Home /News /rajasthan /

पिता और दादा-दादी की दर्दनाक मौत, 9 दिन पहले जन्मी मासूम का चेहरा तक नहीं देख सके

पिता और दादा-दादी की दर्दनाक मौत, 9 दिन पहले जन्मी मासूम का चेहरा तक नहीं देख सके

Rajsamand News: राजस्थान के राजसमंद में एक परिवार के तीन लोगों की मौत.

Rajsamand News: राजस्थान के राजसमंद में एक परिवार के तीन लोगों की मौत.

Rajsamand Latest News: जयपुर (Jaipur News) से पिता का इलाज कराकर घर लौट बेटे की सड़क हादसे में अपने माता-पिता के साथ दर्दनाक मौत (Rajsamand Accident) हो गई. ग्रामीणों ने बताया कि देवीलाल गाडरी के घर 9 दिन पहले बेटी हुई थी. 10 दिनों से जयपुर में अपने माता-पिता के साथ था. वह अपनी बेटी का मुंह तक नहीं देख सका. एक ही घर से तीन अर्थियां उठीं तो पूरा गांव गमगीन हो गया. किसी के घर चूल्हा नहीं जला, दुकानें बंद रहीं. मामला राजसमंद के रेलमगरा स्थित अमरपुरा गांव का है. देर रात भीलवाड़ा जिले के थाना रायला क्षेत्र में अजमेर हाईवे पर कार और ट्रक की टक्कर हो गई, जिसमें चार लोगों की मौत हो गई.

अधिक पढ़ें ...

    अल्केश सनाढ़्य

    राजसमंद. अजमेर-भीलवाड़ा (Ajmer-Bhilwara) सिक्सलेन पर हुए सड़क हादसे एक महिला सहित 4 लोगों की मौत हो गई. जयपुर में 10 दिन तक पिता का इलाज कराकर उनको तो स्वस्थ कर दिया, लेकिन घर लौट रहे युवक की मां-बाप (Mother-Father) के साथ मौत हो गई. नौ दिन पहले ही उसकी पत्नी ने बेटी (Daughter) को जन्म दिया था, लेकिन पिता और दादा-दादी मासूम का मुंह तक नहीं देख पाए. उनकी कार और ट्रक में आमने-सामने की भिड़ंत (Accident) हो गई. इस दर्दनाक हादसे से पूरा गांव गमगीन हो गया. किसी भी घर में चूल्हा नहीं जला. दुकानें बंद रहीं. एक ही घर से एक साथ तीन अर्थियां उठीं तो परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया.

    यह मामला राजसमंद के रेलमगरा स्थित अमरपुरा गांव का है. देर रात भीलवाड़ा जिले के थाना रायला क्षेत्र में अजमेर हाईवे पर कार और ट्रक की टक्कर हो गई, जिसमें चार लोगों की मौत हो गई. भीलवाड़ा की तरफ जा रहे ट्रक और जयपुर की तरफ से आ रही कार के बीच भीषण टक्कर हुई. हादसे में सभी लोग कार के अंदर ही फंस गए और दम तोड़ दिया. हादसे में कार सवार अमरपुरा निवासी प्रताप गाडरी (60), पत्नी सोहनी ( 55 ), बेटे देवीलाल गाडरी (23) और रिश्तेदार राजपुरा निवासी देवीलाल (62) की मौके पर ही मौत हो गई.

    9 दिन पहले जन्मी बेटी का चेहरा नहीं देख पाए
    ग्रामीणों के मुताबिक, प्रताप गाडरी के पैर में घाव हो गया था. दस दिन पहले उनकी पत्नी-बेटे और एक अन्य रिश्तेदार के साथ इलाज करवाने जयपुर गए थे. जयपुर में ऑपरेशन के बाद गांव लौटते समय हादसा हो गया और सभी की मौत हो गई. ग्रामीणों ने बताया कि देवीलाल गाडरी के घर 9 दिन पहले बेटी हुई थी. 10 दिनों से जयपुर में अपने माता-पिता के साथ था. वह अपनी बेटी का मुंह तक नहीं देख सका.

    ये भी पढ़ें:  दूल्हे के पैसों से की सगाई, फिर गैंग के साथ जेवर लेकर भागी लुटेरी दुल्हन, पुलिस ने किया गिरफ्तार

    एक ही परिवार की तीन अर्थियां देख सबकी आंखें नम
    अमरपुरा गांव में जब इनके शव पहुंचे तो उनको देखकर परिजन बिलख पड़े. एक ही परिवार में हुई तीन मौत पर वहां मौजूद सभी लोगों की आंखें नम हो गईं. माता-पिता सहित बेटे की अंतिम यात्रा एक साथ निकाली गई. किशन लाल ने माता-पिता और छोटे भाई का अंतिम संस्कार किया. जान गंवाने वाले चौथे वृद्ध का अंतिम संस्कार उसके गांव राजपुरा में हुआ.

    Tags: Accident, Rajasthan news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर