लाइव टीवी

हाथ ठेले पर लावारिस मिली दो मासूम बच्चियां, अस्पताल में कराया भर्ती
Sawai-Madhopur News in Hindi

News18 Rajasthan
Updated: August 19, 2018, 10:49 AM IST
हाथ ठेले पर लावारिस मिली दो मासूम बच्चियां, अस्पताल में कराया भर्ती
सवाईमाधोपुर में लावारिस मिली बच्चियां

शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर सुनील शर्मा का कहना है कि अनचाही संतान को कानूनी तौर पर परित्याग करने के लिए सरकार द्वारा पालनागृह खोले गए हैं, जो प्रत्येक जिला अस्पताल में संचालित है.

  • Share this:
राजस्थान सरकार की लाख कोशिशों के बाद भी प्रदेश में बेटियों के जन्म को अभिशाप माना जा रहा है.  सवाई माधोपुर जिला मुख्यालय के खंडार तिराहे पर 20 से 25 दिन से दो मासूम बच्चियां एक ठेले पर लावारिस हालत में मिली है. सूचना के बाद कोतवाली थाना पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों बालिकाओं को सामान्य चिकित्सालय के मातृ एवं शिशु यूनिट में भर्ती करवाया है.

खंडार में मिली दो बच्चियों की सूचना कोतवाली पुलिस को मिली. अस्पताल में भर्ती बच्चियां जांच में पूर्ण रूप से स्वस्थ पाई गई हैं. कोतवाली थाना पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है. मामले में शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर सुनील शर्मा का कहना है कि अनचाही संतान को कानूनी तौर पर परित्याग करने के लिए सरकार द्वारा पालनागृह खोले गए हैं, जो प्रत्येक जिला अस्पताल में संचालित है. लेकिन जानकारी के अभाव में अक्सर मां बाप बच्चों को कहीं भी लावारिस हालत में छोड़कर चले चाते हैं, जो अपराध की श्रेणी में आता है.

पुलिस द्वारा ऐसे मां-पिता के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाती है, लेकिन पालनागृह में छोड़े गये बच्चों के माता-पिता के खिलाफ पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती. सवाईमाधोपुर में पिछले कुछ सालों से नवजात बच्चों को लावारिश छोड़कर जाना या फेंककर जाने के मामलों में बढ़ोतरी हुई है. ऐसे मामलों में पुलिस द्वारा मामला तो दर्ज कर लिया जाता है, मगर नतीजा कुछ नहीं निकलता है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सवाई माधोपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2018, 8:57 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर