केंद्र ने की वादाखिलाफी, राज्य के 25 सांसदों को दे देना चाहिए इस्तीफा : धारीवाल

राजस्थान सरकार के मंत्री ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस.

राजस्थान सरकार के मंत्री ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस.

Rajasthan News : मंत्रियों के बीच हुए विवाद को मीडिया की कारस्तानी बताते हुए अशोक गहलोत सरकार के मंत्री शांति धारीवाल ने महामारी से जुड़ी नीतियों और प्रबंधन के मामले में केंद्र सरकार की भूमिका की कड़ी आलोचना की.

  • Share this:

कोटा. कैबिनेट बैठक में मंत्रियों के बीच हुए विवाद का पटाक्षेप करते हुए मंत्री शांति धारीवाल ने नर्म अंदाज़ में कहा कि प्रदेश अध्यक्ष 'गोविंद सिंह डोटासरा मेरे मित्र हैं, हमारे प्रदेश अध्यक्ष हैं और उनकी बात मानी जाती है. मित्रों के बीच कभी-कभी सहमति-असहमति हो जाती है.' धारीवाल ने इस पूरे विवाद का ठीकरा मीडिया के सिर फोड़ते हुए कहा कि 'हमारे बीच कोई विवाद नहीं है, मीडिया ने इस पूरे मामले को बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया.' वहीं, यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने कोटा में पत्रकार वार्ता कर वैक्सीन को लेकर केंद्र सरकार की जमकर आलोचना भी की.

उन्होंने केंद्र सरकार पर कोविड प्रबंधन को लेकर फेल होने का आरोप लगाने के साथ ही, देशभर में हुई मौतों के लिए ज़िम्मेदार भी केंद्र सरकार को बताया. धारीवाल ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ने दवाइयां, इंजेक्शन, ऑक्सीजन अपने कब्ज़े में रखी. केंद्र सरकार के कुप्रबंधन की वजह से कई देशवासियों की जान गई.

rajasthan hindi news, rajasthan samachar, rajasthan government, ashok gahlot, राजस्थान न्यूज़, राजस्थान समाचार, राजस्थान सरकार, अशोक गहलोत
न्यूज़18 क्रिएटिव

केंद्र पर वादाखिलाफी का भी आरोप
धारीवाल ने वैक्सीनेशन को लेकर राज्य सरकारों के साथ वादाखिलाफी का आरोप भी केंद्र पर लगाते हुए कहा 'उन्होंने वादा किया था कि 35 हज़ार करोड़ रुपये वैक्सीन के लिए बजट में रखे, लेकिन फिर अपने वादे से मुकरकर राज्यों को अपने स्तर पर वैक्सीन जुटाने के लिए छोड़ दिया.' धारीवाल ने निशाना सााधते हुए कहा कि पीएम नरेंद्र मोदी समेत उनकी पूरी कैबिनेट चुनाव प्रचार में जुटी रही, दूसरी तरफ, देशवासी कोरोना की चपेट में आकर जान गंवाते रहे.

25 सांसदों से मांगा इस्तीफा

धारीवाल ने प्रदेश के 25 सांसदों से इस्तीफे की मांग करते हुए कहा कि जब कोरोना की दूसरी लहर लोगों की जान ले रही थी, तो प्रदेश के 25 सांसद केंद्र सरकार से न तो दवा ला पाए, न ऑक्सीजन और न ही इंजेक्शन. कांग्रेस मांग करती है कि इन सभी सांसदों को इस्तीफा दे देना चाहिए क्योंकि संकट की घड़ी में यह जनता के किसी काम नहीं आए.



'ब्लैक फंगस की दवाइयां भी नहीं दे रहा केंद्र'

अशोक गहलोत सरकार के मंत्री धारीवाल ने कोरोना की दूसरी लहर के बाद ब्लैक फंगस से हो रही आम लोगों की मौतों के लिए भी केंद्र सरकार को दोषी ठहराया. आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार उचित मात्रा में दवाइयां उपलब्ध नहीं करवा रही, जिसके चलते अब ब्लैक फंगस भी जानलेवा हो गया है. उन्होंने केंद्र से समय पर पर्याप्त दवाएं देने की मांग की.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज