Home /News /rajasthan /

unique raksha bandhan celebrated in piplantri rajsamand by tying rakhi to trees see photos nodps

राजस्थान के इस गांव में अनोखे अंदाज में मनाते हैं रक्षाबंधन, पेड़ों को बांधी जाती है राखी, देखें PHOTOS

इस कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए यूनाइटेड नेशंस के कंट्री कोऑर्डिनेटर शोंबी शार्प भी पहुंचे और उन्होंने अपनी विशिष्ट टीम के साथ इको फ्रेंडली रक्षाबंधन में भागीदारी निभाई.

इस कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए यूनाइटेड नेशंस के कंट्री कोऑर्डिनेटर शोंबी शार्प भी पहुंचे और उन्होंने अपनी विशिष्ट टीम के साथ इको फ्रेंडली रक्षाबंधन में भागीदारी निभाई.

राजस्थान के राजसमंद जिले में बेटियों ने पर्यावरण को बचाने के लिए अनोखा संदेश दिया है. जिला मुख्यालय से 12 किलोमीटर दूर स्थित निर्मल ग्राम पंचायत पिपलांत्री में बेटियों के जन्म पर 111 पेड़ लगाए जाते हैं. साथ ही रक्षाबंधन से पहले यहां लड़कियां पेड़ों को राखी बांधकर पर्यावरण बचाओ का संदेश देती हैं. इस कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए यूनाइटेड नेशंस के कंट्री कोऑर्डिनेटर शोंबी शार्प भी पहुंचे और उन्होंने अपनी विशिष्ट टीम के साथ इको फ्रेंडली रक्षाबंधन में भागीदारी निभाई.

अधिक पढ़ें ...

राजसमंद. राजस्थान के राजसमंद जिले में रक्षाबंधन के 3 दिन पहले आज इको फ्रेंडली राखी मनाई गई. वह भी कुछ अनोखे अंदाज में. रक्षाबंधन के जरिए बेटियों ने पेड़, जंगल, पानी और बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का दुनियाभर को संदेश दिया. इस समारोह में दुनिया भर के कई देश के अधिकारियों और पर्यावरण विदों ने शिरकत की और इस समारोह को ऐतिहासिक बना दिया.

rakshabandhan in rajasthan, Raksha bandhan celebrated in uique way in rajasthan, rajasthan news, rakhi news rajasthan, rajasthan news, rakhi news in rajasthan, rajsamand news, rajsamand, rajsamand pincode, rajsamand lake, rajsamand resort, rajsamand to udaipur, rajsamand famous for, rajsamand map, rajsamand police, rajsamand new collector, rajasthan map, lottery sambad,

यह नजारा है राजसमंद जिला मुख्यालय से 12 किलोमीटर दूर स्थित निर्मल ग्राम पंचायत पिपलांत्री का. जहां गांव ही नहीं जिले की बेटियां पेड़ पौधों को राखी बांधकर अनोखा रक्षाबंधन पर्व मनाती हैं और पर्यावरण संरक्षण का संदेश देती हैं. पिपलांत्री पंचायत में बेटी के जन्म होने पर 111 पौधे लगाए जाते हैं. जिनका बेटी और उसका परिवार ना सिर्फ देखभाल करता है बल्कि अपने परिवार का सदस्य मानकर राखी बांधकर दुनिया को बेटी जल जंगल और पर्यावरण बचाने का संदेश देती हैं. पिपलांत्री पंचायत की ओर से पंचायत में बेटी का जन्म होने पर उसका नाम से एफडीपी की जाती है. जो 18 साल बाद परिपक्व होने पर उसे दी जाती है.
rakshabandhan in rajasthan, Raksha bandhan celebrated in uique way in rajasthan, rajasthan news, rakhi news rajasthan, rajasthan news, rakhi news in rajasthan, rajsamand news, rajsamand, rajsamand pincode, rajsamand lake, rajsamand resort, rajsamand to udaipur,

जहां एक ओर पूरे विश्व पर ग्लोबल वार्मिंग का खतरा मंडरा रहा है. इसको लेकर जहां विश्व चिंता में है तो वहीं राजस्थान के राजसमंद जिले का एक छोटा सा आदर्श ग्राम पिपलांत्री की बेटियां पेड़ लगा कर और उस पर राखी बांधकर पर्यावरण संरक्षण का संदेश दे रही है. इस कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए यूनाइटेड नेशंस के कंट्री कोऑर्डिनेटर शोंबी शार्प भी पहुंचे और उन्होंने अपनी विशिष्ट टीम के साथ इको फ्रेंडली रक्षाबंधन में भागीदारी निभाई. उन्होंने कहा कि पिपलांत्री का यह मॉडल अगर दुनिया आत्मसात कर ले तो दुनिया भर में ग्लोबल वार्मिंग और पर्यावरण संकट की समस्या खत्म हो जाएगी. उन्होंने कहा कि दुनिया का 20 फीसदी आबादी का हिस्सा भारत है. ऐसे में एक छोटे से गांव की पहल पूरी दुनिया को पर्यावरण संरक्षण का संदेश दे रही है.
rakshabandhan in rajasthan, Raksha bandhan celebrated in uique way in rajasthan, rajasthan news, rakhi news rajasthan, rajasthan news, rakhi news in rajasthan, rajsamand news, rajsamand, rajsamand pincode, rajsamand lake, rajsamand resort, rajsamand to udaipur, rajsamand famous for, rajsamand map, rajsamand police, r

राजसमंद जिले के पिपलांत्री पंचायत में जन्म लेने वाली बेटियां पेड़ों को भाई मानती हैं और रक्षाबंधन के पहले पेड़ों को रक्षा सूत्र बांधकर उनके संरक्षण का संकल्प लेती है. आज इस परंपरा ने जन-जन को पर्यावरण के मुरीद बना दिया है. करीब 17 साल पहले चारों तरफ मार्बल खदानों से गिरा पिपलांत्री गांव बंजर था, लेकिन तत्कालीन सरपंच श्याम सुंदर का पर्यावरण के प्रति लगाव पिपलांत्री गांव को बंजर से हरा भरा कर दिया. गांव में बेटी हो या बेटा उनके पैदा होने पर 111 पौधे लगाए जाते हैं. जब तक वह पौधा बड़ा नहीं हो जाता उसका देख-रेख वह परिवार करता है और फिर रक्षाबंधन पर्व से एक दिन पहले यहां की बेटियां उन्हीं पेड़ पौधों को राखी बांध कर रक्षा का संकल्प लेती है.
rakshabandhan in rajasthan, Raksha bandhan celebrated in uique way in rajasthan, rajasthan news, rakhi news rajasthan, rajasthan news, rakhi news in rajasthan, rajsamand news, rajsamand, rajsamand pincode, rajsamand lake, rajsamand resort, rajsamand to udaipur, rajsamand famous for, rajsamand map, rajsamand police, rajsamand new collector, rajasthan map, lottery sambad,

सुबह से ही गांव की बेटियां सज धज कर तैयार होती हैं, एक थाली में कुमकुम, चावल, रक्षा सूत्र के साथ एक नारियल लेकर वहां पहुंचती है. जहां पेड को रक्षा सूत्र बांधती हैं. सालों से चली आ रही यह परंपरा ने अब बड़ा रूप ले लिया है. दूर-दूर से बेटियां पेड़ पौधों को रक्षा सूत्र बांधने के लिए यहां पहुंचती है.
rakshabandhan in rajasthan, Raksha bandhan celebrated in uique way in rajasthan, rajasthan news, rakhi news rajasthan, rajasthan news, rakhi news in rajasthan, rajsamand news, rajsamand, rajsamand pincode, rajsamand lake, rajsamand resort, rajsamand to udaipur, rajsamand famous for, rajsamand map, rajsamand police,

पिपलांत्री पंचायत में बेटी के जन्म होने पर 111 पौधे लगाए जाते हैं. जिनका बेटी और उसका परिवार ना सिर्फ देखभाल करता है बल्कि अपने परिवार का सदस्य मानकर राखी बांधकर दुनिया को बेटी जल जंगल और पर्यावरण बचाने का संदेश देती हैं.

Tags: Rajasthan news

अगली ख़बर