• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • क्या राजस्थान के CM फेस की दौड़ में शामिल हैं सतीश पूनिया? बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने दिया ये जवाब

क्या राजस्थान के CM फेस की दौड़ में शामिल हैं सतीश पूनिया? बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने दिया ये जवाब

सतीश पूनिया ने कहा कि अशोक गहलोत जादूगर तो हैं लेकिन ज्योतिष का अंकगणित कमजोर हैं.

सतीश पूनिया ने कहा कि अशोक गहलोत जादूगर तो हैं लेकिन ज्योतिष का अंकगणित कमजोर हैं.

Rajasthan Politics: बीजेपी में मुख्यमंत्री के दावेदार 12 से अधिक उम्मीदवार हैं, इस सवाल पर सतीश पूनिया ने कहा कि एक समय था जब यह कहा जाता था कि बीजेपी के पास मुख्यमंत्री के उम्मीदवार नहीं है लेकिन आज इतने अधिक उम्मीदवार हैं. उन्होंने साफ किया कि वह मुख्यमंत्री के चेहरे की दौड़ में शामिल नहीं हैं.

  • Share this:

जोधपुर. राजस्थान बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया मंगलवार को जोधपुर दौरे पर थे. जयपुर से वह सड़क मार्ग से सर्किट हाउस पहुंचे और केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत के घर मातृशोक की बैठक में शामिल हुए. सर्किट हाउस में मीडिया से रूबरू होते हुए पूनिया ने गहलोत सरकार पर जमकर निशाना साधा. साथ ही राजस्थान के मुख्यमंत्री की दावेदारी की दौड़ से खुद को अलग बताया. कहा कि मैं इस दौड़ में शामिल नहीं हूं, मैं पार्टी का प्रदेश अध्यक्ष हूं. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत जादूगर तो है लेकिन उनकी ज्योतिष-अंकगणित थोड़ी कमजोर हैं. उनको लगता है कि सरकार दोबारा आ जाएगी. उन्होंने कहा कि बीजेपी विजय की ओर बढ़ रही है और अगली सरकार हमारी पार्टी की होगी.

बिजली संकट पर उन्होंने कहा, “यह संकट देशभर में चल रहा है. राजस्थान में गहलोत सरकार की लापरवाही के चलते यह संकट बढ़ा है क्योंकि कोयले की खरीद सही समय पर नहीं की गई. राजस्थान के किसान और आम लोग बिजली की किल्लत का सामना कर रहे हैं. अगर सही समय पर कोयले की खरीद हो जाती तो ऐसे हालात नहीं होते. कांग्रेस सरकार की जगह कोई दूसरी सरकार होती तो अल्टरनेट व्यवस्था के साथ कोयला खरीद लेती और यह लोग 50 वर्षों से सरकार चला रहे हैं तो इन्होंने बिजली के लिए क्या किया है?’

बीजेपी में मुख्यमंत्री के दावेदार 12 से अधिक उम्मीदवार हैं, इस सवाल पर उन्होंने कहा कि एक समय था जब कहा जाता था कि बीजेपी के पास मुख्यमंत्री के उम्मीदवार नहीं है लेकिन आज इतने अधिक उम्मीदवार हैं. उन्होंने कहा कि मैं सीएम फेस की दौड़ में शामिल नहीं हूं. वहीं राजस्थान कांग्रेस में एक ही नाम मुख्यमंत्री की दावेदारी में चलता था, अब जाकर दो हुए हैं.

पूनिया ने कहा कि रीट परीक्षा में नकल के मुख्य आरोपी बत्ती लाल मीणा की गिरफ्तारी के बाद यह साफ हो गया है कि यह तो एक छोटा सा एलिमेंट है क्योंकि उसकी फेसबुक और सोशल साइट पर देखेंगे तो वह कांग्रेस के नारे लगाता हुआ दिखेगा और पंजीकृत कांग्रेस का कार्यकर्ता है. मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष डोटासरा ने माना है कि नकल तो हुई है, वह दो-तीन जगह हुई है तो अन्य जगह नहीं हुई है लेकिन इसकी क्या गारंटी?

उन्होंने आगे कहा, “मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के राज में एसओजी का भरपूर दुरुपयोग हुआ है और पुलिसिंग को बिल्कुल खत्म कर दिया गया है. सीबीआई से जांच करवाने के बाद ही दूध का दूध और पानी का पानी होगा.”

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज