लाइव टीवी

सवाई माधोपुर: नवजात बालिका को अस्पताल के टॉयलेट में फेंका, वह सर्दी में ठिठुरती रही और लोग देखते रहे
Sawai-Madhopur News in Hindi

Giriraj Sharma | News18 Rajasthan
Updated: February 11, 2020, 2:51 PM IST
सवाई माधोपुर: नवजात बालिका को अस्पताल के टॉयलेट में फेंका, वह सर्दी में ठिठुरती रही और लोग देखते रहे
नवजात के रोने की आवाज सुनकर मरीजों के कुछ परिजन वहां पर पहुंचे. लेकिन पुलिस की कागजी खानापूर्ति के डर से किसी ने भी नवजात को वहां से नहीं उठाया.

सवाई माधोपुर (Sawai Madhopur) जिला मुख्यालय स्थित सामान्य चिकित्सालय (General hospital) में मंगलवार को दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां एक नवजात बालिका (New born girl) को अज्ञात परिजन टॉयलेट (Toilet) में फेंककर चले गए. वहां नवजात सर्दी में ठिठुरती रही और रोती रही लेकिन लोग तमाशबीन कर उसे देखते रहे.

  • Share this:
सवाई माधोपुर. जिला मुख्यालय स्थित सामान्य चिकित्सालय (General hospital) में मंगलवार को दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है. यहां एक नवजात बालिका (New born girl) को अज्ञात परिजन टॉयलेट (Toilet) में फेंककर चले गए. टॉयलेट में बालिका सर्दी में ठिठुरती रही और रोती रही लेकिन लोग तमाशबीन कर उसे देखते रहे. बाद में सूचना पर अस्पताल का गार्ड मौके पर पहुंचा और नन्ही सी जान को उठाकर एफबीएनसी वार्ड (FBNC ward) में भर्ती कराया. वहां मासूम का उपचार किया जा रहा है. वह अब ठीक बताई जा रही है.

अस्पताल का गार्ड एफबीएनसी वार्ड में ले गया
जानकारी के अनुसार मंगलवार को अलसुबह अस्पताल की पुरानी बिल्डिंग में मेडिकल वार्ड के पास स्थित टॉयलेट में अज्ञात परिजन नवजात बालिका को डालकर चले गए. नवजात के रोने की आवाज सुनकर मरीजों के कुछ परिजन वहां पर पहुंचे. लेकिन पुलिस की कागजी खानापूर्ति के डर से किसी ने भी नवजात को वहां से नहीं उठाया. नवजात बालिका वहीं टॉयलेट में सर्दी से ठिठुरती रही और रोती रही. इस दौरान किसी ने अस्पताल के गार्ड को इसकी जानकारी दी. इस पर गार्ड नरेश मौके पर पहुंचा और नन्ही सी जान को उठाकर इलाज के लिए एफबीएनसी वार्ड में ले गया.

पुलिस जुटी अज्ञात परिजनों की तलाश में

वहां डॉक्टर्स ने मासूम के स्वास्थ्य की जांच की और उसे भर्ती कर लिया. डॉक्टर के अनुसार बच्ची का समय पूर्व प्रसव हुआ है. नवजात का वजह बेहद कम है. वह महज एक किलो 190 ग्राम की है. फिलहाल उसका स्वास्थ्य ठीक है. डॉक्टर्स ने उसे अपनी देखरेख में रखा है. अब अस्पताल प्रशासन इस बात का पता लगाने में जुटा है कि आखिर नवजात को टॉयलेट में कौन छोड़ गया ? अस्पताल प्रशासन ने कोतवाली पुलिस और चाइल्ड लाइन टीम को भी इस बारे में सूचना दी. अब अस्पताल प्रशासन, पुलिस और चाइल्ड लाइन टीम पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है. अज्ञात परिजनों की तलाश की जा रही है.

पहले भी कई मामले सामने आ चुके हैं
उल्लेखनीय है नवजात बालिकाओं को लावारिस छोड़ने के पहले भी कई मामले सामने आ चुके हैं. लेकिन अभी तक उनमें से किसी के भी परिजनों का कोई पता नहीं लग पाया है. कुछ माह पहले प्रतापगढ़ में तो एक नवजात को परिजन जंगल में छोड़कर चले गए. लेकिन वहां से गुजर रहे युवक ने मासूम के रोने की आवाज सुनकर उसे अस्पताल पहुंचाया. 

उत्तर पश्चिम रेलवे ने किया बड़ा फेरबदल: 14 ट्रेनें रद्द और 42 का मार्ग बदला

कोटा रेल मंडल: आगामी 10 दिन के लिए 4 ट्रेनें रद्द, 6 का मार्ग बदला

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सवाई माधोपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 2:49 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर