अपना शहर चुनें

States

स्कूल क्लर्क रश्मि की हत्या मामले में शनिवार को मौलासर बंद

सोशल मीडिया पर वायरल रश्मि के लिए न्याय मांगती तस्वीर.
सोशल मीडिया पर वायरल रश्मि के लिए न्याय मांगती तस्वीर.

नागौर के रश्मि गौड़ हत्याकांड में कुचामन सिटी के कैंडल मार्च के बाद अब शनिवार को मौलासर कस्बा बंद रखने का आह्वान किया गया है.

  • Share this:
राजस्थान के नागौर जिले में सरकारी स्कूल की महिला क्लर्क की हत्या का गुत्थी चार दिन बाद भी नहीं सुलझ पाई है. हत्यारों का सुराग लगाने में पुलिस भी नाकाम रही है और अब आमजन में इस घटना को लेकर आक्रोश बढ़ता जा रहा है. गुरुवार को कुचामन सिटी में कैंडल मार्च निकाल गया था और अब शनिवार को जिले का मौलासर कस्बा बंद रखने का एलान किया गया है.

मौलासर बंद के आह्वान पर रश्मि के हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग करते हुए शांतिपूर्ण बन्द रखा जाएगा. व्यापार मंडल सहित सर्व समाज ने इस बंद को समर्थन दिया है. बता दें कि नागौर जिले के कुचामन सिटी में सोमवार दोपहर में घर में घुसकर सरकारी स्कूल की महिला एलडीसी(क्लर्क) को बंधक बनाकर जान से मारने के प्रयास किया था. इलाज के दौरान जयपुर के एक निजी अस्पताल में मंगलवार रात रश्मि ने दम तोड़ दिया था.

ये भी पढ़ें- जयपुर में रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ी गई सरकारी अफसर संगीता जैन



एसडीएम दफ्तर के पास, दिन-दहाड़े हुई वारदात
रश्मि को जान से मारने का प्रयास उसके घर में ही हुआ. रश्मि का घर कुचामन एसडीएम कार्यालय के ठीक पास है और घटना के समय परिवार के अन्य लोग भी घर पर ही थे. लेकिन रोजाना की तरह रश्मि सोमवार दोपहर में घर लौटी और आराम करने अपने कमरे में चली गई. परिवार के अन्य लोग भी सामान्य दिनचर्या मे व्यस्त रहे. रश्मि के घर आने के बाद हमलावर वहां घुसे और दिन दहाड़े वारदात को अंजाम दे गए.

ये भी पढ़ें- जयपुर के लग्‍जरी होटल में मैक्सिकन युवतियों से छेड़छाड़, जनरल मैनेजर गिरफ्तार

बेरहमी से हाथ-पांव और गला बांधा, मुंह में कपड़ा ठूंसा

रश्मि की हत्या के इरादे से अज्ञात बदमाशों ने उसे बेरहमी से पीटा था. उसके सिर पर गंभीर चोट के निशान मिले थे. रश्मि के पिता के अनुसार रोजाना की तरह जब बेटी चार बजे तक उनके लिए चाय बनाकर नहीं लाई तब उन्होंने उसकी जानकारी के लिए परिवार के अन्य सदस्यों को भेजा. तब रश्मि को कमरे में हाथ-पांव, गला रस्सी से बांधा हुआ था. मूंह में कपड़ा ठूंसा हुआ था, जिससे वह मदद भी नहीं मांग पाई.

कुचामन पुलिस अब भी खाली हाथ

सोमवार दोपहर को घर के बेडरुम में घुसकर सरकारी स्कूल की क्लर्क रश्मि को बंधक बनाने और जान से मारने का प्रयास करने वालों को कुचामन पुलिस अब तक नहीं पकड़ पाई है. पुलिस ने घटनास्थल से तमाम सबूत जुटाने के प्रयास किए, एफएसएल टीम और डॉग स्क्वॉयड की भी मदद ली गई लेकिन पुलिस अब भी खाली है. रश्मि की मौत के बाद एसपी परिस देशमुख के निर्देश पर डीएसपी और कुचामन थानाधिकारी के नेतृत्व में गठित टीमें भी हमलावरों का सुराग लगाने में नाकाम साबित हुई हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज