लाइव टीवी
Elec-widget

अंधविश्वास: 2 साल पहले मर चुके बच्चे की आत्मा लेने अस्पताल पहुंचा परिवार

News18 Rajasthan
Updated: July 1, 2019, 1:15 PM IST

कोटा के एमबीएस अस्पताल में ग्रामीणों ने मृतक की आत्मा को अपने साथ ले जाने के लिए बाकायदा पूजा-अर्चना की.

  • Share this:
विज्ञान के इस युग में आज भी इंसान अंधविश्वास में उलझा हुआ है. ऐसे ही अंधविश्वास का एक मामला कोटा के एमबीएस अस्पताल में देखने को मिला, जहां मृतक के परिजन दो साल बाद उसकी आत्मा लेने अस्पताल पहुंच गए. इस दौरान ग्रामीणों ने मृतक की आत्मा को अपने साथ ले जाने के लिए अस्पताल परिसर में बाकायदा पूजा-अर्चना की. करीब आधे घंटे तक अस्पताल परिसर में अंधविश्वास का खेल देखने को मिला. इस दौरान अस्पताल के बाहर बड़ी तादाद में लोगों की भीड़ लगी रही.

अस्पताल में आत्मा लेने पहुंचे परिजन
दरअसल बूंदी के हिंडोली कस्बा के चेता गांव के रहने वाले युवक के एक वर्षीय मासूम बेटे की 2 साल पहले अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई थी. लोगों के मुताबिक बच्चे की मौत के बाद परिवार के सदस्यों की तबीयत खराब रहने लगी. घर मे अशांति होने पर परिजनों ने भोपे (देवता) की शरण ली. भोपे ने मृतक की आत्मा अस्पताल में भटकने की बात कहते हुए अस्पताल से आत्मा लाने की सलाह दी. इसी के चलते करीब 24 से ज्यादा महिला-पुरुष मृतक की आत्मा लेने एमबीएस अस्पताल पहुंचे.

अस्पताल के बाहर किया पूजा-पाठ

अस्पताल के पुराने आउटडोर के पास परिजनों ने बाकायदा धूप और दीप जलाया और पूजा-पाठ कर आपस में तिलक लगाया. इस दौरान पुलिसकर्मी व अस्पताल के सुरक्षा गार्ड भी मौके पर पहुंचे, उन्होंने परिजनों से समझाइश की और अस्पताल के अंदर जाने से मना कर दिया. वहीं महिलाएं अस्पताल के बाहर आत्मा की शांति के लिए गीत गाती रही. करीब आधे घंटे तक परिजन अंधविश्वास के फेर में उलझे रहे और बाद में मृतक की आत्मा लेकर चले गए

यह भी देखें-VIDEO: राजस्थान के इस शहर में अस्पताल में आत्मा लेने पहुंचे मृतक के परिजन

(कोटा से ओमप्रकाश की रिपोर्ट)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 1, 2019, 12:57 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...