सवाई माधोपुर: ACB के DSP ने भ्रष्‍टाचार न करने की दी थी सीख, अगले ही घंटे 80 हजार की घूस लेते गिरफ्तार

ACB के DSP और घूस लेने के आरोपी भैरूलाल मीणा ने अंतर्राष्‍ट्रीय भ्रष्‍टाचार निवारण दिवस पर ब्‍यूरो के कार्यालय में भ्रष्‍टाचार करने वालों की शिकायत करने के लिए हेल्‍पलाइन नंबर जारी किया था. (फोटो- NEWS18 Hindi)

ACB (Anti Corruption Bureau) ने अपने ही महकमे के अधिकारी के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है. ब्‍यूरो ने डीएसपी भैरूलाल मीणा को रिश्‍वत लेते हुए गिरफ्तार किया है.

  • Share this:
सवाई माधोपुर. राजस्‍थान के सवाई माधोपुर से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. दरअसल, अंतर्राष्‍ट्रीय भ्रष्‍टाचार दिवस के मौके पर एंटी करप्‍शन ब्‍यूरो के डीएसपी ने भ्रष्‍टाचार न करने की सीख दी थी. इस अधिकारी ने एसीबी कार्यालय में भाषण देते हुए भ्रष्‍टाचार करने वालों की शिकायत टोल फ्री नंबर 1064 पर दने की सलाह दी थी. इसके एक घंटे बाद ही एसीबी के इस डीएसपी को 80 हजार रुपये की घूस लेते गिरफ्तार कर लिया गया. इस अधिकारी की पहचान भैरूलाल मीणा के तौर पर की गई है. घूस लेने के आरोपी भैरूलाल ने भाषण देते हुए कहा था, 'हमें पूरी ईमानदारी के साथ भारत को भ्रष्‍टाचार मुक्‍त करना है. केंद्र और राज्‍य सरकार का कोई भी कर्मचारी घूस मांगे तो टोल फ्री नंबर 1064 पर कॉल कर इसकी जानकारी दें.'

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (Anti Corruption Bureau ) ने अपने ही महकमे के डीएसपी को 80 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुये रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. एसीबी के डीएसपी को रिश्वत की यह राशि सवाई माधोपुर जिला परिवहन अधिकारी (District Transport Officer) दे रहा था. ब्यूरो ने उसे भी गिरफ्तार कर लिया है. रिश्‍वत लेने के आरोपी भैरूलाल मीणा कोटा के आकाशवाणी कॉलोनी के रहने वाले हैं और सवाई माधोपुर में एसबी के चौकी प्रभारी के तौर पर तैनात हैं.

ब्यूरो के महानिदेशक बीएल सोनी ने बताया कि सवाई माधोपुर के डीएसपी भैरूलाल द्वारा मंथली रिश्वत राशि लेने की सूचना मिली थी. ब्यूरो ने उसका सत्यापन करवाया तो सूचना सही निकली. इस पर बुधवार को ब्यूरो की जयपुर टीम ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पुष्पेन्द्र सिंह के नेतृत्व में जाल बिछाकर कार्रवाई को अंजाम दिया. भैरूलाल अपने कार्यालय में जिला परिवहन अधिकारी महेशचंद से जब 80 हजार रुपये ले रहे थे, तो उसी समय ब्यूरो की टीम ने दोनों अधिकारियों को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया. बताया जा रहा है कि एसीबी डीएसपी पिछले काफी समय से विभिन्न विभागों के अधिकारियों से रिश्वत ले रहे थे.



Jaipur: रिश्वत मामले में बारां कलेक्‍टर इन्द्र सिंह पर गिरी गाज, पद से हटाए गए

सोशल मीडिया में छाया रहा मामला
भैरूलाल और डीटीओ महेशचंद दोनों करीब एक साल से ज्यादा समय से सवाई माधोपुर में पदस्थापित हैं. इनमें भैरूलाल के रिटायरमेंट में जहां महज 2 साल का समय बाकी है, वहीं डीटीओ को सर्विस में आये हुये करीब 2 साल हुये हैं. ब्यूरो की इस कार्रवाई के बाद प्रदेशभर में चर्चाओं का दौर चल पड़ा. कार्रवाई के बाद से यह खबर सोशल मीडिया में छा गई और जमकर वायरल हुई. उल्लेखनीय है कि ब्यूरो इन दिनों भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ ताबड़तोड़ कार्रवाइयां करने में जुटा है. बावजूद इसके भ्रष्ट अधिकारियों और कर्मचारियों में खौफ पैदा नहीं हो रहा है. वे बेधड़क रिश्वतखोरी में लिप्त हो रहे हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.