Assembly Banner 2021

मौसमी बीमारियों ने खोली चिकित्सा विभाग की पोल, अस्पताल पहुंचे कलेक्टर

कलेक्टर कुमारपाल गौतम औचक निरीक्षण करने जेएलएन अस्पताल पहुंचे.

कलेक्टर कुमारपाल गौतम औचक निरीक्षण करने जेएलएन अस्पताल पहुंचे.

कलेक्टर कुमारपाल गौतम औचक निरीक्षण करने जेएलएन अस्पताल पहुंचे.

  • Share this:
राजस्थान के नागौर जिले में मौसमी बीमारियों का प्रकोप इस कदर बढ़ गया है कि अस्पतालों में बेड भी कम पड़ने लगे हैं. मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही चिकित्सा विभाग की अव्यवस्थाओं की पोल भी खुलने लगी है. यही वजह है कि शुक्रवार को जिला कलेक्टर कुमारपाल गौतम औचक निरीक्षण करने जेएलएन अस्पताल पहुंचे.

कलेक्टर कुमारपाल गौतम के अचानक अस्पताल पहुंचने से अस्पताल प्रशासन में हड़कंप मच गया. कलेक्टर ने यहां मेडिकल वार्डों का निरीक्षण किया और इस दौरान सामने आई समस्याओं और मरीजों की दिक्कतों पर अधिकारियों से बात की.

बता दें कि मौसमी बीमारियों के मरीजों की संख्या बढ़ने से बेड की संख्या कम पङ़ गई है और एक बेड पर दो-दो मरीजों को भर्ती किया गया है. इस पर कलेक्टर ने नाराजगी जताई और पीएमओ डॉ. अपूर्व कौशिक को व्यवस्था करने के निर्देश दिए.



वहीं इस दौरान कलेक्टर को बताया कि मेडिकल वार्ड में डेंगू के संदिग्ध मरीज भी भर्ती है. जिनमें सात बच्चे भी शामिल हैं. इन दिनों ओपीडी भी बढ़ी हुई है और रोजाना के 1000 मरीज ओपीडी में पहुंच रहे हैं.
कलेक्टर कुमारपाल गौतम ने पीएमओ को व्यवस्थाओं को सूचारू बनाए रखने के निर्देश दिए. इस दौरान कलेक्टर ने सफाई व्यवस्थ बनाए रखने, मरीजों को समय पर उपचार उपलब्ध करनाने, डेंगू व मलेरिया के संदिग्ध मरीजों के इलाज को लेकर गंभीरता बरतने के निर्देश दिए.

इस दौरान कलेक्टर ने कहा कि मौसमी बीमारियों का समय पर उपचार हो और डेंगू और मलेरिया को लेकर गंभीरता बरती जाए. उन्होंने शहरी क्षेत्र और डेंगू पीङितों के ईलाकों में फोगिंग कराने के निर्देश दिए. इस दौरान जेएलएन अस्पताल के डॉक्टर और स्टाफ मौजूद रहा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज