लाइव टीवी

नागौर: 85 से ज्यादा मोरों के शव मिले, जहरीला दाना खिलाकर मारने की आशंका
Nagaur News in Hindi

Mahendra Bishnoi | News18 Rajasthan
Updated: February 18, 2020, 10:04 PM IST
नागौर: 85 से ज्यादा मोरों के शव मिले, जहरीला दाना खिलाकर मारने की आशंका
ग्रामीणों ने मामले की गहनता से जांच कराने की मांग की है. (फाइल फोटो)

नागौर (Nagaur) जिले के डेगाना इलाके के मिठड़िया के गुर्जरों की ढाणी में 85 से ज्यादा राष्ट्रीय पक्षी मोरों (Peacock) के शव मिलने का मामला सामने आया है. वहीं 5 मोर घायल अवस्था में मिले हैं. मोरों को जहरीला दाना खिलाकर मारने की आशंका जताई जा रही है.

  • Share this:
नागौर. जिले के डेगाना इलाके के मिठड़िया के गुर्जरों की ढाणी में 85 से ज्यादा राष्ट्रीय पक्षी मोरों (Peacock) के शव मिलने का मामला सामने आया है. वहीं 5 मोर घायल अवस्था में मिले हैं. घटना की सूचना मिलते ही मौके पर भारी भीड़ जमा हो गई और वन विभाग (Forest department) को इसकी सूचना दी गई. मेड़ता से मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने घायल मोरों को इलाज के लिए डेगाना पशु चिकित्सालय में भर्ती करवाया. मौके पर गेंहू के दाने (Wheat grains) बिखरे मिले हैं. इससे आशंका जताई जा रही है कि मोरों का शिकार करने की नीयत से जहरीला दाना (Poisonous seeds) डाला गया है और इसी से मोरों की मौत हुई है.

ग्रामीणों का आरोप वन विभाग की टीम देरी से पहुंची
घटना सोमवार को दोपहर बाद की बताई जा रही है. इसको लेकर ग्रामीणों में भारी रोष व्याप्त है. ग्रामीणों को जब एक खेत में मोरों के शव पड़े होने की सूचना मिली तो वे मौके पर पहुंचे और तड़फ रहे मोरों को बचाने के लिए अपनी तरफ से भरसक प्रयास किए. इसके लिए उन्होंने स्थानीय वेटरनरी चिकित्सक को मौके पर बुलाकर उनको दिखाया, जिससे कुछ मोरों को बचा लिया गया. ग्रामीणों का आरोप है कि सूचना के बाद भी वन विभाग की टीम काफी देर बाद मौके पर पहुंची. वन विभाग की टीम ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.




ग्रामीणों ने की कार्रवाई की मांग



मोरों की मौत की इस घटना के बाद मौके पर जमा हुए ग्रामीणों ने मामले में तत्काल कार्रवाई की मांग की है. ग्रामीणों ने मामले की गहनता से जांचकर शिकारियों को गिरफ्तार करने की मांग रखी है. उल्लेखनीय है कि नागौर जिले में पूर्व में भी मोरों की संदिग्ध परिस्थितियों मौत की घटनाएं सामने आ चुकी है. पहले नागौर क्षेत्र और गच्छीपुरा इलाके में मोरों की इस तरह से मौत का मामला सामने आया था.

 

 

परिवहन विभाग में भ्रष्टाचार की बेल काटकर फिर चर्चा में आए 'सिंघम' IPS दिनेश एमएन

 

पढ़े-लिखों के हाथ सौंपी गांव की 'सरकार', 282 MA और 158 प्रोफेशनल बने सरपंच

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नागौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 18, 2020, 7:27 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading