होम /न्यूज /राजस्थान /सतीश पूनिया ने चला नया सियासी दांव, पूर्व CM वसुंधरा राजे के करीबी युनुस खान की बढ़ी मुश्किलें

सतीश पूनिया ने चला नया सियासी दांव, पूर्व CM वसुंधरा राजे के करीबी युनुस खान की बढ़ी मुश्किलें

राजस्थान के नागौर जिले में बुधवार को श्याम प्रताप रूवा ने कांग्रेस को छोड़कर भाजपा ज्वाइन कर ली.

राजस्थान के नागौर जिले में बुधवार को श्याम प्रताप रूवा ने कांग्रेस को छोड़कर भाजपा ज्वाइन कर ली.

Shyampratap Singh joined BJP: राजस्थान के नागौर जिले में बुधवार को कांग्रेस नेता श्याम प्रताप रूवा ने भाजपा ज्वाइन कर ल ...अधिक पढ़ें

नागौर. राजस्थान के नागौर जिले में बुधवार को कांग्रेस को झटका लगा है. पीसीसी सदस्य और पूर्व प्रवक्ता श्याम प्रताप रूवा ने बुधवार को कांग्रेस को अलविदा कहकर भाजपा का दामन थाम लिया. भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने भाजपा के प्रदेश कार्यालय में श्याम प्रताप को भाजपा की सदस्यता ग्रहण कराई. इस दौरान BJP प्रदेश कार्यालय का सभागार खचाखच भरा रहा.

यहां पर श्याम प्रताप को समारोह पूर्वक पार्टी में शामिल किया गया. भाजपा में आने के बाद माना जा रहा है कि नागौर जिले की डीडवाना विधानसभा सीट से दो बार के विधायक और वसुंधरा राजे सरकार के दोनों कार्यकाल में मंत्री रहे युनूस खान की मुश्किलें बढ़ गई हैं.

बसपा और कांग्रेस में रह चुके हैं श्यामप्रताप
बता दें कि श्याम प्रताप रूवा इससे पहले बसपा में भी रह चुके हैं. बसपा के बाद उन्होंने कांग्रेस पार्टी ज्वाइन की थी. इसके बाद अब वह भाजपा में शामिल हो गए हैं. श्याम प्रताप रूवां दो बार सरपंच रह चुके हैं. साथ ही एक बार डीडवाना से पंचायत समिति सदस्य का चुनाव भी जीत चुके हैं. श्याम प्रताप दोनों ही बार बसपा के टिकट से मैदान में उतरे थे.

2008 में उन्हें 17 हजार वोट मिले थे. वहीं 2013 के चुनावों में बीस हजार वोट उनके खाते में आए थे. 2018 के चुनाव से पहले वो कांग्रेस में चले गये और चुनाव में नहीं उतरे. श्याम प्रताप को सचिन पायलट का करीबी माना जाता था. पायलट ही उन्हें कांग्रेस में लेकर आए थे. कांग्रेस में दाल नहीं गल पाने के बाद वह अब भाजपा में आ गए हैं.

भाजपा के दिग्गज नेता और पूर्व मंत्री युनूस खान की बढ़ीं मुश्किलें
श्याम प्रताप के भाजपा ने भाजपा में शामिल होने के बाद कहा कि उन्होंने बिना शर्त पार्टी ज्वाइन की है. हालांकि अब यह चर्चा नागौर जोर पकड़ने लगी है कि क्या पार्टी पूर्व मंत्री युनुस खान को पूरी तरह साइडलाइन करने में जुटी है. युनुस दो बार डीडवाना से विधायक रह चुके हैं. साथ ही दोनों बार वसुंधरा सरकार में मंत्री रह चुके हैं. बुधवार को भाजपा कार्यालय में हुए इस समारोह के दौरान युनुस विरोधी लगभग सभी नेता मंच पर दिखाई दिए.

Tags: Nagaur News, Rajasthan news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें