सांसद हनुमान बेनीवाल ने कोतवाली में थानेदार की लगाई क्लास तब दर्ज हुआ SDM के खिलाफ मुकदमा

Mahendra Bishnoi | News18 Rajasthan
Updated: August 27, 2019, 1:35 PM IST
सांसद हनुमान बेनीवाल ने कोतवाली में थानेदार की लगाई क्लास तब दर्ज हुआ SDM के खिलाफ मुकदमा
एसडीएम के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए कोतवाली में थानेदार को समझाते सांसद हनुमान बेनीवाल

नागौर में उपखंड अधिकारी (SDM) दीपांशु सांगवान के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए दो विधायक कोतवाली में पांच घंटे बैठे रहे. उसके बाद सांसद हनुमान बेनीवाल ने कोतवाली पहुंचकर थानेदार की क्लास लगाई तब SDM के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ.

  • Share this:
नागौर के ताऊसर के बंजारों की ढाणी में अतिक्रमण (Encroachment) हटाने के दौरान हुए बवाल के मामले में नागौर के एसडीएम (SDM) दीपांशु सांगवान के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया. नागौर (Nagaur) जिले की मेड़ता की विधायक एवं जोधपुर जिले के भोपालगढ़ विधायक ने नागौर कोतवाली थाने में नागौर उपखंड अधिकारी (SDM) के खिलाफ धमकाने, पुलिस से पिटवाने, दुर्व्यवहार करने और जातिसूचक शब्दों से अपमानित करने का मामला दर्ज कराया है. पुलिस ने मामला दर्ज करने के लिए दोनों विधायकों को रात में करीब पांच घंटे तक इंतजार करवाया. मेड़ता की महिला विधायक इंद्रा देवी बावरी व भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग शाम से लेकर देर रात तक थाने में बैठे रहे. इसके बाद सांसद हनुमान बेनीवाल (Hanuman Beniwal) देर रात कोतवाली थाने पहुंचे और अधिकारियों को फटकार लगाई, तब जाकर पुलिस ने रात पौने बारह बजे के करीब मामला दर्ज किया.

अतिक्रमण हटाने से बेघर हुए लोगों को संबोथित करते सांसद बेनीवाल


इस मामले में मेड़ता की विधायक इंदिरा बावरी एवं जोधपुर जिले के भोपालगढ़ विधायक पुखराज गर्ग ने कोतवाली थाने में संयुक्त रिपोर्ट देकर नागौर एसडीएम दीपांशु सांगवान पर आरोप लगाया कि एसडीएम ने 25 अगस्त को बंजारों की ढाणियों में अतिक्रमण हटाने के दौरान उनके साथ अपमानजनक भाषा व जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल किया. इतना ही नहीं एसडीएम सांगवान ने गालियां देकर उन्हें अपमानित किया. इसके बाद एसडीएम ने मौके पर मौजूद पुलिस फोर्स को उन्हें पीटने के लिए उकसाया. तब पुलिस व एसटीएफ के जवानों ने उनपर पत्थर फेंके, जिसके चलते उनकी गाड़ी का शीशा टूट गया.

एससी-एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज

मेड़ता विधायक बावरी ने बताया कि वे और उनके रिश्ते का भाई पास की ढाणी में घुसे तब उन्हें घर से निकालकर पीटा गया. इसके चलते उनके भाई रामकुमार के हाथ में गंभीर चोटें लग आई हैं. विधायकों की रिपोर्ट पर पुलिस ने एसडीएम के खिलाफ विधायकों से अभद्र व्यवहार करने और एससी-एसटी एक्ट (SC-ST Act) के तहत मामला दर्ज किया है.

दोनों विधायकों को एसडीएम के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए थाने में पांच घंटे करना पड़ा इंतजार


हनुमान बेनीवाल के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पर हुआ था धरना-प्रदर्शन
Loading...

गौरतलब है कि रविवार को ताऊसर गांव के बंजारों की ढाणी में हाईकोर्ट के आदेश पर हटाए अतिक्रमण के मामले को लेकर सोमवार शाम को सांसद हनुमान बेनीवाल के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पर धरना-प्रदर्शन किया गया था. तीन घंटे तक चले धरने के दौरान बंजारा समाज के पुनर्वास, नुकसान का मुआवजा देने की मांग कलेक्टर के मार्फत सरकार को भेजी गई. नागौर SDM दिपांशु सांगवान पर मेड़ता व भोपालगढ़ विधायक ने धमकाने व जातिसूचक गालियां देने का आरोप लगाया था और इस बारे में मुकदमा दर्ज करने पर सोमवार देर शाम को सहमति बन गई थी. सहमति के बाद सांसद ने धरने के दौरान मीडिया से बातचीत में सहमति के बिंदुओं व आगे की रणनीति बताई. लेकिन जब दोनों विधायक कोतवाली थाने गए तो उन्हें मुकदमा दर्ज कराने के लिए 5 घंटे इंतजार करना पड़ा.

ये भी पढ़ें- नागौर: सांसद हनुमान बेनीवाल का प्रदर्शन, सरकार को दी चेतावनी

आर्मी का अफसर बताकर मुफ्त में रह रहा था होटल में, गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए नागौर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 27, 2019, 1:18 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...