कोटा: बारिश और ओलावृष्टि ने तोड़ी किसानों की कमर, कई गांवों में फसलें पूरी तरह से हुई बर्बाद !

मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को देर शाम को शुरू हुई बारिश करीब ढाई घंटे तक चली. इस दौरान 12.2 एमएम बारिश दर्ज की गई.

मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को देर शाम को शुरू हुई बारिश करीब ढाई घंटे तक चली. इस दौरान 12.2 एमएम बारिश दर्ज की गई.

कोटा में गत दो दिनों में बादल सावन के मौसम के तरह बरसे (Rain) हैं. इस दौरान हुई जबर्दस्त ओलावृष्टि (Hailstorm) ने किसानों को तबाह करके रख दिया है. कई गांवों में फसले पूरी तरह से बर्बाद होने की आशंका जताई जा रही है.

  • Share this:
कोटा. हाड़ौती संभाग के कोटा जिले में बिन मौसम हो रही बरसात (Rain) ने किसानों की कमर तोड़कर रख दी है. रविवार को लगातार दूसरे दिन रात के समय यहां बादल जमकर बरसे और ओलेगिरे. जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश आसमानी आफत के रूप में खेतों में खड़ी फसलों पर कहर बनकर बरसी. जिले के कई गांव में ओलावृष्टि (Hailstorm) ने फसलों को बेजा नुकसान पहुंचाया है.

इससे किसानों की चिंता बढ़ गई है. किसानों के मुताबिक बारिश, तेज हवा और ओलावृष्टि से सरसों, चना और धनिया की फसल को बड़े स्तर नुकसान की आशंका है. मौसम विभाग ने 4 जनवरी को भी कोटा जिले समेत हाड़ौती संभाग में येलो अलर्ट जारी किया है. पूरे संभाग में बारिश के साथ ओलावृष्टि की चेतावनी भी दी गई है.

12.2 एमएम बारिश दर्ज की गई है

मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को देर शाम को शुरू हुई बारिश करीब ढाई घंटे तक चली. इस दौरान 12.2 एमएम बारिश दर्ज की गई. जिले की लाडपुरा तहसील के कई गांव में बेर के आकार के ओले गिरे हैं. वहीं इटावा, रामगंजमंडी और सांगोद तहसील के गांव में भी गिरे ओलों ने किसानों के चेहरों पर मायूसी ला दी है. मौसम विभाग के मुताबिक पिछले 2 दिन में सावन के मौसम की तरह बरसे बादलों के कारण 27.4 एमएम बारिश दर्ज की जा चुकी है. बारिश के साथ 8 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं भी चली हैं. ऐसे में कई खेतों में सरसों की फसल जमीन की ओर झुक गई हैं.
Youtube Video


कई गांव में फसलें पूरी तरह से बर्बाद होने की आशंका

जिले के रेल गांव, बनियानी, गोदलिया हेड़ी, दीपपुरा, ब्रजनगर, सिमलहेड़ी और सालेड़ा खुर्द की ढाणी गांवों में फसलों को ओलों ने बड़ा नुकसान पहुंचाया है. किसानों ने राज्य सरकार से प्रभावित गांवों का सर्वे करवाकर मुआवजे की मांग की है. क्योंकि किसानों ने कई गांव में फसलें पूरी तरह से बर्बाद होने की आशंका व्यक्त की है.



रात को ढाई घंटे तक बरसे बादल

कोटा शहर में रविवार रात को ढाई घंटे तक बादलों की गर्जना और बिजली की चमक के साथ झमाझम बारिश हुई है. इससे सड़कों पर पानी बह निकला. सर्द मौसम में खुले आसमान के नीचे गुजर-बसर करने वाले लोगों की बारिश ने मुश्किलें बढ़ा दी है. वहीं घने कोहरे ने वाहन चालकों की मुश्किलों को बढ़ा दिया है. कोहरे के कारण विजिबिलिटी रात को 900 मीटर के करीब बनी हुई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज