लाइव टीवी

कबाड़ी को रद्दी के भाव बेची राजस्थान राज्य पाठ्य पुस्तक मण्डल की किताबें, शिक्षा विभाग में मचा हड़कंप
Sawai-Madhopur News in Hindi

Giriraj Sharma | News18 Rajasthan
Updated: February 7, 2020, 5:27 PM IST
कबाड़ी को रद्दी के भाव बेची राजस्थान राज्य पाठ्य पुस्तक मण्डल की किताबें, शिक्षा विभाग में मचा हड़कंप
मामले को लेकर जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) ने जांच के आदेश दिए हैं.

सवाई माधोपुर (Swai madhopur) जिला मुख्यालय पर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Board of Secondary Education) के पाठ्यक्रम की कक्षा 9 से 12वीं तक कि राजस्थान राज्य पाठ्य पुस्तक मण्डल की किताबें रद्दी के भाव कबाड़ी की दुकान पर बेचने (Sell) का सनसनीखेज मामला सामने आया है.

  • Share this:
सवाई माधोपुर. जिला मुख्यालय पर माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (Board of Secondary Education) के पाठ्यक्रम की कक्षा 9 से 12वीं तक कि राजस्थान राज्य पाठ्य पुस्तक मण्डल की किताबें रद्दी के भाव कबाड़ी की दुकान पर बेचने (Sell) का सनसनीखेज मामला सामने आया है. मामले सामने आते ही विभागीय अधिकारियों में हड़कंप (Stir) मच गया. कबाड़ी की दुकान से किताबों को जब्त (Seized) कर लिया गया है. फिलहाल मामले की जांच चल रही है. जांच के बाद दोषी के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज करवाई जायेगी.

पिकअप में भरकर लाई गई किताबें
जानकारी के अनुसार गुरुवार रात को सवाई माधोपुर जिला मुख्यालय की खेरदा पुलिया के नजदीक स्थित कबाड़ी की दुकान पर एक पिकअप राजस्थान पाठ्य पुस्तक मण्डल की कक्षा 9 से 12वीं तक कि किताबें भरकर लाई. वहां किताबों को रद्दी के भाव बेच दिया गया. इसी दौरान इसकी भनक किसी को लग गई तो उसने अधिकारियों को मामले की जानकारी दी. वहीं पिकअप चालक और किताबें लाने की बात कहकर मौके से गायब हो गया.

जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) ने दिए जांच के आदेश

राजस्थान राज्य पाठ्य पुस्तक की किताबों के रद्दी के भाव कबाड़ी की दुकान पर बिकने का मामला उजागर होने के साथ ही शिक्षा विभाग में हड़कंप मच गया. शुक्रवार को सुबह राजस्थान राज्य पाठ्य पुस्तक वितरण केंद्र के प्रबंधक कबाड़ी की दुकान पर पहुंचे और बेची गई किताबों को जब्त कर लिया. प्रबंधक का कहना है कि किताबों का स्टॉक मिलान करवाया जा रहा है और जांच के बाद ही मामला दर्ज करवाया जायेगा. मामले को लेकर जिला शिक्षा अधिकारी (माध्यमिक) ने जांच के आदेश दिए हैं.

चालान के माध्यम से नोडल ऑफिस को किताबें भेजी जाती हैं
विभागीय सूत्रों के अनुसार राजस्थान राज्य पाठ्य पुस्तक मण्डल जयपुर से स्कूलों में वितरण के लिए पुस्तकें पहले पाठ्य पुस्तक मण्डल डिपो में भेजता है. उसके बाद चालान के माध्यम से नोडल ऑफिस को किताबें भेजी जाती हैं. सवाई माधोपुर के ठिगला में डाइट कार्यालय के समीप पाठ्य मण्डल का डिपो है वहां किताबों का संग्रह किया जाता है. 

 

स्कूली बच्चों को निशुल्क दी जाती है किताबें
उल्लेखनीय है कि राजस्थान राज्य पाठ्य पुस्तक मण्डल द्वारा सरकारी स्कूलों में बालकों को निशुल्क पुस्तकें वितरण करने के लिए किताबे प्रत्येक जिले को भेजी जाती हैं. लेकिन कबाड़ी की दुकान पर रद्दी के भाव बेची गई पुस्तकों को देखकर साफ जाहिर होता है कि संबंधित अधिकारियों ने किताबों का वितरण किया ही नहीं.

 

जयपुर: उपभोक्ताओं को बिजली का झटका, 10-11 % बढ़ाई दरें, 1 फरवरी से हुईं लागू

 

 

जोधपुर: शादी के लिए लड़के की न्यूनतम आयु 21 और लड़की के लिए 18 वर्ष क्यों ?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सवाई माधोपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2020, 5:22 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर