लाइव टीवी

पुलिस कमांडो की असमय मौत को नहीं भूले साथी, भाई बनकर किया दोस्त की बहन का कन्यादान

Mahendra Bishnoi | News18 Rajasthan
Updated: November 23, 2019, 6:08 PM IST
पुलिस कमांडो की असमय मौत को नहीं भूले साथी, भाई बनकर किया दोस्त की बहन का कन्यादान
पुलिस कर्मियों ने अपने दिवंगत साथी की बहन की शादी में पहुुंचकर कन्यादान की रस्म पूरी करवाई.

नागौर पुलिस (Nagaur Police) के जवान अपने साथी पुलिसकर्मी की असमय मौत (unnatural Death) को नहीं भुला पाए. उन्होंने अपने साथी के बहन की शादी (Marriage of sister) में पहुंचे और भाई बनकर उसका कन्यादान किया.

  • Share this:
नागौर. राजस्थान की नागौर पुलिस के जवान अपने साथी पुलिसकर्मी (Policeman) की असमय मौत (unnatural Death) को नहीं भुला पाए. वो सभी अपने साथी की बहन की शादी (Marriage of sister) में पहुंचे और भाई बनकर उसका कन्यादान किया. पुलिस के मानवीय चेहरे को सामने लाने वाली यह घटना नागौर जिले के मौलासर पंचायत स्थित खाखोली गांव में घटी. मौलासर क्षेत्र के खाखोली गांव के दिवंगत पुलिस में कमांडो भींवाराम भाकर की बहन की बीते शुक्रवार को शादी थी. नागौर जिले के पुलिसकर्मियों ने दो साल पहले सड़क हादसे में जान गंवाने वाले अपने साथी भींवाराम को भुलाया नहीं और बहन की शादी में कन्यादान करने का निर्णय लिया.

तीन लाख रुपये से ज्यादा इकट्ठा कर दिया ये सामान
ये पुलिस कर्मी दिवंगत साथी की बहन की शादी में कोई कमी न रह जाए, इसके लिए जो संभव था सबकुछ किया. उन्होंने सोशल मीडिया कैंपेन चलाया और साथियों को इकट्ठा किया. नागौर के एसपी डॉ. विकास पाठक और डीडवाना एएसपी नीतिश आर्य ने इस मुहिम को आगे बढ़ाया और पुलिस जवानों का इस नेक कार्य के लिए हौंसला बढ़ाया. एसपी पाठक व एएसपी आर्य के हौंसला बढ़ाने पर नागौर जिले के हर थाने में पदस्थापित पुलिसकर्मियों ने एक दूसरे से संपर्क कर करीब सवा तीन लाख रुपये से ज्यादा नकद रकम इकट्‌ठा की. करीब डेढ़ लाख रुपये नकद, एक लाख रुपये कीमत का सोने की हार व एक्टिवा स्कूटी खरीदी.

Sccoty
पुलिस कर्मियों ने दिवंगत भींवाराम की बहन की शादी में एक लाख रुपये कीमत का सोने की हार व एक्टिवा स्कूटी खरीद कर दी.


शादी समारोह में दिवंगत भींवाराम को याद कर रो पड़े पिता महावीर भाकर
शादी के मौके पर काफी संख्या में पुलिसकर्मी, डीडवाना एएसपी व डीडवाना सीओ के साथ शादी समारोह में कन्यादान करने पहुंचे. यहां भींवाराम की बहन सरोज ने सभी पुलिसकर्मियों का तिलक लगाकर स्वागत किया. इस दौरान भींवाराम के पिता महावीर भाकर, बहन सरोज व चाचा मौलासर प्रधान जालाराम भाकर की आंखें भर आईं. वे कमांडों भींवाराम को यादकर रो पड़े. यह देखकर वहां मौजूद रिश्तेदारों की आंखें नम हो गईं. शादी में पहुँचे पुलिसकर्मियों ने बहन सरोज व उसके परिजनों को हर सुख दुख में साथ निभाने का वादा कर कन्यादान किया. गौरतलब है कि कुचामन क्युआरटी मेंं तैनात कमांडो भींवाराम की हादसे में असमय मौत हो गई थी.

यह भी पढ़ें: किसान पिता ने बेटी को शादी के बाद हेलिकॉप्टर में बिठाकर दी विदाई, बचपन में जताई थी इच्छा
Loading...

देखिये क्यों, इस महिला ने पैदा किए 12 बच्चे, इन्हें 11 बेटियों के नाम याद नहीं

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नागौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 23, 2019, 5:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...