लाइव टीवी

प्रदेश में जल्द ही फर्राटे से दौड़ेंगी ट्रेनें, 14 रेल खंडों का होगा विद्युतीकरण

News18 Rajasthan
Updated: November 29, 2019, 11:37 AM IST
प्रदेश में जल्द ही फर्राटे से दौड़ेंगी ट्रेनें, 14 रेल खंडों का होगा विद्युतीकरण
कोटा मंडल में करीब 100 स्टेशन हैं. कोटा मंडल पूरी तरह विद्युतीकृत है.

राजस्थान (Rajasthan) में जल्द ही ट्रेनें फर्राटे से दौड़ेंगी (Run Fast). डीजल इंजनों से होने वाले प्रदूषण (Pollution) से भी प्रदेश को बड़ी राहत (Relief) मिलने वाली है. रेलवे वर्ष 2023 तक प्रदेश के 14 रेल खंडों को विद्युतीकृत (Electrified) करेगा.

  • Share this:
कोटा. राजस्थान (Rajasthan) में जल्द ही ट्रेनें फर्राटे से दौड़ेंगी (Run Fast). डीजल इंजनों से होने वाले प्रदूषण (Pollution) से भी प्रदेश को बड़ी राहत (Relief) मिलने वाली है. रेलवे वर्ष 2023 तक प्रदेश के 14 रेल खंडों को विद्युतीकृत (Electrified) करेगा. रेल मंत्रालय (Ministry of Railways) ने उत्तर पश्चिम रेलवे (North Western Railway) सहित शेष गैर विद्युतीकृत बड़े रेल मार्गों के विद्युतीकरण के लिए प्रस्ताव को अनुमोदित (Approved) कर दिया है. इन पर अब कार्य चल रहा है.

साल 2018-19 में स्वीकृत की गई थी योजनाएं
राजस्थान के करीब 14 रेल खंडों का वर्ष 2022-23 तक विद्युतकरण करना प्रस्तावित है. इनमें जोधपुर, अजमेर, बीकानेर और जयपुर मंडल के रेल खंड शामिल हैं. ये योजनाएं साल 2018-19 में स्वीकृत की गई थी. राजस्थान में दो रेलवे जोन के अंतर्गत ट्रेनों का संचालन होता है. पहला उत्तर पश्चिम रेलवे है जिसका मुख्यालय जयपुर है. इस जोन के अधिकार क्षेत्र में कोटा मंडल को छोड़कर राज्य के सभी मंडल आते हैं.

कोटा मंडल पूरी तरह विद्युतीकृत है

दूसरा जोन पश्चिम मध्य रेलवे है. इसमें कोटा मंडल आता है. कोटा मंडल में करीब 100 स्टेशन हैं. कोटा मंडल पूरी तरह विद्युतीकृत है. अब उत्तर पश्चिम जोन के रेलखंडों को भी विद्युतीकृत करने की प्रकिया चल रही है.

प्रदेश में इन रेल खंडों का होगा विद्युतीकरण
रेलखंड                                                  मंडल                     मार्ग किमी
Loading...

1. मदार-पुष्कर                                       अजमेर                           26
2. हिसार-सूरतपुरा                                   बीकानेर                         65
3. लूनी-मारवाड                                       जोधपुर                          72
4. मावली-बड़ी सादड़ी                              अजमेर                          82
5. दौसा-गंगापुर सिटी                                जयपुर                          93
6. सीकर-लोहारू पीपाड़ रोड-बिलाड़ा        जयपुर                          122
7. मेडता सिटी-थईयात हमीरा                    जोधपुर                         136
8. रींगस-सीकर-चूरू                                 जयपुर                         140
9. डेगाना-रतनगढ़                                     जोधपुर व बीकानेर        143
10. उदयपुर सिटी-हिम्मतनगर                    अजमेर                        210
11. समदड़ी-बाडमेर-मुनाबाव                      जोधपुर                       250

ये रेल खंड भी हैं शामिल
रेलखंड                                                                        मंडल   मार्ग किमी
12. सरूपसर-अनूपगढ, हनुमानगढ-श्रीगंगानगर-सरूपसर  बीकानेर       281
13. बीकानेर-मेड़ता-जोधपुर और मेड़ता-फुलेरा                  जोधपुर         424
14. फलौदी-जैसलमेर, सूरतगढ-फलौदी-भिलड़ी                 जोधपुर व बीकानेर 902

रेलवे लगातार कर रहा है यात्री सुविधाओं में इजाफा
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में पिछले कुछ समय से रेलवे ने रेल मार्गों के विकास के साथ-साथ यात्रियों की सुविधाओं में काफी बढ़ोतरी की है. हाल ही में राजधानी जयपुर में भी यार्ड रि-मॉडलिंग का कार्य पूरा किया गया है.

(रिपोर्ट: अर्जुन अरविंद)

पंचायत चुनाव-2020: निर्वाचन विभाग ने तेज की तैयारियां, बैठकों का दौर हुआ शुरू

भरतपुर: बाराती नाचते-गाते रहे और चोर दुल्हनों के मंगल सूत्र समेत गहने ले उड़े

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 29, 2019, 11:30 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...