जानिए क्‍यों लग सकता है सरिस्‍का और रणथंभौर पर ताला
Sawai-Madhopur News in Hindi

जानिए क्‍यों लग सकता है सरिस्‍का और रणथंभौर पर ताला
राजस्‍थान के वन और पर्यावरण पर्यटन के 2 अहम केंद्रो पर ताला लगाने की तैयारी है.

राजस्‍थान के वन और पर्यावरण पर्यटन के 2 अहम केंद्रो पर ताला लगाने की तैयारी है.

  • Share this:
राजस्‍थान के वन और पर्यावरण पर्यटन के 2 अहम केंद्रो पर ताला लगाने की तैयारी है.

यह तैयारी इन वन क्षेत्रों की सुरक्षा और पशु पक्षियों का रखरखाव करने वाले कर्मचारी ही कर रहे है. वजह है वन रक्षक भर्ती.

लंबे अर्से बाद यह उम्मीद जगी है कि वन विभाग कुछ ही सही लेकिन भर्तियां हाकेंगी वहीं दूसरी ओर वन विभाग के ही कर्मचारी अब इसमें अड़ंगा लगाने पर तुले हुए हैं. भर्ती के मामले को लेकर राजस्थान वन श्रमिक संघ वन विभाग चेतावनी दी है कि अगर उन्हें वन रक्षक पद पदोन्नत नहीं किया गया तो वे ये भर्ती नहीं होंगे. इस मामले को लेकर विरोध करने के लिए वे कल सरिस्का के मेन गेट पर ताला भी लगाएंगे.



वन विभाग की ओर से वन रक्षक और वनपालों के पदों पर भर्ती की जानी हैं. करीब 1800 पदों पर वन रक्षकों की भर्ती होगी और  कुछ पदों पर वन पाल भी भर्ती किए जाएंगे. भर्ती की यह प्रक्रिया 16 नवम्बर से शुरू होनी है आवेदन भी ऑनलाइन किये जाने हैं. लेकिन इस प्रक्रिया को शुरू होने से पहले ही वन विभाग के ही वर्क चार्ज कर्मचारी इसके विरोध में उतर आए हैं. प्रदेश भर में करीब पांच हजार के करीब वन श्रर्मिक ऐसे हैं जिनका कहना  है कि वन रक्षकों के पद भर्ती करने के बजाए वन श्रर्मिकों को इस पद पदोन्नति दी जानी चाहिए.
इस मामले को लेकर वन श्रमिक संघ की ओर से वन विभाग को तीन दिन पहले चेताकर कहा गया था कि उनकी मांगों पर गौर किया जाए नहीं तो वह 28 अक्टूबर को सरिस्का के मुख्य गेट पर ताला लगा देंगे. मांगों को लेकर वन विभाग की ओर से अभी तक कोई जवाब नहीं आया लिहाजा अब बुधवार प्रदेशभर से पांच हजार के करीब  वन श्रमिक सरिस्का टाइगर रिजर्व पहुंचेंगे और ताला लगाएंगे ताकि सरकार उनकी मांगों पर गौर करे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज