लाइव टीवी

सड़क सुरक्षा की परिस्थिति सुधारने के लिए राजस्थान राज्य सरकार का प्रयास

News18Hindi
Updated: October 9, 2019, 5:56 PM IST
सड़क सुरक्षा की परिस्थिति सुधारने के लिए राजस्थान राज्य सरकार का प्रयास
दुर्घटनाओं को कम करने के लिए राजस्थान सरकार ने बहुत सी पहल की हैं, जिससे आज के युवाओं में काफी बदलाव आया है.

दुर्घटनाओं को कम करने के लिए राजस्थान सरकार ने बहुत सी पहल की हैं, जिससे आज के युवाओं में काफी बदलाव आया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 9, 2019, 5:56 PM IST
  • Share this:
सड़क सुरक्षा एक आम और महत्वपूर्ण विषय है. आम जनता और खासतौर पर यूवकों में अधिक जागरूकता लाने के लिए शिक्षा, सामाजिक जागरूकता आदि जैसे विभिन्न क्षेत्रों से जोड़ा गया है . सड़क पर परिवहन, यात्रा और यातायात करते समय, सड़क सुरक्षा सर्वोपरि है. शराब पीकर गाड़ी चलाना या मौजमस्ती करते हूए गाड़ी चलाना खतरनाक हो सकता है. आंकड़ों के मुताबित सड़क दुर्घटनाओं में राजस्थान पांचवे स्थान पर है. हमें सुरक्षित रखने के लिए,पुलिस, सड़क परिवहन संगठन और ऐसे कई संगठन लो गों में जागरूकता लाने के लिए मुहिम चलाते हैं. सभी को यातायत नियमों की अच्छी जनकारी होनी चहिए . विशेषज्ञ बताते है कि अस्पतालो में ज्यादातर मौतें सड़क दूर्घटना में घायल हुए लोगों की होती है.

राजस्थान की बात करें तो सड़क दुर्घटना की टॉप 5 लिस्ट में इस राज्य का नाम आता है. राज्य सरकार इस बात को ध्यान में रखकर परिस्थिति सुधारने की पूरी कोशिश कर रही है. मेडिकल इमरजेंसी से लेकर सड़क के नियमों का सही पालन सुनिश्चित करने के लिए राज्य सरकार कई सारी सुविधा लेकर आई है, जिनमें ऐसे कैमरे भी शामिल हैं जो गाड़ियों की नंबर प्लेट तक रीड कर सकते है.

सड़क सुरक्षा का पूरा ज़िम्मा ट्रैफिक पुलिस के कंधो पर होता है. हमारी ट्रैफिक पुलिस सुबह से रात तक ट्रैफिक की देखरेख करती है ताकि हम सभी सुरक्षित अपने घर पहुंच सकें. साथ ही रोड सेफ़्टी वीक जैसी कई मुहिमों के साथ वे लोगो कों ट्रैफिक नियमों से परिचित भी करवाते हैं. लेकिन, कई बार हम नियमों का पालन नहीं करते और सिग्नल तोड़ते हैं जिसके दंडस्वरूप उनका चलान काटा जाता है लेकिन हम ट्रैफिक पुलिस के साथ बुरा व्यवहार करके बच निकलते हैं जो कानून के खिलाफ है. सड़क पर परिवहन, यात्रा या चलते समय हमें अपना और बाकी लोगों का भी खयाल रखना चाहिये. दुर्घटनाओं को कम करने के लिए सरकार ने बहुत सी पहल जारी की है, जिससे आज के युवाओं में काफी बदलाव आया है. यदि हम सभी नियमों का पालन करें और यात्रा के समय फोन पर बात ना करें तो दुर्घटना कम होगी. गाड़ी चलाते समय फोन पर बात करना भी एक बड़ा कारण है, जिससे कई लोगों की मौत होती है.

हम सभी जिम्मेदार नागरिक बनकर और नियमों के अनुसार चलकर अपनी जिंदगी बचा सकते हैं क्योंकि हम से ही हमारा परिवार है. यात्रा के दौरान अपना सीट बेल्ट जरूर बांधे और परिवहन से पहले अपनी गाड़ी की अच्छी तरह सर्विसिंग करा लें. यात्रा पर निकलने से पहले ध्यान रखें कि घर पर आपका परिवार आपका इंतजार कर रहा है, इसीलिए सुरक्षित और मंगलमय यातायात करें.

सड़क सुरक्षा के नियमों का हमेशा पालन करना आपके साथ-साथ दूसरों की सलामती के लिए भी महत्वपूर्ण है. #RoadtosafetyPledge पहल का हिस्सा बनने के लिए यहां क्लिक करें (https://www.firstpost.com/diageoroadtosafety/)#JoinThePack और कभी भी #DrinkandDrive ना करने की कसम खाएं.

सड़क सुरक्षा को और मजबूत बनाने के विषय पर चर्चा के लिए पैनल पर मौजूद हैं आबकारी विभाग से आईएएस एडिशनल कमिश्नर मातादीन शर्मा, डिप्टी ट्रांसपोर्ट कमिश्नर निधि सिंह, राहुल प्रकाश डीसीपी राहुल प्रकाश, Diageo India के सीओओ जगबीर सिंह सिद्धू और कार्यक्रम के एंकर हैं भंवर पुष्पेंद्र चौहान.


Loading...

(पार्टनर्ड कंटेंट)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 5:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...