होम /न्यूज /राजस्थान /पुष्कर का होगा कायाकल्प, टूरिस्ट-विलेज, यात्री निवास; जानिए 500 करोड़ से कैसे संवरेगी धर्मनगरी

पुष्कर का होगा कायाकल्प, टूरिस्ट-विलेज, यात्री निवास; जानिए 500 करोड़ से कैसे संवरेगी धर्मनगरी

राजस्थान की धर्मनगरी पुष्कर के कायाकल्प के लिए RTDC ने 500 करोड़ की विकास योजना पर काम शुरू करने को लेकर बैठक की.

राजस्थान की धर्मनगरी पुष्कर के कायाकल्प के लिए RTDC ने 500 करोड़ की विकास योजना पर काम शुरू करने को लेकर बैठक की.

Pushkar Development Project: काशी विश्वनाथ कॉरिडोर और श्री महाकाल लोक के बाद अब राजस्थान के पुष्कर में धार्मिक पर्यटन ब ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट – महिमा जैन

पुष्कर. उत्तर प्रदेश के काशी विश्वनाथ कॉरिडोर और मध्य प्रदेश के महाकाल-लोक की तर्ज पर अब राजस्थान की धर्मनगरी पुष्कर का भी कायाकल्प होने जा रहा है. राजे-रजवाड़ों के प्रदेश का यह प्रमुख तीर्थस्थल भी विकास की उड़ान भरने को तैयार है. राजस्थान पर्यटन विकास निगम (RTDC) ने भगवान ब्रह्मदेव की नगरी के रूप में मशहूर पुष्कर को टूरिस्ट-फ्रेंडली बनाने की योजना को अमल में लाने की तरफ कदम बढ़ा दिया है. सरोवर नगरी के विकास के लिए 500 करोड़ रुपए से अधिक की योजना को जमीन पर अमल में लाया जाएगा.

बीते दिनों प्रदेश के स्वायत्त शासन मंत्री शांतिलाल धारीवाल की अध्यक्षता में पुष्कर के विकास को लेकर समीक्षा बैठक हुई. इसमें आरटीडीसी के अध्यक्ष और राज्य के मंत्री धर्मेंद्र राठौड़ भी मौजूद थे. बैठक में पुष्कर में पर्यटन को बढ़ावा देने, पुष्कर के विकास एवं सौंदर्यीकरण, 24 कोस परिक्रमा को सुगम एवं सरल बनाने के लिए 500 करोड़ से अधिक के विकास कार्य पर चर्चा की गई.

क्या-क्या होंगे काम

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार पुष्कर के 52 घाटों में भगवान ब्रह्मा समाहित हैं. माना जाता है कि अगर चार धाम की यात्रा कर पुष्कर में आकर स्नान नहीं किया तो यात्रा पूरी नहीं होती. ऐसे में पुष्कर में गंदा पानी एक बड़ी समस्या है. समीक्षा बैठक में पुष्कर सरोवर में गंदे पानी की आवक को रोकने के लिए पर्याप्त बजट रखने पर सहमति बनी. साथ ही यहां पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए 400 सीटर ऑडिटोरियम का निर्माण, डेस्टिनेशन मैरिज को बढ़ावा देने के लिए 100 कमरों का पुष्कर यात्री निवास का निर्माण,  नगर पालिका के सभी वार्डों में आंतरिक सीसी सड़क एवं इंटरलॉकिंग, सभी वार्डों में नाली एवं नाला निर्माण, स्ट्रीट लाइट के लिए अंडरग्राउंड केबल एवं पोल लगाने का काम भी होगा.

इसके अलावा प्रवेश द्वारों का सौदर्यीकरण, घर-घर कचरा संग्रहण के लिए 18 ऑटो टीपर 20 पर एवं 2 लिफ्टर खरीदने का प्रस्ताव रखा गया. भूमिगत कचरा पात्र के रखरखाव एवं निस्तारण के लिए क्रेन, 24 कोसी परिक्रमा मार्ग को गोवर्धन परिक्रमा की तरह एवं सुविधाजनक बनाने को विभिन्न विकास कार्य, घाटों पर नए चेंजिंग रूम का  निर्माण, पुष्कर मेला ग्राउंड, टूरिस्ट विलेज का सौंदर्यीकरण, घाटों पर विरोधी सीढ़ियों का निर्माण सभी घाटों का एक समान रंग रोगन सहित कई प्रस्ताव पर चर्चा की गई. निगम अध्यक्ष राठौड़ ने बताया कि पर्यटन को बढ़ावा देने विकास एवं सौंदर्यीकरण करने के लिए 500 करोड़ से अधिक  की लागत के प्रस्ताव पर चर्चा की गई.

Tags: Ajmer news, Rajasthan Tourism Department

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें