नागौर: अतिक्रमण हटाने पर बवाल, जमकर पथराव और लाठीचार्ज, ताऊसर में तनाव

नागौर (Nagaur) जिले में रविवार को ताऊसर गांव में अतिक्रमण (encroachment) हटाने पर बवाल मच गया. अतिक्रमण हटाने गए दस्ते पर लोगों ने पथराव (Stone pelting) कर दिया. इस पर पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में जमकर लाठीचार्ज ((lathicharge)) किया. इससे वहां और भगदड़ मच गई. लाठीचार्ज के दौरान कई लोग चोटिल (Many injured) हो गए.

Mahendra Bishnoi | News18 Rajasthan
Updated: August 25, 2019, 11:43 AM IST
नागौर: अतिक्रमण हटाने पर बवाल, जमकर पथराव और लाठीचार्ज, ताऊसर में तनाव
नागौर के ताऊसर में तनाव। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
Mahendra Bishnoi | News18 Rajasthan
Updated: August 25, 2019, 11:43 AM IST
नागौर (Nagaur) जिले में रविवार को ताऊसर गांव में अतिक्रमण (encroachment) हटाने पर बवाल मच गया. अतिक्रमण हटाने गए दस्ते पर लोगों ने पथराव (Stone pelting) कर दिया. पथराव में एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया. जवाब में पुलिस ने भीड़ पर जमकर लाठियां (lathicharge) बरसाई. बाद में इससे कई लोग घायल हो गए. गंभीर घायल को नागौर के जेल अस्पताल में भर्ती कराया गया है. घटना के बाद वहां जबर्दस्त तनाव फैल गया. सूचना पर मेड़ता और भोपालगढ़ विधायक भी मौके पर पहुंचे हैं. घटनास्थल पर भारी पुलिस बल तैनात है और प्रशासन अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई में जुटा हुआ है.

जमकर हुआ पथराव और लाठीचार्ज
जानकारी के अनुसार पुलिस-प्रशासन सुबह ताऊसर गांव की बंजारों की ढाणियों में अतिक्रमण हटाने लिए पहुंचा. इस दौरान बंजारा समाज के लोगों कार्रवाई का विरोध करते हुए पुलिस व प्रशासन पर जमकर पत्थरबाजी शुरू कर दी. इससे एक व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गया. उसे तत्काल नागौर के जेल अस्पताल भेजा गया. उसके बाद भी बंजारा समाज के लोग काफी देर तक पुलिस पर पथराव करते रहे. इस पर पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में भीड़ को तीतर-बीतर करने के लिए जमकर लाठीचार्ज किया. इससे वहां और भगदड़ मच गई. लाठीचार्ज के दौरान कई लोग चोटिल हो गए.

मौके पर हालात तनावपूर्ण

बवाल की सूचना पर भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग और मेड़ता विधायक इंदिरा बावरी कुछ लोगों के साथ वहां पहुंचे. विधायकों के साथ वहां पहुंचे लोग भी लाठीचार्ज की चपेट में आ गए. इससे हालात और तनावपूर्ण हो गए. पुलिस प्रशासन अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई जारी रखे हुए हैं. विधायक पुखराज गर्ग और इंदिरा बावरी ने प्रशासन की कार्रवाई को गलत बताया है. उन्होंने कहा कि प्रशासन गरीबों के घरौंदे उजाड़ रहा है. पहले इनके पुनर्वास की व्यवस्था की जानी चाहिए थी. मकान टूटने वाले गरीबों को मुआवजा मिलना चाहिए. दोनों विधायकों ने आरोप लगाया कि प्रशासन ने कार्रवाई के दौरान उनके साथ आए लोगों के साथ मारपीट की है.

पिता ने बेटी से किया रेप, गर्भवती हुई तो कराया गर्भपात

खौफनाक: अलवर में मॉल की चौथी मंजिल से युवती ने लगाई छलांग

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नागौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 25, 2019, 11:41 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...