अपना शहर चुनें

States

Rajasthan Crisis: 'सचिन पायलट के लिए खुले BJP के दरवाजे, मृत्यु शैया पर अंतिम सांसें ले रही गहलोत सरकार'

सचिन पायलट की कांग्रेस से बर्खास्तगी पर अलग-अलग प्रतिक्रियाएं आ रही हैं (न्यूज़ 18 ग्राफिक्स)
सचिन पायलट की कांग्रेस से बर्खास्तगी पर अलग-अलग प्रतिक्रियाएं आ रही हैं (न्यूज़ 18 ग्राफिक्स)

बीजेपी (BJP) नेता एवं पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत (Ex MLA Bhawani Singh Rajawat) ने कहा है कि राजस्थान की राजनीति (Rajasthan Politics) में आए भूचाल के बाद अब यह तय हो गया है कि गहलोत सरकार का अंत होगा.

  • Share this:
कोटा. बीजेपी (BJP) नेता एवं पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत (Ex MLA Bhawani Singh Rajawat) ने कहा है कि राजस्थान की राजनीति (Rajasthan Politics) में आए भूचाल के बाद अब यह तय हो गया है कि गहलोत सरकार का अंत होगा, लेकिन मृत्युशैया पर अंतिम सांसें ले रही यह सरकार आखिरी वक्त में विधायकों को मंत्री पद का लोभ देकर पक्ष में करने की कोशिश कर रही है. ताकि वे समर्थन देकर सरकार को कुछ समय के लिए जीवनदान दे सकें. राजावत ने बीते मंगलवार को सरकार बचाने पर खुशियां मना रहे कांग्रेसियों का उपहास उड़ाते हुए कहा कि उन्होंने तो पूर्व में ही कह दिया था कि आपसी अन्तर्कलह कांग्रेस को ले डूबेगा और वही हुआ.

पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत ने कहा कि जिस तरह मध्यप्रदेश में ज्योतिरादित्य सिंधिया ने स्वाभिमान से समझौता नहीं किया और सरकार को गिरा दिया. वैसे ही अब राजस्थान में पायलट ने भी अपने स्वाभिमान को गिरवी रखकर गुलामी की राजनीति करने के बजाय कांग्रेस से दामन छुड़ाना ही ठीक समझा. वहीं जमीनी पकड़ वाले इस युवा नेता को चुनौती देकर अपमान करने वाले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपनी सरकार की कब्र खुद ही खोद ली थी. पायलट के इस साहसिक कदम ने कांग्रेस की परिवारवाद की राजनीति में दबे हुए युवाओं में न केवल ऊर्जा भर दी बल्कि यह भी तय कर दिया कि अब वे स्वतंत्र होकर राजनीति की नई ऊंचाईयों को छू सकेंगे.

ये भी पढ़ें: विकास दुबे के बाद अब पुलिस के निशाने पर गोरखपुर के माफिया, बनी टॉप 10 क्रिमिनल की लिस्ट



बीजेपी में खुले दरवाजे
पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत ने कहा कि सचिन पायलट की मंशा पूरी करने के लिए भारतीय जनता पार्टी के दरवाजे हमेशा खुले रहेंगे. नया दल बनाकर अगर वे बीजेपी से गठबंधन करके सत्ता के शिखर पर पहुंचना चाहेंगे तो भी बीजेपी को कोई आपत्ति नहीं होगी. क्योंकि ऐसे गठबंधन की राजस्थान की जनता पिछले डेढ़ साल से इंतजार कर रही है. कांग्रेस शासन ने राजस्थान के विकास को तो ठप्प कर ही दिया. सत्ता सौंपने वाली जनता के अरमानों पर भी पानी फेर दिया इसलिए अब जनता चाहती है कि हर मोर्चे पर विफल हुई सरकार से कैसे भी पिण्ड छूट जाये.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज