होम /न्यूज /राजस्थान /

Rajasthan: पशुपालकों के लिए अच्छी खबर, लम्पी वायरस संक्रमण रोकने के लिए टीकाकरण अभियान शुरू, जानें अब तक कितनी हुई मौत

Rajasthan: पशुपालकों के लिए अच्छी खबर, लम्पी वायरस संक्रमण रोकने के लिए टीकाकरण अभियान शुरू, जानें अब तक कितनी हुई मौत

वैक्सीन की गाईड लाइन के अनुसार संक्रमित जोन के पशुओं को वैक्सीन नहीं लगाई जा रही है.

वैक्सीन की गाईड लाइन के अनुसार संक्रमित जोन के पशुओं को वैक्सीन नहीं लगाई जा रही है.

राजस्थान में पशुपालकों के लिए चंता का सबब बने लम्पी वायरस संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण शुरू कर दिया गया है. केंद्र सरकार ने राजस्थान को एक लाख गॉट-पॉक्स वैक्सीन की डोज भेज दी हैं. अब अजमेर संभाग में जल्द ही पशुओं को टीका लगाना शुरू कर दिया जाएगा. अब पशुओं के वैक्सीनेशन के लिए टीका लगाना शुरू किया जा रहा है. इस अभियान के तहत रिंग वैक्सीन अभियान में संक्रमित क्षेत्र से दो किलोमीटर आगे पशुओं में वैक्सीन की डोज लगाई जा रही है. वैक्सीन की गाईड लाइन के अनुसार संक्रमित जोन के पशुओं को वैक्सीन नहीं लगाई जा रही है.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. राजस्थान में पशुओं के लिए जानलेवा साबित हो रहे लम्पी वायरस पर संक्रमण शिकंजा कसने की मुहिम शुरू कर दी है. लम्पी वायरस संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए केन्द्र सरकार ने राजस्थान को एक लाख गॉट-पॉक्स वैक्सीन की डोज भेज दी हैं. पहले स्लॉट में भेजी गई वैक्सीन को अजमेर संभाग में वैक्सीनेशन अभियान शुरू कर दिया गया है. पशुपालन मंत्री लालचंद कटारिया ने बताया कि केंद्रीय पशुपालन मंत्री पुरषोत्तम रुपाला के राजस्थान दौरे पर राज्य सरकार ने केन्द्र सरकार से बीस लाख गॉट-पॉक्सवैक्सीन डोज की मांग की थी. इसी क्रम में केन्द्र सरकार ने राजस्थान को पहली खेप के रूप में एक लाख गॉट-पॉक्स वैक्सीन की डोज की सप्लाई की है.

राज्य सरकार द्वारा भी गॉट-पॉक्स वैक्सीन सप्लाई करने वाली कंपनियों से वैक्सीन खरीदी के लिए वार्ता की जा रही है. राज्य सरकार ने पशुओं के टीकाकरण के लिए गॉट-पॉक्स वैक्सीन की पांच लाख डोज खरीदने का निर्णय लिया है. इसके लिए पशुपालन विभाग को बजट आवंटित कर दिया गया है. पशुपालन विभाग द्वारा पांच लाख वैक्सीन खरीदी की प्रक्रिया शुरु कर दी गई है. गॉट-पॉक्स वैक्सीन के वैक्सीनेशन के लिए राज्य सरकार द्वारा वैज्ञानिकों एवं पशु चिकित्सा विशेषज्ञों के दिशा निर्देशानुसार रिंग वैक्सीन अभियान शुरू किया गया है.

दो किलोमीटर आगे तक होगा टीकाकरण

रिंग वैक्सीन अभियान में संक्रमित क्षेत्र से दो किलोमीटर आगे पशुओं में वैक्सीन की डोज लगाई जा रही है. वैक्सीन की गाईड लाइन के अनुसार संक्रमित जोन के पशुओं को वैक्सीन नहीं लगाई जा रही है. संक्रमित क्षेत्र के चारों और पांच से दस किलो मीटर के क्षेत्र में चारों तरफ वैक्सीन लगाकर वायरस को आगे बढ़ने से रोका जा रहा है. पशुपालन मंत्री ने कहा है कि सीमावर्ती जिलों में कुछ दिनों पहले लम्पी वायरस का संक्रमण उच्च स्तर पर था. वहां संक्रमण दर एवं पशुओं की मृत्यु दर में कमी आने लगी है. लेकिन नए संक्रमित इलाकों में तेजी से बढ़ रहे हैं. संक्रमण को रोकने के लिए वैक्सीन अभियान चलाया जा रहा है. राज्य सरकार और केन्द्र सरकार की गाईड लाइन के अनुसार जल्द ही पूरे राजस्थान में जिलेवार टीकाकरण कर लम्पी वायरस संक्रमण को रोकने की कोशिश में जुट गई है. बता दें कि इस बीमारी की चपेट में आकर अब तक 15247 पशुओं की मौत हो चुकी है. इसके साथ ही अब तक कुल 23 जिलों के 338333 पशु इस बीमारी की चपेट में आ चुके हैं.

19 जिलों में 15247 पशुओं की मौत

जोधपुर में 1810, बाड़मेर में 1694, जैसलमेर में 706, जालौर में 1307, पाली में 480,

सिरोही में 142, बीकानेर में1304, चूरू में 764, हनुमानगढ में 1200, गंगानगर में 2978, अजमेर में 305, नागौर में 1388, भीलवाड़ा में 1, कुचामनसिटी में 665, टोंक में 4, जयपुर में 42, सीकर में 281, झुंझुनूं में 89, अलवर में 2, उदयपुर में 85 पशुओं ने दम तोड़ दिया है.

इन जिलों में संक्रमित पशुओं की संख्या

जोधपुर में 36507, बाड़मेर में 43442, जैसलमेर में 23634, जालौर में 22640, पाली में 17110, सिरोही में 6481, बीकानेर में 30494, चूरू में 22400, हनुमानगढ में 21099, गंगानगर में 52540, अजमेर में 8960, नागौर में 28730, भीलवाड़ा में 87, कुचामनसिटी में 11924, टोंक में 366, जयपुर में 1760, सीकर में 3232, झुंझुनूं में 1962, अलवर में 12, उदयपुर में 4854, बांसवाड़ा में 45, राजसमंद में 121, डूंगरपुर में 17, प्रतापगढ में 6 पशु इस बीमारी की चपेट में आ चुके हैं.

Tags: Jaipur news, Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर