• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • कोटा के कुख्यात अपराधी हजरत अली उर्फ गुड्डू पर राजपासा कन्फर्म, 48 मामले हैं दर्ज, अब 1 साल रहेगा जेल में

कोटा के कुख्यात अपराधी हजरत अली उर्फ गुड्डू पर राजपासा कन्फर्म, 48 मामले हैं दर्ज, अब 1 साल रहेगा जेल में

कोटा शहर एसपी विकास पाठक के मुताबिक कोटा के गोविंद नगर इलाके का रहने वाला हजरत अली उर्फ गुड्डू 1996 से लगातार संगीन अपराधों में लिप्त रहा है.

कोटा शहर एसपी विकास पाठक के मुताबिक कोटा के गोविंद नगर इलाके का रहने वाला हजरत अली उर्फ गुड्डू 1996 से लगातार संगीन अपराधों में लिप्त रहा है.

Kota Big News: शिक्षानगरी कोटा के कुख्यात आदतन अपराधी हजरत अली उर्फ गुड्डू (Hazrat Ali alias Guddu) पर राजपासा एक्ट (Rajpasa Act) कंफर्म हो गया है. इसके तहत अब उसे 1 साल तक जेल की सलाखों के पीछे रहना होगा. उसके खिलाफ 48 संगीन मामले दर्ज हैं.

  • Share this:

कोटा. कोचिंग सिटी कोटा (Coaching City Kota) के लिये बदनुमा धब्बा बन चुके हार्डकोर अपराधी हजरत अली उर्फ गुड्डू (Hazrat Ali alias Guddu) पर अब राजपासा एक्ट (Rajpasa Act) कंफर्म हो गया है. हजरत प्रदेश का पहला हार्डकोर अपराधी है जिसे 1 साल के लिए राजपासा के तहत जेल में निरुद्ध किया गया है. महज 14 साल की उम्र में अपराध के दलदल में धंसने वाले हजरत ने शायद ही कोई ऐसा अपराध है जो नहीं किया हो. हजरत के खिलाफ हत्या, लूट, हत्या का प्रयास, बलात्कार, नकबजनी, डकैती की प्लानिंग, सरकारी जमीन पर कब्जा, अवैध शराब ,अवैध हथियार का इस्तेमाल, मारपीट और सरकारी कर्मचारी पर हमले के कुल 48 केस दर्ज हैं.

कोटा शहर पुलिस ने हजरत अली उर्फ गुड्डू के विरुद्ध राजभाषा की धारा तीन के तहत कार्रवाई करते हुए जिला मजिस्ट्रेट के समक्ष 28 मई को इस्तगासा का प्रस्तुत किया था. जिला कलेक्टर कोटा की ओर से उसे निरुद्ध करने के आदेश दिए गए थे. इस पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 1 जून को हजरत को निरुद्ध कर 2 जून को जेल भिजवाया था. इस आदेश को सुनवाई के लिये 12 जुलाई को एडवाइजरी बोर्ड राजस्थान उच्च न्यायालय जयपुर के समक्ष रखा गया था.

यह आदेश दिये गये हैं
एडवाइजरी बोर्ड ने अपनी रिपोर्ट में कुख्यात अपराधी हजरत अली उर्फ गुड्डू के विरुद्ध पर्याप्त आधार मानते हुए उसे 1 वर्ष की अवधि के लिये जेल में निरुद्ध रखने के आदेश दिए थे. इस पर संयुक्त शासन सचिव गृह विभाग राजस्थान ने 26 जुलाई 2021 को 1 वर्ष के लिए 31 मई 2022 तक हजरत को जेल में निरुद्ध रखने के आदेश दिए हैं. आदेश के मुताबिक अपराधी हजरत अली गुड्डू को 1 वर्ष के लिए जेल की सलाखों के पीछे रहना होगा.

गुड्डू 1996 से लगातार संगीन अपराधों में लिप्त रहा है
कोटा शहर एसपी विकास पाठक ने बताया कि कोटा के गोविंद नगर इलाके का रहने वाला हजरत अली उर्फ गुड्डू 1996 से लगातार संगीन अपराधों में लिप्त रहा है. कुख्यात हिस्ट्रीशीटर हार्डकोर मुलजिम ने कोटा सहित प्रदेश के दूसरे जिलों में भी संगीन वारदातों को अंजाम दिया है. हजरत अपराध करके सलाखों के पीछे जाता और जमानत मिलने के बाद फिर कोई जघन्य अपराध कर देता. यह इसकी फितरत बन गई थी. ऐसे में इस शातिर अपराधी की अपराधिक प्रवृत्तियों को मद्देनजर रखते हुए यह कार्रवाई की गई है.

यह है हजरत के अपराधों की फेहरिस्त
कोटा शहर एसपी विकास पाठक के मुताबिक हरजत के खिलाफ हत्या का 1, हत्या का प्रयास के 8, बलात्कार के 2, बलात्कार के प्रयास का 1, लूट के 4 ,लूट की योजना के 3, चोरी और नकबजनी के 9, आर्म्स एक्ट के 6, सरकारी कर्मचारी पर हमले के 2, सरकार जमीन पर कब्जे का 1, मारपीट के 3, डकैती की योजना का 1, धोखाधड़ी का 1 और अवैध शराब के 2 केस हैं. हजरत ने अब तक 48 वारदातों को कोटा शहर, ग्रामीण, झालावाड़, बारां, बून्दी, चितौड़, मुंबई महाराष्ट्र में अंजाम दिया है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज