगोद, रामगंजमंडी, दीगोद, पीपलदा आदि क्षेत्रों में फसल को क्षति हुई है.

बारां में भी हैं बुरे हाल
बारां जिले में 33 हजार 290 हेक्टेयर में उड़द और 2 लाख 35 हजार 600 हेक्टेयर में सोयाबीन बोई गई थी. यहां उड़द में 9 हजार 758 हेक्टेयर क्षेत्र में और सोयाबीन में 49 हजार 634 हेक्टेयर क्षेत्र में बारिश से क्षति का आकलन किया गया है. बारां जिले में अंता, मांगरोल, बारां, किशनगंज, शाहबाद, अटरू, छबड़ा और छीपाबड़ौद क्षेत्र में फसल में नुकसान हुआ है.

बूंदी के इन क्षेत्रों में हुआ नुकसान
बूंदी जिले में 70 हजार 800 हेक्टेयर में उड़द और 40 हजार 440 हेक्टेयर में सोयाबीन बोई गई थी. यहां उड़द में 23 हजार 66 हेक्टेयर और सोयाबीन में 24 हजार 199 हेक्‍टेयर क्षेत्र ज्यादा बारिश से प्रभावित हुआ है. यहां बूंदी, तालेड़ा, केशोरायपाटन, नैनवा, इन्द्रगढ़ और हिण्डौली क्षेत्र में नुकसान हुआ है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज