• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan News: लंबे समय से लापता टाइगर T-65 की मौत, पानी में तैरती मिली लाश

Rajasthan News: लंबे समय से लापता टाइगर T-65 की मौत, पानी में तैरती मिली लाश

t-65 की मौत संदिग्‍ध हालातों में हो गई. अब पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट से मौत के कारण का पता चलेगा. (सांकेतिक फोटो)

t-65 की मौत संदिग्‍ध हालातों में हो गई. अब पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट से मौत के कारण का पता चलेगा. (सांकेतिक फोटो)

Ranthambhore news: खंडार इलाके में स्थित तालाब में डूबा मिला T-65 उर्फ सूरज, पोस्टमार्टम रिपोर्ट से होगा मौत के सही कारणों का खुलासा. राजबाग चौकी पर किया गया सूरज का अंतिम संस्कार.

  • Share this:
जयपुर. रणथंभौर से एक बुरी खबर है. यहां का जाने-माने बाघ T-65 उर्फ सूरज की मौत हो गई है. काफी लंबे समय से इस बाघ की तलाश की जा रही थी और ये अपने इलाके को छोड़ कर दूसरे इलाके में था. अब बाघ का शव खंडार इलाके में स्थित तालाब में पड़ा मिला है. मौत के हालात काफी संदिग्‍ध लग रहे हैं लेकिन वन ‌विभाग इसे प्रथम दृष्टया प्राकृतिक कारणों से हुई मौत ही बता रहा है. टी-65 के शव की हालत भी काफी खराब है जिसके कारण कई घंटों तक उसकी पहचान भी नहीं हो सकी. बाद में डीसीएफ महेंद्र शर्मा ने मौके पर पहुंच कर बाघ की पहचान की.

मौत को लेकर कई कयास
वन विभाग के अधिकारियों के अनुसार ऐसा हो सकता है कि इलाके को लेकर टी-65 की किसी अन्य बाघ से लड़ाई हुई हो और इसी के चलते उसकी मौत हो गई हो. क्योंकि खंडार इलाके में टी 3 का भी मूवमेंट है लेकिन वो काफी बुजुर्ग बाघ है. वहीं टी 38 की भी इस इलाके में कई बार साइटिंग हुई है. वहीं टी-65 का पुत्र टी 123 भी खंडार में ही अपना इलाका बनाए हुए है. वहीं एक कयास ये भी लगाया जा रहा है कि बाघ किसी मगरमच्छ के हमले का शिकार भी हो सकता है लेकिन बाघ के शरीर पर कोई बड़े जख्म नहीं मिले हैं. उसकी नाक पर एक बड़ा चोट का निशान जरूर दिखा लेकिन उसे भी जानलेवा नहीं माना जा रहा है.

 rajasthan news, sawaimadhopur news, ranthambhore news, tiger died, t-65 dead, tiger suraj, tiger machli
T-65 का शव पानी में डूबा मिला. फिलहाल मौत के कारणों का सही पता नहीं चल सका है.


अपनी खास पहचान रखता था टी-65
टी-65 रणथंभौर की मशहूर बाघिन टी- 19 का शावक है और विश्व विख्यात बाघिन मछली का नाती है. टी-65 का जन्म रामबाघ इलाके में हुआ था और काफी लंबा समय इसने वहीं बिताया. वन विभाग के अधिकारियों के अनुसार नए इलाके की तलाश में ही ये खंडार क्षेत्र में आया. रणथंभौर में टी 65 उर्फ सूरज को ज्यादातर पर्यटक इसलिए आसानी से पहचान लेते थे कि ये हमेशा अपनी पूंछ को हवा में रखता था.

पोस्टमार्टम रिपोर्ट से होगा खुलासा
अब मेडिकल बोर्ड का गठन कर टी-65 का राजबाग चौकी में ही पोस्टमार्टम करवाया गया. पोस्टमार्ट रिपोर्ट के बाद ही बाघ की मौत का सही से पता चल सकेगा. फिलहाल बाघ के शव से विसरा सैंपल ले लिए गए हैं. इसके बाद राजबाग चौकी पर ही बाघ का दाह संस्कार कर दिया गया. रणथंभौर के फील्ड डायरेक्टर टीसी वर्मा ने कहा कि मुझे अभी इस बारे में नहीं पता कि मौत का कारण क्या रहा है, लेकिन पानी में बाघ का शव मिला है. पोसटमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज