Home /News /rajasthan /

7 माह की गर्भवती को क्लीनिक ने बताया HIV पॉजिटिव, परिवार के उड़े होश, फिर निकली निगेटिव

7 माह की गर्भवती को क्लीनिक ने बताया HIV पॉजिटिव, परिवार के उड़े होश, फिर निकली निगेटिव

Baran Latest news: बारां में एक प्राइवेट क्लीनिक द्वारा गर्भवती महिला की एचआईवी जांच में गड़बड़ी का मामला सामने आया है.

Baran Latest news: बारां में एक प्राइवेट क्लीनिक द्वारा गर्भवती महिला की एचआईवी जांच में गड़बड़ी का मामला सामने आया है.

Baran News: राजस्थान के बारां (Baran) में एक निजी क्लीनिक ने जांच के बाद 7 महीने की एक गर्भवती को पहले एचआईवी पॉजिटिव (HIV Positive)  बताया. फिर दोबारा जांच करने पर महिला की रिपोर्ट निगेटिव निकली. अब परिवार डॉक्टर और प्राइवेट क्लीनिक पर कार्रवाई की मांग की है.

अधिक पढ़ें ...

बारां. राजस्थान (Rajasthan) के बारां (Baran) जिले के अंता में एक निजी क्लीनिक ने पहले टेस्ट में सात माह की गर्भवती महिला की एचआईवी रिपोर्ट पॉजिटिव (HIV Positive) बताया. इसके बाद एड्स कंट्रोल रूम द्वारा महिला की जांच कराई गई. इस टेस्ट में महिला की रिपोर्ट नेगेटिव आई. दो अल-अलग रिपोर्ट आने से महिला का पूरा परिवार 20 दिनों तक सदमे में रहा. महिला के परिजन अब लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं. पीड़ित का परिवार डॉक्टर और उनके जांच पर कार्रवाई की मांग कर रहा है.

बारां जिले के अंता में निजी क्लिनिक की लापरवाही पूरे परिवार पड़ भारी पड़ गई. दरअसल अंता कस्बे में डॉ. अनीता जैन का एक निजी क्लीनिक है, जहां पर ही जांच घर भी चलाया जाता है. 20 अक्टूबर को मूण्डली भैरूजी गांव की निवासी 7 महीने की गर्भवती कविता गुर्जर डॉक्टर अनीता जैन को दिखाने उनके क्लीनिक गई थी, जहां पर ही उसकी जांच की गई. जांच में क्लीनिक द्वारा कविता को एचआईवी पॉजिटिव बता दिया गया. एचआईवी पॉजिटिव की बात सुन पूरे परिवार के होश उड़ गए.

दोबारा जांच में नेगेटिव निकली महिला

जांच के बाद से गर्भवती और उसका पूरा परिवार रोता रहा, पूरे परिवार की दिवाली भी रोते बिलखते निकली. इस दौरान कविता ने खुद को भी एक अलग कमरे में बंद कर लिया. इसके करीब 10 दिन बाद एड्स कंट्रोल रूम झालावाड़ से पीड़ित के मोबाइल नंबर पर कॉल आया जिन्होंने उसे दोबारा जांच कराने को कहा. दोबारा राजकीय बारां जिला में जांच कराने पर महिला की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई. इसके बाद 9 नवंबर को झालावाड़ एड्स कंट्रोल विभाग की टीम बारां पहुंची और अपनी निगरानी में पीड़िता और उसके पति का एचआईवी टेस्ट कराया, जो फिर से नेगेटिव आया.

ये भी पढ़ें: करौली-हिंडौन मार्ग पर अनियंत्रित कार नदी में गिरी, डॉक्टर की दुखद मौत

तब जाकर परिवार जनों को तसल्ली मिली. लेकिन इस दौरान करीब 20 दिनों तक परिवार बुरी तरह सदमे में रहा. अब पीड़ित परिवार के सदस्य अंता में डॉ. अनीता जैन और उसके निजी जांच घर पर कार्रवाई की मांग को लेकर जिला कलेक्टर और सीएमएचओ को ज्ञापन दिया है. पीड़ित का कहना है कि डॉक्टर कि जिस लापरवाही का दंश उनके परिवार ने झेला है, वह किसी और को न झेलना पड़े.

Tags: Aids, Baran news, HIV, Pregnant woman, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर