नाबालिग मूकबधिर बालिका से गैंगरेप के दो दोषियों को उम्रकैद, दो साल में आया फैसला

बालिका से गैंगरेप पर दो आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा

Life imprisonment : नाबालिग मूकबधिर बालिका को नदी में ले जाकर उनके साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम देने के करीब 2 साल पुराने मामले में आज कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए दो बुजुर्ग आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई. सजा के साथ दोनों आरोपियों पर 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया.

  • Share this:
कोटा. नाबालिग मूकबधिर बालिका (Minor and deaf girl)  को नदी में ले जाकर उनके साथ गैंगरेप (Gang rape) की वारदात को अंजाम देने के करीब 2 साल पुराने मामले में आज कोर्ट (Court) ने फैसला सुनाते हुए दो बुजुर्ग आरोपियों को आजीवन कारावास (life-imprisonment) की सजा सुनाई. सजा के साथ दोनों आरोपियों पर 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया.

पीड़िता के पिता ने 23 अप्रैल 2019 को थाने में शिकायत दी थी. जिसमें बताया था कि वो ओर उसकी पत्नी गेहूं काटने खेत में गए थे. घर पर उसकी दो बेटियां व एक बेटा था. बड़ी बेटी 7 दिन पहले ही ससुराल से लौटी थी. दोपहर में वो पानी भरने गई थी. पीछे से गांव के 57 वर्षीय बाबू लाल व 62 वर्षीय ब्रजमोहन घर आए. उसकी मूक बघिर मंदबुद्धि छोटी बेटी को बहला फुसलाकर अपने साथ ले गए.

मानवता को शर्मसार करने वाली वारदात
दोनों आरोपियों ने शराब के नशे में उसके साथ दुष्कर्म किया. बड़ी बेटी पानी भरकर वापस लौटी तो छोटी बहन वहां नहीं थी. गांव की औरतों के साथ छोटी बहन को ढूढ़ने गई. छोटी बहन खाल में बाबू लाल व ब्रजमोहन के साथ संदिग्ध हालात में मिली. मानवता को शर्मसार करने वाली इस वारदात के बाद स्थानीय लोगों में आक्रोश व्याप्त था. परिजनों की रिपोर्ट पर थाना पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आरोपी बाबूलाल व बृजमोहन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

सजा के साथ 50-50 हजार जुर्माना भी
विशिष्ट लोक अभियोजक पोक्सो ललितकुमार शर्मा ने बताया कि पोस्को कोर्ट क्रम संख्या-तीन कोर्ट ने 19 गवाहों के बयान के बाद आज करीब 2 साल 2 माह बाद फैसला सुनाते हुए दोनों आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई. सजा के साथ दोनों पर 50-50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.