Home /News /rajasthan /

राजस्थान: खाप पंचायत ने लगाया एक करोड़ का जुुर्माना, कोर्ट पहुंचा पीड़ित, ये है पूरा मामला

राजस्थान: खाप पंचायत ने लगाया एक करोड़ का जुुर्माना, कोर्ट पहुंचा पीड़ित, ये है पूरा मामला

राजस्थान खाप पंचायत की कठोर सजा: जाति से बहिष्कृत कर लगाया 1 करोड़ जुर्माना  (फाइल फोटो)

राजस्थान खाप पंचायत की कठोर सजा: जाति से बहिष्कृत कर लगाया 1 करोड़ जुर्माना (फाइल फोटो)

राजस्थान के सवाई माधोपुर जिले में खाप पंचायत ने एक परिवार को जाति से बहिष्कृत कर एक करोड़ का जुर्माना लगा दिया. परिवार का पक्ष सुने बिना पंच पटेलों ने कहा कि अगर जुर्माना नहीं दिया तो जाति से बहिष्कार और हुक्का पानी बंद रहेगा.

    सुनील जोशी. 

    सवाई माधोपुर. राजस्थान (Rajasthan) के सवाई माधोपुर (Sawai Madhopur) जिले में खाप पंचायत ने तुगलकी फरमान जारी कर एक परिवार को जाति से बहिष्कृत कर एक करोड़ का जुर्माना लगा दिया. परिवार का पक्ष सुने बिना पंच पटेलों ने एक करोड़ का जुर्माना लगाया और कहा कि अगर जुर्माना नहीं दिया तो जाति से बहिष्कार और हुक्का पानी बंद रहेगा. मामला हत्या से जुड़ा हुआ है.

    इस मामले में पीड़ित के बेटे डॉ जितेंद्र मीणा पर अपने साथी डॉक्टर महेश मीणा जो कि हिंडौन सिटी राजकीय अस्पताल में सेवारत थे. उनकी बीते दिनों हिंडौन से गांव जाते हुए बलदेवपुरा के पास कार में संदिग्ध अवस्था में लाश मिली थी. जिसकी जांच टोडाभीम पुलिस उप अधीक्षक फूलचंद मीणा द्वारा की गई. आरोप है कि मृतक डॉक्टर महेश मीणा की पत्नी द्वारा जांच अधिकारी बदलवा कर हिंडौन सिटी पुलिस उप अधीक्षक किशोरी लाल को दिलाई जिसमें अपने साथी डॉक्टर की हत्या के मामले में बामनवास थाना अंतर्गत गोठ सिकरोड़ी और नादौती के बलदेवपुरा के पंच पटेलों ने गोठ सिकरोड़ी में एक खाप पंचायत का आयोजन किया. खाप पंचायत ने डॉ महेश की हत्या का आरोप गोठ सिकरोड़ी निवासी डॉ जितेंद्र मीणा पर तय करते हुए डॉ जितेंद्र के परिवार को जाति से बहिष्कार कर एक करोड़ का जुर्माना लगा दिया.

    बामनवास थाना के गोठ सिकरोड़ी गांव निवासी रामस्वरूप मीणा की ओर से कोर्ट में मामला दर्ज कराया गया कि मेरा और मेरे बेटे का पक्ष सुने बिना पंच पटेलों ने जाति से बहिष्कार कर दिया और एक करोड़ जुर्माना देने को कहा गया है. इसी मामले को लेकर पीड़ित पक्ष थाना बामनवास पहुंचे, लेकिन प्राथमिकी दर्ज नहीं की गई. इसके बाद इस्तगासा दाखिल कर पीड़ित रामस्वरूप मीणा की ओर से बामनवास थाने में दो दर्जन से अधिक पंच पटेलों के खिलाफ मामला दर्ज कराया गया है. जिसमें अभी भी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है. पीड़ित रामस्वरूप मीणा की ओर से नादौती के गांव बलदेवपुरा के 16 पंच पटेल तथा उनके गांव गोट सिकरोड़ी के 12 पंच पटेलों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है

    खाप पंचायत का पीड़ित परिवार पर असर

    पंचायत के फैसले के अनुसार पीड़ित परिवार किसी भी ग्रामीण से ताल्लुक नहीं रखेगा तथा सामाजिक कार्यक्रम में शामिल नहीं होगा. पंच पटेलों ने फरमान जारी किया कि कोई भी व्यक्ति इनके खेतों में काम करने नहीं जाएगा. गांव में कोई दुकानदार उनके परिवार को सामान भी नहीं देगा. पानी नहीं लाने दिया जाएगा. यदि कोई व्यक्ति उन से ताल्लुक रखता है या दुकान से सामान देता है सामाजिक कार्यक्रम में बुलाता है तो उसे 51000 के अर्थदंड से दंडित किया जाएगा. एक करोड़ का अर्थदंड जमा नहीं कराया तो का पानी तक बंद किया जाएगा.

    थाना अधिकारी का अजीबो- गरीब बयान

    इस मामले में बामनवास थाना अधिकारी का अजीबो गरीब बयान सामने आया है. उन्होंने कहा कि हुक्का पानी बंद करने की बात है तो आजकल कोई हुक्का पीता नहीं है और पानी कुंए से कोई भरता नहीं है ट्यूबल हो गई हैं. पीड़ित पक्ष की ओर से पूर्व में थाने पर जो परिवाद दिया गया उसकी हमारे द्वारा जांच की गई. जिसमें एक करोड़ का जुर्माना लगाना, जाति से बहिष्कृत करना ऐसा हमारी जांच में नहीं आया. यह मामले को गंभीर बनाने के लिए इस प्रकार के तथ्य जोड़े गए हैं.

    Tags: Khap Panchayat, Khap Panchayat Order, Rajasthan news, खाप पंचायत, सवाई माधोपुर

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर