छात्रसंघ चुनाव-2019: कोटा में दो छात्र गुटे भिड़े, पुलिस ने किया लाठीचार्ज, 7 फर्जी वोटर पकड़े

News18 Rajasthan
Updated: August 27, 2019, 1:25 PM IST
छात्रसंघ चुनाव-2019: कोटा में दो छात्र गुटे भिड़े, पुलिस ने किया लाठीचार्ज, 7 फर्जी वोटर पकड़े
कोटा में आपस में भिड़ते छात्र गुट। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

प्रदेशभर में छात्रसंघ चुनाव-2019 (Students' Union Election-2019) के लिए हो रही वोटिंग (Voting) के दौरान कई जगह छात्र गुट आपस में भिड़ (fighting) गए. वहीं कई जगह उत्पात कर रहे छात्रों को पुलिस ने चांटे मारे तो एक जगह लाठीचार्ज (Lathicharge) कर उनको तीतर-बीतर किया गया. इससे विभिन्न स्थानों पर चुनावी फिजां थोड़ी बिगड़ गई.

  • Share this:
प्रदेशभर में छात्रसंघ चुनाव-2019 (Students' Union Election-2019) के लिए हो रही वोटिंग (Voting) के दौरान कई जगह छात्र गुट आपस में भिड़ (fighting) गए. वहीं कई जगह उत्पात कर रहे छात्रों को पुलिस ने चांटे मारे तो एक जगह लाठीचार्ज (Lathicharge) कर उनको तीतर-बीतर किया गया. इससे विभिन्न स्थानों पर चुनावी फिजां थोड़ी बिगड़ गई. जोधुपर, दौसा, बीकानेर और टोंक में फर्जी मतदाता (fake voters) भी पकड़े गए हैं. सीकर में बेहद कड़ी सुरक्षा में चुनाव कराए जा रहे हैं. कोटा और अजमेर में बारिश के कारण मतदान के दौरान के छात्र-छात्राओं को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा.

कोटा में छात्र गुट भिड़े तो पुलिस ने भांजी लाठियां  
कोटा में गवर्नमेंट आर्ट्स कॉलेज में छात्रों के दो गुट आपस में भिड़ गए. यहां छात्रसंघ के पूर्व महासचिव प्रियांक मिश्रा और अध्यक्ष मनीष मीणा के गुट मामूली बात को लेकर आपस में भिड़ पड़े. इस दौरान हंगामा बढ़ने पर पुलिस ने उपद्रवी छात्रों पर लाठीचार्ज कर उनको तीतर-बीतर किया. पुलिस ने उपद्रवी छात्रों को जेल रोड तक दौड़ाया. झुंझुनूं के मोरारका कॉलेज के बाहर एसएफआई और एनएसयूआई के कार्यकर्ता आपस में भिड़ पड़े. उसके बाद दोनों गुटों की तरफ से पथराव किया गया. सूचना पर मौके पर पहुंचे भारी पुलिस बल ने मोर्चा संभाला. इस दौरान छात्रों ने दौड़ते हुए पुलिस-प्रशासन पर भी पत्थर फैंके. वहां अब हालात सामान्य हैं.

जयपुर में पुलिसकर्मी ने छात्र को मारे चांटे

वहीं जयपुर में राजस्थान यूनिवर्सिटी कैंपस में उत्पात कर रहे एक छात्र के पुलिसकर्मी ने चांटे जड़ दिए. इससे वहां माहौल गरमा गया. बाद में वहां मौजूद छात्रों ने इसका विरोध जताया. इस पर पुलिस छात्र को अपनी गाड़ी में बिठाकर ले गई. मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों ने छात्रों को समझा बुझाकर शांत किया. इसके अलावा यहां पुलिस ने मना करने के बावजूद विश्वविद्यालय परिसर में घूम रहे 4 छात्रों को भी हिरासत में ले लिया.

7 फर्जी वोटर पकड़े
इन घटनाओं के अलावा विभिन्न स्थानों पर छात्रों ने फर्जी मतदान करने का भी प्रयास किया है, लेकिन पुलिस ने उनको दबोच लिया. फर्जी मतदान के लिए आए सबसे ज्यादा 3 छात्र जोधपुर में पकड़े गए हैं. यहां जेएनवीयू के ओल्ड केम्पस के बाहर से दोनों फर्जी वोटर्स को पकड़ा गया है. वहीं जोधपुर शहर के एमबीएम कॉलेज में भी एक फर्जी वोटर पकड़ा गया है. वह दूसरे की आईडी से वोट देने का प्रयास कर रहा था. दौसा में फर्जी मतदान करने आए 2 युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. दोनों युवक राजकीय कला महाविद्यालय में वोट देने के लिए पहुंचे थे. उनके पास फर्जी पहचान पत्र भी नहीं था. बीकानेर में महाराजा गंगासिंह विश्वविद्यालय में फर्जी वोट देते हुए एक छात्र को पकड़ा गया है. टोंक में एक मुन्ना भाई धरा गया. वह राजकीय पीजी कॉलेज में किसी दूसरे के नाम से वोट देने आया था.
Loading...

कोटा और अजमेर में बारिश ने डाला खलल
कोटा और अजमेर में बारिश ने चुनाव में थोड़ा खलल डाला है. बारिश के कारण मतदान करने आए छात्र-छात्राओं ने इधर-उधर शरण लेनी पड़ी.

छात्रसंघ चुनाव-2019: कोटा में छात्रा के पास मिला चाकू

छात्रसंघ चुनाव: RU में ABVP और NSUI की प्रतिष्ठा दांव पर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 27, 2019, 1:20 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...