करौली कलेक्टर ने अस्पतालों की दुर्दशा पर लगाई अधिकारियों को फटकार

ETV Rajasthan
Updated: September 16, 2017, 2:46 PM IST
करौली कलेक्टर ने अस्पतालों की दुर्दशा पर लगाई अधिकारियों को फटकार
फोटो-(ईटीवी)
ETV Rajasthan
Updated: September 16, 2017, 2:46 PM IST
करौली जिला कलेक्टर अभिमन्यु कुमार ने जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक ली और चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की संचालित योजनाओं की समीक्षा की. कलेक्टर ने बैठक में अस्पतालों की दुर्दशा, अव्यवस्थाओं पर कड़ी नाराजगी जताते हुए सुधार करने के निर्देश दिए.

हिंडौन सिटी के सामान्य चिकित्सालय में अवस्थाओं पर नाराजगी व्यक्त करते हुए कलेक्टर ने सीएमएचओ व पीएमओ को व्यवस्था में सुधार करने के निर्देश दिए. बैठक में कहा कि भामाशाह एवं राजश्री योजना में लक्ष्यों की प्राप्ति नहीं हो रही है और पात्र लोगों को योजना का लाभ नहीं मिलने पर अधिकारियों से जवाब तलब किया गया.

बैठक में जिला कलेक्टर ने कहा कि चिकित्सा विभाग की योजनाओं का जो फंड जारी किया जाता है उसका उपयोगिता प्रमाण पत्र अभी तक जारी नहीं कराया है, ऐसे में जारी किए गए पैसे का सही उपयोग हुआ है या नहीं यह जांच का विषय है.

बैठक में सरकार द्वारा संचालित योजना सास बहू सम्मेलन के आयोजन नहीं करने, मिशन इंद्रधनुष का लाभ पात्रों तक पहुंचाने, आशा सहयोगनी के ठीक से कार्य नहीं करने, चिकित्साकर्मियों के अस्पतालों में समय पर उपस्थित नहीं होने, टीकाकरण, परिवार कल्याण, राजश्री योजना, भाग्यश्री योजना, मिशन इंद्रधनुष योजना आदि की प्रगति की समीक्षा की गई.

बैठक में अस्पतालों में खराब पड़े चिकित्सा उपकरणों को समय पर ठीक नहीं कराने पर कलेक्टर ने नाराजगी जताते हुए कड़ी फटकार लगाई और उनके ठीक कराने के निर्देश दिए. वहीं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों को जिले के स्वास्थ्य केंद्रों का औचक निरीक्षण करने और लापरवाह कार्मिकों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए.

जिला कलेक्टर ने बैठक में चिकित्साकर्मियों से कहा कि या तो वह प्राइवेट प्रेक्टिस को चुने या सरकार के दिए गए कार्य और लक्ष्यों को पूरा करें. उन्होंने चिकित्सा अधिकारियों व कर्मचारियों को चेतावनी दी कि यदि कार्य में लापरवाही बरती गई तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी.
First published: September 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर