Home /News /rajasthan /

फर्जी आयकर अधिकारी बन साले ने अपने साथियों के साथ जीजा को लगाया 2.30 लाख का चूना, फिर जो हुआ...

फर्जी आयकर अधिकारी बन साले ने अपने साथियों के साथ जीजा को लगाया 2.30 लाख का चूना, फिर जो हुआ...


दिनदहाड़े हुई इस घटना से लोग हैरान हैं.

दिनदहाड़े हुई इस घटना से लोग हैरान हैं.

पाली (pali) के जैतारण (Jaitaran) में व्यापारी के साथ ठगी करने के मामले में रिश्‍ते के साले समेत पांच बदमाश गिरफ्तार हुए हैं. इन लोगों ने फर्जी आयकर अधिकारी बनकर आयकर बकाया होने और जांच पड़ताल के नाम पर व्‍यापारी को 2 लाख 30 हजार रुपये का चूना लगा दिया था, लेकिन पुलिस ने उन्‍हें दबोच लिया.

अधिक पढ़ें ...
पाली. राजस्‍थान के पाली (pali) के जैतारण में व्यापारी के साथ ठगी का एक अनोखा मामला सामने आया है. दरअसल व्यापारी को उसके रिश्ते के साले सहित 5 बदमाश ने आयकर अधिकारी बनकर आयकर बकाया होने और जांच पड़ताल के नाम पर 2 लाख 30 हजार रुपये का चूना लगा दिया. हालांकि सरपंच और पुलिस (Police) की सूझबूझ से बदमाश फरार होने में सफल नहीं हो सके, लेकिन इस घटना को लेकर लोग हैरान हैं.

बता दें कि करीब दोपहर 1 बजे बिजली घर चौराहा जैतारण में हार्डवेयर एंड इलेक्ट्रिकल्स की दुकान की है. यहां 5 लोग खुद आयकर अधिकारी बनकर रविंद्र कुमावत की दुकान पर पहुंचे और उन्‍होंने कुमावत को दुकान का रिकॉर्ड दिखाने को कहा.

फर्जी आयकर अधिकारी ने ऐसे फंसाया
फर्जी आयकर अधिकारी आरोपी सरवन कुमावत ने न सिर्फ दुकान का हिसाब-किताब देखने का नाटक किया बल्कि 3 महीने पहले व्यापारी बेंगलुरु पहुंचा था इसकी पूरी जानकारी दी. इसके साथ यह भी कहा कि आप हवाई यात्रा से बेंगलुरु पहुंचे थे. कितनी तारीख को वहां पर पहुंचे और वहां इतने दिन रुके और वापस निकले. यही नहीं, आरोपी ने व्यापारी को हवाई टिकट दिखाया तो वह एक बार हड़बड़ा गया. इसके अलावा बदमाशों ने हवाई यात्रा समेत विभिन्न जानकारी आयकर रिटर्न फाइल में दिखाने की बात कही. वहीं, दुकान की तलाशी के दौरान दो लाख 30 हजार रुपये जब्त करते हुए आरोपियों ने दुकानदार को जयपुर ले जाने की बात कहकर डराया दिया.

ऐसे खुली पोल
व्यापारी ने तुरंत निंबोल सरपंच अशोक कुमार को फोन कर इस घटना की पूरी जानकारी दी. जबकि सरपंच ने उनको दुकान पर रुकने को कहा, लेकिन आरोपी वहां से निकल गए. इस दौरान व्यापारी ने शक होने पर निंबोल सरपंच को बदमाशों के बर की तरफ निकलने की जानकारी दी. फिर सरपंच ने बर चौकी प्रभारी राज दीपेंद्र सिंह को जानकारी दी. चौकी प्रभारी ने सजगता से कार्रवाई करते हुए आरोपियों को बर में ही पकड़ लिया और चौकी ले जाकर पूछताछ शुरू की. इस दौरान पता चला कि आरोपी तीन महीने से व्‍यापारी रेकी कर रहा था. यही नहीं, पुलिस को आरोपियों से ओर भी कई राज खुलने की संभावना है. वैसे सभी आरोपी सायरन लगी कार कार के सहारे भागने की फिराक में थे, लेकिन पुलिस ने दबोच लिया.

Tags: Income tax, Income tax department, Pali news, Rajasthan news, Rajasthan police

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर