Rajasthan Budget 2021: राजस्थान की गहलोत सरकार में गांधी परिवार के नाम पर आधा दर्जन से अधिक योजनाएं शुरू करने की घोषणा

राजस्थान सरकार ने गांधी परिवार के नाम पर आधा दर्जन से अधिक योजनाएं शुरू करने की घोषणा की है.

राजस्थान सरकार ने गांधी परिवार के नाम पर आधा दर्जन से अधिक योजनाएं शुरू करने की घोषणा की है.

राजस्थान (Rajasthan) की अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार ने अपने बजट (Budget) में आधा दर्जन से अधिक योजनाओं का नाम गांधी परिवार (Gandhi Pariwar) के नाम पर रखा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 5:10 PM IST
  • Share this:
जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने अपने कार्यकाल का तीसरा बजट (Budget) विधानसभा में पेश कर दिया है. मुख्यमंत्री ने बजट की बड़ी योजनाओं के आधा दर्जन से अधिक नाम गांधी परिवार के नाम पर रखे हैं. हालांकि यह कोई नई बात नहीं है. राज्य में सरकार बदलने के साथ ही योजनाओं और भवनों के नाम भी बदल जाते हैं. हालांकि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने 4 दिवंगत विधायकों के नाम पर कन्या महाविद्यालय (Girls college) खोलने की घोषणा की है.

इनमें से किरण माहेश्वरी बीजेपी से विधायक थीं,  मुख्यमंत्री ने भाजपा के पूर्व विधायक दिवंगत गुरुशरण छाबड़ा के नाम से मद संयम हेतु जन जागरूकता अभियान चलाने की भी घोषणा की है. इसके लिए आगामी वित्तीय वर्ष में 5 करोड़ का प्रावधान भी प्रस्तावित किया है. पदमश्री कैलाश सांखला स्मृति वन स्थापित करने की घोषणा की है.

इन योजनाओं के नाम गांधी परिवार के नाम पर रखे 

इंदिरा गांधी क्रेडिट कार्ड योजना, महात्मा गांधी संस्थान और गांधी दर्शन म्यूजियम बनाए जाने की घोषणा, आयुष्मान भारत- महात्मा गांधी राजस्थान स्वास्थ्य बीमा योजना, महात्मा गांधी इंस्टिट्यूट ऑफ़ गवर्नेंस एंड सोशल साइंसेज स्थापित करने की घोषणा. जयपुर में 200 करोड़ की लागत से राजीव गांधी सेंटर ऑफ एडवांस टेक्नोलॉजी स्थापित करने की घोषणा.
Rajasthan Budget 2021: CM अशोक गहलोत बोले- यह जनकल्याणकारी बजट है, हमने कोई नया टैक्स नहीं लगाया

राजस्थान में राजीव गांधी युवा कोर का गठन प्रस्तावित है. इसमें 500 राजीव गांधी युवा मित्रों का चयन किया जाएगा. सभी गांवों में करीब 50,000 महिला और पुरुष राजीव गांधी युवा बनाए जाएंगे. बच्चों में नशे की प्रवृत्ति रोकने के लिए नेहरू बाल संरक्षण कोष की स्थापना की जाएगी. इसके तहत संभाग मुख्यालय पर समेकित बाल पुनर्वास केंद्रों की स्थापना की जाएगी. महिलाओं की समस्याओं के समाधान के लिए जिला मुख्यालय पर इंदिरा महिला शक्ति केंद्रों की स्थापना की जाएगी.

सरकार बदलने के साथ बदल जाते हैं योजनाओं के नाम



राजस्थान में सरकार बदलने के साथ ही विभिन्न योजनाओं के नाम बदलने की प्रक्रिया  शुरू हो जाती है. पिछली वसुंधरा सरकार ने जिले की प्रत्येक ग्राम पंचायत पर स्थित राजीव गांधी सेवा केंद्रों का नाम बदलकर अटल सेवा केंद्र कर दिया था. इसके बाद सत्ता परिवर्तन होते ही गहलोत सरकार ने अटल सेवा केंद्र का नाम बदलकर फिर से राजीव गांधी सेवा केंद्र कर दिया. वर्ष 2012 में पूर्ववर्ती गहलोत सरकार ने राजीव गांधी सेवा केन्द्रों की स्थापना की थी. इसके बाद वर्ष 2014 में भाजपा सरकार ने इनका नाम बदलकर अटल सेवा केन्द्र कर दिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज