होम /न्यूज /राजस्थान /

Rajasthan: 2 साल बाद राजभवन में होगी हलचल, 15 अगस्त को एटहोम का आयोजन, कोरोना के चलते था बंद

Rajasthan: 2 साल बाद राजभवन में होगी हलचल, 15 अगस्त को एटहोम का आयोजन, कोरोना के चलते था बंद

राजभवन में एटहोम की तैयारियां जोऱ शोर से शुरू हो गई है.

राजभवन में एटहोम की तैयारियां जोऱ शोर से शुरू हो गई है.

जैसे ही आजादी के जश्न का दिन 15 अगस्त नजदीक आता जा रहा है वैसे ही राजस्थान समेत देशभर में उल्लास दिख रहा है. कोरोना महामारी के चलते 2 सालों से बंद पड़े एटहोम की तैयारियां भी इस बार जोरों पर हैं. राजभवन में होने वाले एटहोम की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं. एटहोम के आयोजन में मुख्यमंत्री समेत मंत्री मड़ल के सदस्य, राज्य विधानसभा के सदस्य, नेता प्रतिपक्ष, पूर्व मुख्यमंत्री, सांसद समेत अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ में आला प्रशासनिक-पुलिस के अधिकारी, सैन्य अधिकारी, स्वतंत्रता सेनानियों के साथ में शहर के विभिन्न संवर्गों के प्रबुद्धजन एटहोम के आयोजन में शामिल होते है.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. देश और प्रदेश कोरोना की विभिषिका से बाहर निकल आया है और इस बार राजभवन में 15 अगस्त पर एट होम का आयोजन किया जा रहा है. राजभवन में एटहोम की तैयारियां जोऱ शोर से शुरू हो गई है. राजस्थान के इतिहास में सम्भवतः पहली बार ऐसा हुआ कि जब साल 2020 में स्वाधीनता दिवस उसके बाद 2021 के गणतंत्र दिवस और फिर 2021 के स्वाधीनता दिवस और इस साल के गणतंत्र दिवस यानी 26 जनवरी को एटहोम का आयोजन नहीं हुआ था. राज्यपाल कलराज मिश्र ने साल 2020 के स्वाधीनता दिवस के मौके पर पहली बार कोविड 19 के संक्रमण को देखते हुए एटहोम के आयोजन को रद्द कर दिया था.

स्वाधीनता दिवस पर आयोजित होगा राजभवन में एटहोम

कोविड के चलते पिछले चार बार से स्वाधीनता दिवस पर गणतंत्र दिवस की संध्या पर राजभवन में होने वाले एटहोम का आयोजन नहीं हो सका था. लेकिन इस बार कोविड 19 का काबू पाने के बाद परिस्थितियां अनुकूल होने पर आयोजन किया जा रहा है. हालांकि इस बार हो रहे एटहोम में कोविड 19 की पालना करवाई जाएगी. राजभवन के एटहोम में बुलाने के निमंत्रण पत्र पर मॉस्क लगाकर आने की बात लिखी होगी. मिली जानकारी के हिसाब से एटहोम के आयोजन में आगन्तुकों की संख्या समिति ही रहेगी.

सीएम समेत कई अधिकारी होंगे शामिल

दो साल बाद हो रहे राजभवन के पीछे के लॉन में आयोजित हो रहे एटहोम के आयोजन में मुख्यमंत्री समेत मंत्री मड़ल के सदस्य, राज्य विधानसभा के सदस्य, नेता प्रतिपक्ष, पूर्व मुख्यमंत्री, सांसद समेत अन्य जनप्रतिनिधियों के साथ में आला प्रशासनिक-पुलिस के अधिकारी, सैन्य अधिकारी, स्वतंत्रता सेनानियों के साथ में शहर के विभिन्न संवर्गों के प्रबुद्धजन एटहोम के आयोजन में शामिल होते है. राज्यपाल और मुख्यमंत्री स्वाधीनता समारोह में सम्मानित होने वालों के साथ फोटो सैशन भी होता है और आगन्तुकों से मुलाकात होती है.

Tags: Jaipur news, Rajasthan news

अगली ख़बर