लाइव टीवी
Elec-widget

Rajasthan Local Body Election Result: सात दिन तक इसलिए होगी पार्षदों की खातिरदारी और पहरेदारी!

News18Hindi
Updated: November 19, 2019, 2:06 PM IST
Rajasthan Local Body Election Result: सात दिन तक इसलिए होगी पार्षदों की खातिरदारी और पहरेदारी!
बीजेपी और कांग्रेस ने अपने-अपने पार्षदों की बाड़ेबंदी कर दी है. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

Local Body Election Result 2019 Live: 26 नवंबर को चुने हुए पार्षद चुनेंगे मेयर और सभापति, तब तक बीजेपी (BJP) और कांग्रेस (Congress) दोनों को अपने पार्षद दूसरी पार्टियों की सेंधमारी से बचाना बड़ी चुनौती. इसलिए पार्षदों की खातिरदारी और पहरेदारी दोनों है जारी

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 19, 2019, 2:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजस्थान निकाय चुनाव (Rajasthan Nikay Chunav) के पहले चरण के आज मंगलवार को परिणाम आ रहे हैं. कुल 196 में से 49 निकायों के लिए हुए चुनाव में कांग्रेस (Congress) का पलड़ा भारी दिख रहा है. उससे भी भारी पलड़ा है जीतने वाले पार्षदों का. जिन्हें उनकी पार्टियों की ओर से खास निगरानी में रखने का इंतजाम है. उनकी वैसी ही खातिरदारी और पहरेदारी हो रही है जैसे विधानसभा चुनाव (Assembly election) में नंबर कम आने पर विधायकों की होती है. ऐसा इसलिए हो रहा है कि क्योंकि यहां पर मेयर और सभापति डायरेक्ट (Mayor election) नहीं चुने जाएंगे. जनता द्वारा चुने हुए पार्षद मेयर और सभापति चुनेंगे. इसलिए बीजेपी और कांग्रेस ने अपने-अपने पार्षदों की बाड़ेबंदी कर दी है.

पहले चरण में जिन 49 निकायों के चुनाव हो रहे हैं उनमें से उदयपुर, बीकानेर और भरतपुर नगर निगम हैं. जबकि 16 नगर परिषद और 30 नगर पालिकाएं हैं. कांग्रेस, बीजेपी, बसपा और सीपीआई ने सिंबल पर प्रत्याशी उतारे हैं. लेकिन मुख्य मुकाबला बीजेपी, कांग्रेस के बीच ही है. बीकानेर नगर निगम में बीजेपी (BJP) ने चुनाव लड़ने वाले 79 में से 74 प्रत्याशियों को अपनी निगरानी में ले लिया है. यहां 80 वार्ड हैं.  जबकि उदयपुर के 70 वार्डों के अपने प्रत्याशियों को बीजेपी ने राज्य के पूर्व गृह मंत्री गुलाबचंद कटारिया को एक रखने की जिम्मेदारी दी है. बताया जाता है कि भरतपुर के 64 वार्डों के अपने प्रत्याशियों को पार्टी ने वृंदावन-मथुरा शिफ्ट कर लिया था.

राजस्थान निकाय चुनाव, Rajasthan Nikay Chunav, बीजेपी, BJP, Rajasthan Local Body Election Result 2019 Live, राजस्थान स्थानीय निकाय चुनाव परिणाम, बीजेपी BJP, कांग्रेस, Congress, राजस्थान निकाय चुनाव, Rajasthan Nikay Chunav, विधानसभा चुनाव, Assembly election, Mayor election, निकाय चुनाव परिणाम में, Local Body Election Result 2019
निकाय चुनावों में अभी तक कांग्रेस की बढ़त देखने को मिल रही है, जिसके चलते अब पार्टी कार्यकर्ताओं में जश्न का माहौल है.


कब होंगे मेयर, डिप्टी मेयर के चुनाव

पार्षद तो आज बन जाएंगे लेकिन मेयर के चुनाव में अभी वक्त है. जनता द्वारा चुने गए पार्षद 26 को मेयर और सभापति चुनेंगे. जबकि 27 को डिप्टी मेयर और उप सभापति चुने जाएंगे. तब तक पार्षद निगरानी में रखे जाएंगे. उनकी अच्छी आवभगत होगी. इतने दिनों में तोड़फोड़ की संभावना को देखते हुए कांग्रेस और बीजेपी दोनों ने अपने पार्षदों की रखवाली के लिए वरिष्ठ नेताओं को जिम्मेदारी दी हुई है.

मेयर चुनाव की प्रक्रिया बदली
राजस्थान सरकार ने पहले मेयर और सभापति का चुनाव डायरेक्ट करवाने का मन बनाया था. बाद में यह फैसला लिया गया कि बिना पार्षद बने ही कोई भी मेयर बन सकता है. बस उसके नाम पर पार्षद मुहर लगा दें. लेकिन डिप्टी सीएम सचिन पायलट ही इस पर सहमत नहीं थे. इसलिए सरकार को यह फैसला लेना पड़ा कि जो सदन का सदस्य होगा वही मेयर या सभापति बन सकता है.
Loading...

Ashok Gehlot,राजस्थान निकाय चुनाव, Rajasthan Nikay Chunav, बीजेपी, BJP, Rajasthan Local Body Election Result 2019 Live, राजस्थान स्थानीय निकाय चुनाव परिणाम, बीजेपी BJP, कांग्रेस, Congress, राजस्थान निकाय चुनाव, Rajasthan Nikay Chunav, विधानसभा चुनाव, Assembly election, Mayor election, निकाय चुनाव परिणाम में, Local Body Election Result 2019
निकाय चुनाव में कांग्रेस का पलड़ा भारी है (File Photo)


मंत्रियों की मेहनत काम नहीं आई
बीजेपी की ओर से केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी और अर्जुन राम मेघवाल लगातार फील्ड में डटे रहे थे. उन्होंने कई सभाएं कीं. लेकिन मेहनत काम नहीं आई. बीजेपी को राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के हनुमान बेनीवाल का भी समर्थन हासिल है, फिर भी निकाय चुनाव परिणाम में (Local Body Election Result 2019) कांग्रेस उस पर भारी पड़ती दिखाई दे रही है.

जयपुर, कोटा, जोधपुर में इसलिए नहीं हो रहे चुनाव
इन तीनों नगर निगमों में पहली बार 2-2 मेयर बनाए जाएंगे. इसलिए यहां परिसीमन की प्रक्रिया के बाद निकाय चुनाव होगा.



ये भी पढ़ें: 

मेवात के इस गांव में एक साथ 425 लोगों को क्यों मार दी गई थी गोली?
बटुकेश्वर दत्त: एक क्रांतिकारी की दर्दनाक कहानी, जिन्हें न नौकरी मिली न ईलाज!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए उदयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 19, 2019, 1:06 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...