Home /News /rajasthan /

भेड़-बकरियां चराने वाला REET टॉपर्स में, जंगल में की रोजाना 12 घंटे पढ़ाई, पढ़ें प्रकाश देवासी की कहानी

भेड़-बकरियां चराने वाला REET टॉपर्स में, जंगल में की रोजाना 12 घंटे पढ़ाई, पढ़ें प्रकाश देवासी की कहानी

Prakash Dewasi success story: पाली जिले के छोटे से गांव बोयल (सोजत) में रहने वाले प्रकाश देवासी ने REET लेवल-1 में 146 अंक हासिल कर प्रदेश में छठा स्थान प्राप्त किया है.

Prakash Dewasi success story: पाली जिले के छोटे से गांव बोयल (सोजत) में रहने वाले प्रकाश देवासी ने REET लेवल-1 में 146 अंक हासिल कर प्रदेश में छठा स्थान प्राप्त किया है.

REET Exam Results 2021 : राजस्थान की धरा पर कई परीक्षाओं में गुदड़ी के लाल आश्चर्यजनक प्रदर्शन कर टॉप रेंक में जगह बनाते हैं. अपेक्षाकृत कम संसाधनों और अभावों के बीच पलकर ये अपनी मेहनत के सपने साकार करते हैं. पाली जिले के एक छोटे से गांव बोयल (सोजत) के प्रकाश देवासी (Prakash Dewasi) ने रीट परीक्षा लेवल 1 में अपनी प्रतिभा का उजाला फैलाया है.

अधिक पढ़ें ...

    पाली. पाली जिले के छोटे से गांव बोयल (सोजत) में रहने वाले प्रकाश देवासी ने कम संसाधनों और अभावों के बीच अपनी मेहनत से असाधारण प्रदर्शन किया. प्रकाश भेड़-बकरियों को चराने जाने के दौरान भी जंगल में किताब साथ लेकर जाते थे और अपनी मेहनत से REET लेवल-1 में 146 अंक हासिल कर प्रदेश में छठा स्थान प्राप्त किया है. प्रकाश ने बताया कि वे रोजाना करीब 12 घंटे पढ़ाई करते थे. उनका ज्यादा के ज्यादा अंक लाने का था, लेकिन प्रदेश में छठा स्थान मिलेगा, यह उन्होंने कभी नहीं सोचा था. प्रकाश ने कहा कि प्रदेश में छठी रैंक आना उनके लिए दिवाली बोनस जैसा है.

    प्रकाश पिछले तीन-चार साल से कॉम्पिटिशन की तैयारी में जुटा था. खासकर लॉकडाउन को उसने अवसर में तब्दील कर दिया और इसमें जमकर तैयारी की. पिता की मदद के लिए भेड़-बकरियों को चराने के लिए जंगल में लेकर चला जाता. इस दौरान अपनी किताबें भी साथ रखता. प्रकाश ने कहा, जंगल के शांत माहौल में पढ़ाई करने का अलग ही आनंद था.

    नियमित रूप से सिर्फ पढ़ाई पर फोकस किया
    तीन भाई-बहनों में सबसे छोटे प्रकाश ने कहा कि पुराने पेपर देखकर तैयारी की, जिससे समझ में आ गया कि किस तरह के प्रश्न परीक्षा में आएंगे. इसके साथ ही जयपुर जाकर कोचिंग भी की. उन्होंने कहा कि किसी भी लक्ष्य को पूरा करने या सफलता प्राप्त करने के लिए जरूरी है कि सब कुछ छोड़कर लक्ष्य निर्धारित करते हुए नियमित रूप से सिर्फ पढ़ाई पर फोकस किया जाए.

    एमए तक की पढ़ाइ, सफलता का श्रेय मां को
    प्रकाश ने कहा कि उनका सपना IAS अधिकारी बनने का है. REET में सफलता प्राप्त करने का पूरा श्रेय मां पप्पूदेवी को है. उसने बताया कि पिता भेराराम देवासी को एलर्जी की समस्या है. ऐसे में गर्मी और बारिश के मौसम में वे भेड़-बकरियों के बीच नहीं जा पाते. सारा काम मां ही संभालती हैं. मां ने ही घर संभालते हुए पढ़ाई जारी रखने का हौसला दिया. उन्होंने बताया कि वर्ष 2020 में उन्होंने M.A. तक की पढ़ाई की.

    Tags: Pali news, Rajasthan news, Rajasthan news in hindi, REET exam

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर