अपना शहर चुनें

States

कोटा में दुष्कर्मी पिता को आजीवन कारावास, 18 दिन में आया फैसला

पूर्व आईजी पवन देव मामले की सुनवाई 'कैट' में ही होगी
पूर्व आईजी पवन देव मामले की सुनवाई 'कैट' में ही होगी

कोर्ट ने आरोपी पर 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है. पोक्सो अदालत ने 18 दिन में ये फैसला सुनाया है.

  • Share this:
कोटा में नाबालिग बेटी से दुष्कर्म करने के आरोपी पिता को पोक्सो अदालत ने आजीवन कारावास कारावास की सजा सुनाई है. साथ ही 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है. पोक्सो अदालत ने 18 दिन में ये फैसला सुनाया है.

विशिष्ट लोक अभियोजक कमलकांत शर्मा ने बताया आरोपी कैथून का निवासी है. उसने अपनी 13 साल की बेटी के साथ साल 2017 में दशहरा के समय से लगातार दुष्कर्म किया. इसकी शिकायत पीड़िता की मां थाने में की थी. पीड़िता की मां ने बताया कि अनबन के कारण वो अपने पति से अलग होकर अपने बच्चों के साथ कोटा में किराए के मकान में रहने लगी. लेकिन कुछ दिन बाद ही शराब के नशे में लड़ झगड़ कर उसका पति बेटी व छोटे बेटे को अपने साथ कैथून ले गया.

चार जुलाई को पेश किया था चालान
20 मई 2018 को पीड़िता अपनी मां से मिलने कोटा नानी के यहां आई तो उसने पिता द्वारा दुष्कर्म करने की आप बीती सुनाई. इस पर 29 मई को पीड़िता की मां ने ग्रामीण एसपी से न्याय की गुहार लगाई. ग्रामीण एसपी ने कैथून थाना पुलिस को मामला दर्ज कर जांच के आदेश दिए. कैथून थाना पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी पिता को गिरफ्तार किया और 4 जुलाई को पोक्सो कोर्ट में चालान पेश किया. पोक्सो कोर्ट के न्यायाधीश गिरीशचन्द्र अग्रवाल ने उपलब्ध साक्ष्यों व तथ्यों के आधार पर दुष्कर्म का दोषी मानते हुए उसे शेष जीवनकाल तक कारावास की सजा व 50 हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है.
(रिपोर्ट: ओमप्रकाश मारू)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज