लाइव टीवी

मंदसौर के बाद किसान आंदोलन की आग राजस्थान तक पहुंची, सरकार को दिया अल्टीमेटम

ETV Rajasthan
Updated: June 6, 2017, 11:01 PM IST
मंदसौर के बाद किसान आंदोलन की आग राजस्थान तक पहुंची, सरकार को दिया अल्टीमेटम
फोटो-(ईटीवी)

मध्यप्रदेश के मंदसौर जिले में उग्र हुए किसान आंदोलन की आग अब प्रतापगढ़ तक पहुंच गई है. मंगलवार को किसानों ने दूध-सब्जियां फेंक अपना विरोध जताया, तो वहीं कृषि मंडी में एक बड़ी बैठक का आयोजन भी हुआ.

  • Share this:
मध्य प्रदेश के मंदसौर जिले में उग्र हुए किसान आंदोलन की आग अब राजस्थान तक पहुंच गई है. यहां प्रतापगढ़ में मंगलवार को किसानों ने दूध-सब्जियां फेंक अपना विरोध जताया, तो वहीं कृषि मंडी में एक बड़ी बैठक का आयोजन भी हुआ.

प्रतापगढ़ जिले में शुरू हुए किसान आंदोलन के तहत किसानों ने जमकर दूध बहाया. कई जगह तो दूध के टैंकर के टैंकर खाली कर सड़क पर नदियां बहा दी गईं. ऐसे ही सब्जियां सड़क पर फेंक किसानों ने प्रदर्शन भी किया.

इस आंदोलन के चलते आम जनजीवन पूरी तरह बदहाल हो चला है. बाजार में सब्जियां और दूध गायब हो गए हैं. रोजमर्रा की जिंदगी बुरी तरह चरमरा गई है. अब तो लोग भी कहने लगे हैं कि सरकार इस आंदोलन का कोई हल निकाले.

किसानों की मांग है कि उपज का समर्थन मूल्य लागत से ज्यादा हो, बीमा कंपनियां समय पर क्लेम पास करें और अटके हुए मुआवजे जल्द मिलें. किसानों की चेतावनी है कि 10 तारीख तक मांगें नहीं मानी गईं तो आंदोलन उग्र होगा. आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक सरकार मांगें पूरी नहीं करती.

आपको बता दें कि मध्यप्रदेश मे किसानों का आंदोलन हिंसक हो गया है. राज्य के मंदसौर जिले में प्रदर्शन कर रहे किसानों पर पुलिस ने फायरिंग कर दी, जिसमें पांच किसानों की गोली लगने से मौत हो गई.

जानकारी के अनुसार, जिले के पिपलिया में हजारों किसान सड़क पर उतर कर प्रदर्शन कर रहे थे. इस दौरान कुछ ट्रकों में आग लगाने की कोशिश भी की गई. हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस ने फायरिंग कर दी.

बताया जा रहा है कि गोली लगने से पांच किसान घायल हो गए, जिनमें से तीन किसानों ने अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया. वहीं, दो अन्य की इंदौर ले जाते वक्त रास्ते में मौत हो गई

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए प्रतापगढ़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 6, 2017, 6:54 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर