बस में बनाई लैब, जो 100 स्कूलों के 6 हजार छात्रों को देगी कंप्यूटर शिक्षा

दरअसल नागौर के लाडनूं इलाके में 192 सरकारी स्कूल हैं, जहां 100 से ज्यादा स्कूलों में लैब और अन्य आधुनिक संसाधन मौजूद नहीं है. इसी को देखते हुए इस बस का निर्माण किया गया.

News18 Rajasthan
Updated: August 5, 2019, 5:58 PM IST
बस में बनाई लैब, जो 100 स्कूलों के 6 हजार छात्रों को देगी कंप्यूटर शिक्षा
बस में बनाई लैब, जो 100 स्कूलों के 6 हजार छात्रों को देगी कंप्यूटर शिक्षा (सांकेतिक तस्वीर)
News18 Rajasthan
Updated: August 5, 2019, 5:58 PM IST
राजस्थान के नागौर जिले में बस के अंदर एक कंप्यूटर लैब बनायी गयी है, जिसमें बच्चों के पढ़ने-लिखने की व्यवस्था का पूरा इंतजाम किया गया है. दरअसल, सूरजमल तापड़िया मेमोरियल ट्रस्ट और सुप्रीम फाउंडेशन ने एक कंप्यूटर लैब मोबाइल बस सेवा की शुरुआत की है. बस में कंप्यूटर और आधुनिक उपकरण लगे हैं, जो बस की शक्ल में एक लैब है. जिसके जरिए 100 स्कूलों के 6000 बच्चों को कम्प्यूटर, गणित और अंग्रेजी की पढ़ाई कराई जाएगी.

बस में हुआ है लैब का निर्माण
सूरजमल तापड़िया संस्कृत महाविद्यालय के सचिव जुगल किशोर बियानी के अनुसार, ये बस सरकारी स्कूलों के बच्चों के लिए काफी लाभदायक साबित होगी. यह बस उन सरकारी स्कूलों में पहुंचेगी, जहां 11वीं और 12वीं अंग्रेजी, विज्ञान और कंप्यूटर जैसे विषय वाले विद्यार्थियों के लिए लैब की व्यवस्था नहीं है.

बता दें, बस में हर विषय के तीन शिक्षक भी मौजूद रहेंगे, जो बच्चों को बिषय से जुड़ी हर समस्या का समाधान करेंगे. दावा किया जा रहा है कि यह आधुनिक बस राजस्थान की पहली ऐसी बस होगी, जिसमें लैब से जुड़ी सारी सुविधाएं मौजूद रहेंगी.

बस लैब में बच्चों को कंप्यूटर, गणित और अंग्रेजी की पढ़ाई कराई जाएगी (सांकेतिक तस्वीर)
बस लैब में बच्चों को कंप्यूटर, गणित और अंग्रेजी की पढ़ाई कराई जाएगी (सांकेतिक तस्वीर)


बस में बनाई गई आधुनिक लैब
दरअसल नागौर के लाडनूं इलाके में 192 सरकारी स्कूल हैं, जहां 100 से ज्यादा स्कूलों में लैब और अन्य आधुनिक संसाधन मौजूद नहीं है. इसी को देखते हुए इस बस का निर्माण किया गया. ऐसे में यह बस हर दिन तीन स्कूलों तक पहुंचेगी और लैब से वंचित बच्चों को कम्प्यूटर, गणित और अंग्रेजी की पढ़ाई कराई जाएगी. साथ ही प्रयोग सफल होने के बाद बसों की संख्या में भी इजाफा किया जाएगा.
Loading...

45 लाख रुपए में तैयार हुई बस
महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. हेमंत कृष्ण मिश्र ने बताया कि आधुनिक तकनीक से लैस बस करीब 45 लाख रुपए में तैयार हुई है. बस में एक एसी और 21 कंप्यूटर लगे हुए हैं. साथ ही इनमें एक साथ 21 स्टूडेंट्स को पढ़ाया जा सकेगा और बच्चों को पढ़ाने के लिए हर विषय के तीन शिक्षक भी तैनात किए गए हैं.

यह भी पढ़ें- अब निखरेगा ऐतिहासिक जल महल का स्वरूप, सीआईएसएफ ने उठाया साफ सफाई का बीड़ा
First published: August 5, 2019, 11:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...