Assembly Banner 2021

Kota News: रजवाड़ा क्रिकेट लीग में चीयर गर्ल्स से ज्यादा सुर्खियां बटोर रहा है सहरिया स्वांग नृत्य

बारां जिले के शाहाबाद कस्बे की यह टीम में कोटा में 13 मार्च तक रहेगी. क्रिकेट मैच के दौरान वह दर्शकों, खिलाड़ियों और आयोजकों का उत्साहवर्धन करेगी.

बारां जिले के शाहाबाद कस्बे की यह टीम में कोटा में 13 मार्च तक रहेगी. क्रिकेट मैच के दौरान वह दर्शकों, खिलाड़ियों और आयोजकों का उत्साहवर्धन करेगी.

कोटा में रजवाड़ा क्रिकेट लीग (Rajwada Cricket League) में सहिरया कलाकारों का स्वांग नृत्य (Sahariya's Swang Dance) क्रिकेट प्रेमियों को खूब लुभा रहा है. क्रिकेट मैच के दौरान ये लोक कलाकार चीयर्स गर्ल्स (Cheer girls) को मात दे रहे हैं.

  • Share this:
कोटा. अंतररष्ट्रीय क्रिकेट मैच (International cricket match) के दौरान आपने चौके-छक्के और विकेट गिरने के बाद चीयर गर्ल्स (Cheer girls) को म्यूजिक की धुन पर थिरकते हुए देखा होगा. चीयर गर्ल्स का डांस दर्शकों रोमांचित कर देता है. लेकिन कोटा में इन दिनों चल रही रजवाड़ा क्रिकेट लीग में चीयर गर्ल्स की मौजूदगी की बावजूद बारां जिले के शाहबाद के सहरिया लोक कलाकारों का स्वांग नृत्य (Sahariya's Swang Dance) दर्शकों, आयोजकों और अतिथियों को खूब लुभा रहा है.

कोटा के जेके पवेलियन स्टेडियम में चल रही रजवाड़ा क्रिकेट लीग के दौरान बड़ी संख्या में पहुंच रहे क्रिकेट प्रेमियों को चौके और छक्के लगने के बाद सहरिया लोक कलाकारों का नृत्य खूब भा रहा है. यही नहीं इन कलाकारों के साथ सेल्फी लेने की भी होड़ सी मची हुई है. सहरिया स्वांग नृत्य टीम के लीडर गोपीलाल बताते हैं कि कोरोना के चलते लंबे वक्त से उनको परफॉर्मेंस करने का मौका नहीं मिल रहा था. लेकिन अब क्रिकेट जैसे टूर्नामेंट में उनको दर्शकों को रोमांचित करने का जो मौका मिला है उससे कलाकारों में भी उत्साह है. यहां पहुंच रही सेलिब्रिटी से भी उनको मिलने का मौका मिल रहा है और आमदनी भी हो रही है.

राजस्थान के लोक कलाकारों का कोई सानी नही हैं
रजवाड़ा क्रिकेट लीग के चेयरमैन आमीन पठान बताते हैं कि राजस्थान के लोक कलाकारों का कोई सानी नही हैं. इस टूर्नामेंट के दौरान हमने चीयर गर्ल्स को भी परफॉर्म करने के लिए बुलवाया है लेकिन सहरिया स्वांग नृत्य करने वाले इन कलाकारों ने सबका दिल जीत लिया है. सहरिया आदिवासी कलाकारों की टीम में शामिल राहुल ने बताया कि लॉकडाउन के बाद से कार्यक्रमों के बंद हो जाने के कारण रोजगार पर भी संकट आ गया था.
बड़े इवेंट्स में भी अपनी प्रतिभा को दिखाने का मौका मिला


अब इस तरह के इवेंट में लोक कलाकारों को मौका दिए जाने से कलाकार अपनी परफॉर्मेंस को बेहतरीन तरीके से पेश करके कला का प्रदर्शन करने के साथ-साथ बड़े इवेंट्स में भी अपनी प्रतिभा को दिखा सकेंगे. बारां जिले के शाहाबाद कस्बे की यह टीम में कोटा में 13 मार्च तक रहेगी. क्रिकेट मैच के दौरान वह दर्शकों, खिलाड़ियों और आयोजकों का उत्साहवर्धन करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज