पुलिस कस्टडी में युवक की मौत के बाद थाने क सभी स्टाफ लाइन हाजिर, सीआई सस्पेंड

कोटा जिले में पुलिस कस्टडी के दौरान एक युवक की मौत के मामले में सिटी एसपी ने पूरे थाने के स्टाफ को लाइन हाजिर कर दिया.

0m Prakash | News18 Rajasthan
Updated: August 28, 2019, 1:47 PM IST
पुलिस कस्टडी में युवक की मौत के बाद थाने क सभी स्टाफ लाइन हाजिर, सीआई सस्पेंड
पुलिस कस्टडी में युवक की हुई मौत, सीआई सस्पैंड तो थाने के सभी स्टॉफ हुए लाइन हाजिर (सांकेतिक तस्वीर)
0m Prakash | News18 Rajasthan
Updated: August 28, 2019, 1:47 PM IST
राजस्थान के कोटा जिले में पुलिस कस्टडी के दौरान एक युवक की मौत (Death) के मामले में सिटी एसपी ने पूरे थाने के स्टाफ को लाइन हाजिर कर दिया. दरअसल, महावीर नगर थाने में 23 अगस्त को पुलिस कस्टडी (police custody) में युवक हनुमान की हुई मौत के मामले में मंगलवार को सिटी एसपी दीपक भार्गव ने महावीरनगर थाने के सीआई को लाइन हाजिर करने के बाद सस्पेंड (Suspend) कर दिया. इसके साथ ही 5 एसआई सहित 21 पुलिसकर्मियों (Policemen) को लाइन हाजिर कर दिया. पूरे थाने के स्टाफ को लाइन हाजिर करने का कोटा में यह संभवत: पहला मामला बताया जा रहा है.

युवक को शांतिभंग करने के आरोप में गिरफ्तार किया था

एसपी दीपक भार्गव के ने बताया कि मामले की न्यायिक जांच होनी है. जांच प्रभावित नहीं हो इसलिए थाने के सीआई को सस्पेंड किया गया और वहां पर तैनात पूरे स्टाफ को लाइन हाजिर कर दिया गया है. गौरतलब है कि महावीर नगर पुलिस ने 23 अगस्त को हनुमान नाम के युवक को शांतिभंग करने के आरोप में गिरफ्तार किया था. युवक की पुलिस कस्टडी में मौत (Death in police custody) हो गई थी.

एसपी ने सीआई को किया सस्पेंड, 5 एसआई सहित 21 पुलिसकर्मियों हुए लाइन हाजिर
एसपी ने सीआई को किया सस्पेंड, 5 एसआई सहित 21 पुलिसकर्मियों हुए लाइन हाजिर


मृतक के परिजनों ने पुलिस पर लगाए थे आरोप

हनुमान की मौत के बाद परिजनों ने पुलिस पर मारपीट का आरोप लगाया था. मृतक की पत्नी ने आरोप लगाया कि उसके पति को थाने में ले जाकर जमकर पीटा गया, जिसके चलते उसकी मौत हो गई थी. परिजनों ने ये भी आरोप लगाया है कि पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद परिजनों को कोई सूचना नहीं दी. पत्नी ने आरोप लगाते हुए कहा कि कस्टडी में मौत के बाद परिजनों को बुलाकर उनसे कुछ कागजों पर साइन करवाए गए और उसके बाद सीधे मौत की जानकारी दी गई.

पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को देने के बजाए पुलिस ने खुद ही अंतिम संस्कार करवा दिया. इसके बाद मृतक के परिजनों ने मामले की जांच की मांग की थी, जिसको लेकर कलेक्टर को ज्ञापन भी दिया गया था. फिलहाल एसपी दीपक भार्गव (Deeepak bhargava) ने मामले को गंभीरता से लेते हुए पूरे थाने के स्टाफ को ही लाइन हाजिर कर दिया है.
Loading...

यह भी पढ़ें-  चूरू में पुलिस हिरासत में युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, चोरी के आरोप में पकड़ा था

यह भी पढ़ें-चूरू में दलित युवक से दरिंदगी, बेरहमी से पीटकर खींच ली जुबान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कोटा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 10:48 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...