अपना शहर चुनें

States

स्मृति शेष: गजेंद्र शक्तावत को याद करके भर आईं पायलट की आंखें, रुंधे गले से बोले- शक्तावत का मुझे हमेशा साथ मिला

गजेंद्र सिंह शक्तावत के निधन पर प्रतिक्रिया देते हुए सचिन पायलट भावुक हो गये.
गजेंद्र सिंह शक्तावत के निधन पर प्रतिक्रिया देते हुए सचिन पायलट भावुक हो गये.

राजस्थान (Rajasthan) कांग्रेस (Congress) के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट (Sachin Pilot) वल्लभनगर के विधायक गजेंद्र सिंह शक्तावात (Gajendra Singh Shaktawat) के निधन (Death) पर प्रतिक्रया देते हुए भावुक हो गये.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2021, 8:03 PM IST
  • Share this:
जयपुर. कांग्रेस नेता (Congress Leader) और वल्लभनगर विधायक गजेंद्र सिंह शक्तावात (Gajendra Singh Shaktawat) के निधन पर प्रतिक्रया देते हुए पूर्व कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट (Sachin Pilot) भावुक हो गये. पायलट मीडिया के सामने कुछ देर तक निशब्द रहे. इसके बाद रुंधे गले से कहा, गजेंद्र सिंह शक्तावत का हमेशा पार्टी फोरम से लेकर हर जगह साथ मिला. उनका असमय जाना पार्टी ही नहीं मेरे लिए सबसे ज्यादा व्यक्तिगत नुकसान है. उनके परिवार से मेरा पुराना जुड़ाव रहा है.

पायलट ने कहा कि शक्तावत लोकप्रिय विधायक थे. मुझे उनकी कमी हमेशा खलेगी.आपको बताते चलें कि गजेंद्र सिंह शक्तावत सचिन पायलट के कट्टर समर्थकों में एक थे. सचिन पायलट ने जब जुलाई में बगावत की उस वक्त गजेंद्र शक्तावत शुरू से लेकर आखिर तक मजबूती से पायलट के साथ खड़े नजर आए थे. जब पायलट गुट से सुलह हो गई और बाड़ेबंदी खत्म करके मानेसर से उदयपुर लौटे तो भी वे अपने स्टैंड पर कायम थे. राजनीतिक जानकारों की मानें तो गजेंद्र सिंह शक्तावत के जाने से सचिन पायलट ने मेवाड़ में अपना एक मजबूत समर्थक खो दिया है. यही वजह है कि शक्तावत को याद करते हुए पायलट भावुक हो गए.

कृषि बिलों पर बोले पायलट, कहा- किसानों की मांग के सामने केंद्र सरकार को झुकना ही पड़ेगा




सीएम अशोक गहलोत बोले- गजेंद्र शक्तावत सजग जनप्रतिनिधि थे

सीएम अशोक गहलोत ने गजेंद्र सिंह शक्तावत के असामयिक निधन पर गहरी संवदेना व्यक्त की. गहलोत ने कहा कि वो काफी समय से बीमार थे, उनके स्वास्थ्य को लेकर पिछले 15 दिनों से मैं परिवारजन और डॉ. शिव सरीन के संपर्क में था. गजेंद्र शक्तावत का असामयिक निधन हम सबके लिए गहरी क्षति है, वे एक सजग जनप्रतिनिधि थे और उन्होंने क्षेत्र के विकास के लिए सदैव समर्पित भाव से काम किया.

डोटासरा बोले, मैं और गजेंद्र अगल-बगल बैठते थे

कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि जब मैं पहली बार विधायक बना तब हम दोनों विधानसभा में अगल-बगल बैठते थे. वे बहुत ही संजीदा और आत्मीय संबंध रखने वाले थे. गजेंद्र सिंह शक्तावत से मेरा आत्मीय संबंध रहा है. जनता उन्हें चाहती थी लेकिन विधि के विधान पर किसी का जोर नहीं है और वे असमय हमारे बीच से चले गए, पार्टी उनकी सेवाओं को सदैव याद रखेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज