लाइव टीवी

प्रतापगढ़ में बीजेपी नेता की गोली मारकर हत्या, परिजनों ने अभी तक नहीं लिया शव

News18 Rajasthan
Updated: November 4, 2018, 10:23 AM IST
प्रतापगढ़ में बीजेपी नेता की गोली मारकर हत्या, परिजनों ने अभी तक नहीं लिया शव
हत्या का शिकार हुआ समरथ कुमावत। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

प्रतापगढ़ में शनिवार को बीजेपी ओबीसी प्रकोष्ठ प्रतापगढ़ ग्रामीण मंडल के उपाध्यक्ष समरथ कुमावत का धारदार हथियार से गला रेतकर गोली मार दी गई. हत्या के बाद इलाके में तनाव फैल गया.

  • Share this:
प्रतापगढ़ में शनिवार को बीजेपी ओबीसी प्रकोष्ठ प्रतापगढ़ ग्रामीण मंडल के उपाध्यक्ष समरथ कुमावत का धारदार हथियार से गला रेतकर गोली मार दी गई. हत्या के बाद इलाके में तनाव फैल गया. ग्रामीण शव को लेकर मौके पर ही बैठ गए. तनाव की स्थिति को देखते हुए वहां भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया. पुलिस व प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी भी मौके पहुंचे.

देर शाम शव को वहां उठवाकर जिला अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया. वहां रविवार को सुबह शव का पोस्टमार्टम करवाया गया. लेकिन परिजनों व ग्रामीणों ने अभी तक शव को नहीं लिया है. उनकी मांग है कि पहले आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए. आक्रोशित ग्रामीणों ने जिला अस्पताल के सामने नेशनल हाइवे को जाम कर रखा है. मौके पर हजारों की संख्या में ग्रामीण मौजूद हैं.  पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है, लेकिन अभी तक उनका कोई सुराग नहीं लग पाया है.

जानकारी के अनुसार वारदात प्रतापगढ़ कोतवाली थाना इलाके में सुबह करीब 11.30 बजे हुई. वहां आपसी रंजिश के चलते संचयी गांव निवासी समरथ कुमावत की प्रतापगढ़-झासड़ी मार्ग पर तीन लोगों ने मिलकर हत्या कर दी. हमलावरों ने पहले समरथ का धारदार हथियार से गला रेता और फिर गोली मारी, जिससे उनकी मौके पर ही उसकी मौत हो गई. वारदात के बाद हमलावर वहां से फरार हो गए. समरथ को आपसी रंजिश के चलते दो दिन पहले ही जान से मारने की धमकी मिली बताई जा रही है.

आसपास के क्षेत्र में फैला तनाव

वारदात की सूचना पर घटनास्थल पर आसपास के लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई. मृतक के परिजन व ग्रामीण शव को वहीं रखकर बैठ गए. इससे आसपास के इलाके में तनाव फैल गया. सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची. लेकिन तब तक भीड़ इतनी ज्यादा हो गई पुलिस के हाथ पांव फूल गए. बाद में और पुलिस जाब्ता मंगवाया गया.

एडीएम व एएसपी पहुंचे मौके पर
ग्रामीण अारोपियों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग को लेकर देर शाम तक शव को मौके पर ही लेकर बैठे रहे हैं. परिजन और ग्रामीण इस मामले में अखैपुर निवासी एक व्यक्ति पर हत्या का आरोप लगा रहे हैं. मौके पर तनाव के हालात की सूचना पर अतिरिक्त जिला कलक्टर व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक भी पहुंचे और भीड़ को समझाने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीण अपनी मांग पर डटे हुए हैं. बाद में पुलिस व प्रशासन की समझाइश पर देर शाम शव को वहां से उठवाया गया. मृतक का बड़ा भाई शांतिलाल कुमावत भी पहले उपसरपंच रहा चुका है.
Loading...

(रिपोर्ट: अशोक शर्मा)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए प्रतापगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 3, 2018, 3:47 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...