होम /न्यूज /राजस्थान /Nagaur: मिसाल...विधायक और सांसदों वाला काम कर रहे हैं नागौर के ये युवा

Nagaur: मिसाल...विधायक और सांसदों वाला काम कर रहे हैं नागौर के ये युवा

नागौर का भदाणा गांव जो पीर बाबा यानि घासीसिंह जी के नाम से जाना जाता है, यहां के युवाओं ने एक अनूठी पहल की है. 5 युवाओं ...अधिक पढ़ें

    रिपोर्ट: कृष्ण कुमार

    नागौर. राजस्थान के नागौर से 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित भदाणा गांव के युवाओं ने एक अनूठी पहल की है. युवाओं ने गांव के विकास कार्यों के लिए श्री पीर बाबा सेवा समिति का गठन किया है. इस समिति के माध्यम से वह गांव के विकास, शिक्षा समेत अन्य मूलभूत सुविधाओं की पूर्ति के लिए मदद कर रहे हैं.

    कैसे हुआ गठन

    पांच युवाओं की सोच से श्री पीर बाबा सेवा समिति का गठन हुआ. समिति का विचार कोरोना के बाद इन युवाओं को आया. यह समिति मई 2021 में अस्तित्व में आई. वर्तमान समय में इस समिति में 205 व्यक्ति जुड़े हुए हैं. समिति के सदस्य बनने के लिए हर व्यक्ति को महीने की आखिरी तारीख को 100 रुपये समिति में जमा कराने होते हैं.

    क्या है उद्देश्य

    श्री पीर बाबा समिति के अध्यक्ष तेजाराम सरवा ने बताया कि इस समिति का उद्देश्य गांव में जरूरतमंद लोगों की सहायता करना,गांव में पर्यावरण संरक्षण को बढ़ावा देना ,गांव के लिए मेडिकल सहायता वह गरीब बच्चों को शिक्षा दिलवाना है.

    अब तक 6 लाख के विकास कार्य कराए

    समिति के सचिव सुनील ने बताया कि अब तक गांव में समिति के माध्यम से 6 लाख से अधिक के विकास कार्य करवाए जा चुके हैं. जिसमें गांव के हर मोहल्ले में स्ट्रीट लाइटें, बैठने के लिए बेंच , पर्यावरण की रक्षा के लिए पौधारोपण और गांववासियों के लिए बगीचों का निर्माण करवाया गया है. वहीं पानी की समस्या दूर करने के लिए गांव में टंकी का निर्माण करवाया गया है. यह समिति केवल गांव के लिए कार्य करती है.

    शिक्षा व खेल को बढ़ावा देना

    समिति के अध्यक्ष तेजाराम सरवा का कहना है कि समिति के माध्यम से गांव में गरीब बच्चों को शिक्षा दिलवाना, स्कूलों में शिक्षा के संसाधनों की आपूर्ति करवाना, गांव के युवाओं को खेल भावना बढ़ाना और खेल को आगे बढ़ाने के लिए गांव में कई सारे टूर्नामेंट आयोजित करवाए जाते हैं.

    किसानों के लिए विशेष

    बारिश के दौरान जिन किसानों की फसल खराब हो गई थी उन किसानों को समिति के द्वारा मुआवजा दिया गया. जिन किसानों को खाद – बीज की आवश्यकता होती है, उन्हें यह समिति वितीय सहायता प्रदान करती हैं.

    Tags: Nagaur News, Rajasthan news in hindi

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें