इलाज के दौरान प्रसूता की मौत, शव रखकर प्रदर्शन दूसरे दिन भी जारी

अस्पताल के बाहर प्रसूता का शव रखकर परिजनों सहित ग्रामीण प्रदर्शन कर रहे हैं. मृतका के परिजन एएनएम के खिलाफ कार्रवाई और दस लाख रुपए की मांग कर रहे हैं.

Mahendra Bishnoi | ETV Rajasthan
Updated: March 14, 2018, 12:49 PM IST
इलाज के दौरान प्रसूता की मौत, शव रखकर प्रदर्शन दूसरे दिन भी जारी
Photo:etv/news18
Mahendra Bishnoi | ETV Rajasthan
Updated: March 14, 2018, 12:49 PM IST
नागौर जिले के टांकला गांव में प्रसूता की अस्पताल में मौत के मामले में प्रदर्शन दूसरे दिन भी जारी है. अस्पताल के बाहर प्रसूता का शव रखकर परिजनों सहित ग्रामीण प्रदर्शन कर रहे हैं. मृतका के परिजन एएनएम के खिलाफ कार्रवाई और दस लाख रुपए की मांग कर रहे हैं. खींवसर उपखंड प्रशासन और पुलिस की समझाइश के बावजूद मृतका के परिजन ग्रामीणों के साथ अस्पताल के बाहर शव रखकर बैठे हैं और प्रदर्शन कर रहे हैं. परिजनों का कहना है कि जिला कलेक्टर व एसपी मौके पर वार्ता के लिए आए और हमारी दोनों मांगों को माने तभी जाकर मौके से शव हटाया जाएगा.

मामले में मृतका के परिजनों का आरोप है कि टांकला निवासी प्रसुता जेतु देवी को प्रसव पीड़ा होने पर टांकला के उप स्वास्थ्य केंद्र पर ले जाया गया था जहां मौजूद एएनएम ने प्रसूता को गलत इंजेक्शन लगा दिया. जिससे प्रसूता तबीयत खराब हो गई. तबीयत ख़राब होने पर जब उसे नागौर जिला अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया.

टांकला उप-स्वास्थ्य केन्द्र पर बड़ी संख्या में लोग मौजूद है और पुलिस प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर प्रदर्शन कर रहे हैं. वहीं मृतका के परिजनों ने मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर