सवाई माधोपुर: रणथंभौर नेशनल पार्क में टाइगर T- 109 की मौत, संघर्ष में हुआ था घायल

शुक्रवार को टाइगर का पोस्टमार्टम कर अंतिम संस्कार किया जाएगा.फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
शुक्रवार को टाइगर का पोस्टमार्टम कर अंतिम संस्कार किया जाएगा.फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

राजस्थान (Rajasthan) के सवाई माधोपुर (Sawai Madhopur) जिले में स्थित रणथंभौर नेशनल पार्क (Ranthambore National Park) में गुरुवार को एक टाइगर की मौत (Tiger death) हो गई. बताया जा रहा है कि पिछले दिनों टेरिटरी (Territory) के फेर में टाइगर T-42 तथा टाइगर T-109 के बीच जमकर संघर्ष (conflict) हुआ था. इसमें टाइगर टी-109 बुरी तरह घायल (Injured) हो गया था.

  • Share this:
सवाईमाधोपुर. राजस्थान (Rajasthan) के सवाई माधोपुर (Sawai Madhopur)  जिले में स्थित रणथंभौर नेशनल पार्क (Ranthambore National Park) में गुरुवार को एक टाइगर की मौत (Tiger death) हो गई. बताया जा रहा है कि पिछले दिनों टेरिटरी (Territory) के फेर में टाइगर T-42 तथा टाइगर T-109 के बीच जमकर संघर्ष (conflict) हुआ था. इसमें टाइगर टी-109 बुरी तरह घायल (Injured) हो गया था. टाइगर T-109 को वन विभाग ने दो दिन पहले ही ट्रेंकुलाइज (Tranquilize) कर उसका उपचार (Treatment) भी किया था. बावजूद टाइगर की हालत में सुधार सुधार नहीं हो रहा था.

पिछले दिन बाघों में हुआ था जमकर संघर्ष
वन विभाग के अनुसार बाघों की टेरिटरी को लेकर रणथंभौर में लगातार बाघों में आपसी संघर्ष हो रहा है. इसी के परिणाम स्वरूप एक टाइगर की रणथंभौर नेशनल पार्क में फिर से जान चली गई. गत दिनों टेरिटरी के फेर में टाइगर T-42 तथा टाइगर T-109 के बीच जमकर संघर्ष हुआ था. इसमें टाइगर T-109 बुरी तरह घायल हो गया था. उसके बाद वन विभाग ने टाइगर T-109 को ट्रेंकुलाइज कर उपचार भी किया था. इसके बावजूद भी टाइगर की हालत में सुधार सुधार नहीं हो रहा था. उसे देखरेख के लिए एक पिंजरे में ही रखा गया था. वन विभाग लगातार इसकी मॉनिटरिंग कर रहा था.

गत एक साल से फेल साबित हो रहा है वन विभाग
लेकिन T-109 हालत में सुधार नहीं होने के कारण गुरुवार को उसकी मौत हो गई. शुक्रवार को टाइगर का पोस्टमार्टम कर अंतिम संस्कार किया जाएगा. उल्लेखनीय है कि गत 1 साल में बाघों के संरक्षण में वन विभाग के अधिकारी तथा कर्मचारी पूरी तरह से फेल साबित हो रहे हैं. बावजूद इसके वन विभाग बाघ संरक्षण के लिए कोई ठोस कारगर कदम नहीं उठा रहा है.



गत माह नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में भी हुई थी मौत
उल्लेखनीय है कि राजधानी जयपुर स्थित नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में भी जानवरों की मौत का सिलसिला थम नहीं रहा है. बायोलॉजिकल पार्क में गत माह 2 दिन में एक शेरनी और एक शावक की मौत हो गई थी। इससे वन विभाग में हड़कंप मच गया था.

राज्य कर्मचारियों को हाई कोर्ट से मिली बड़ी राहत, रिकवरी नोटिफिकेशन पर लगाई रोक

जालोर में नशे की बड़ी खेप पकड़ी, 90 हजार नशीली टबलेट्स जब्त, 3 गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज