Home /News /rajasthan /

अटल ने किया था भैरों सिंह की बेटी का कन्‍यादान, पढ़िए वाजपेयी-शेखावत की दोस्‍ती के किस्‍से

अटल ने किया था भैरों सिंह की बेटी का कन्‍यादान, पढ़िए वाजपेयी-शेखावत की दोस्‍ती के किस्‍से

भारत रत्‍न अटल बिहारी वाजपेयी और भैंरो सिंह शेखावत। देश की सियासत में शिखर तक पहुंचने वाले इन दोनों सियासी शख्सियतों ने भारतीय राजनीति को नवीन दिशा दी।

भारत रत्‍न अटल बिहारी वाजपेयी और भैंरो सिंह शेखावत। देश की सियासत में शिखर तक पहुंचने वाले इन दोनों सियासी शख्सियतों ने भारतीय राजनीति को नवीन दिशा दी।

भारत रत्‍न अटल बिहारी वाजपेयी और भैंरो सिंह शेखावत। देश की सियासत में शिखर तक पहुंचने वाले इन दोनों सियासी शख्सियतों ने भारतीय राजनीति को नवीन दिशा दी।

भारत रत्‍न अटल बिहारी वाजपेयी और भैंरो सिंह शेखावत। देश की सियासत में शिखर तक पहुंचने वाले इन दोनों सियासी शख्सियतों ने भारतीय राजनीति को नवीन दिशा दी।

वाजपेयी प्रधानमंत्री के ओहदे तक पहुंचे तो, भैंरो सिंह शेखावत ने उपराष्ट्रपति पद को सुशोभित किया। यह बात भी बहुत कम लोगों को पता है कि राजस्थान की सरजमीं पर जनसंघ और भाजपा के तीन क्षत्रपों के बीच रिश्तों की नवीन इबारत लिखी गई थी।

अटल ने किया भैंरो सिंह की बिटिया का कन्‍यादान
अटल, आडवाणी और भैंरो सिंह इनके बीच सियासत से परे दोस्ती का अध्याय राजस्थान से ही शुरू हुआ था। अटल बिहारी वाजपेयी का राजस्थान से सियासी ही नहीं, बल्कि भावनाओं का रिश्ता भी था। वह भैंरो सिंह शेखावत की बेटी की शादी में जब कन्यादान करने राजस्थान आये थे तब इस रिश्ते की हकीकत को लोगों ने सियासत से परे जाकर समझा।

अटल का मिलनसार व्यक्तित्व उन्हें औरों से अलग करता नजर आता है। सालों पहले 1882 में भैंरो सिंह शेखावत की बेटी के विवाह समारोह में अटल बिहारी वाजपेयी ने शिरकत की थी।

विवाह उसी जगह था जहां आज राजस्थान की भाजपा का प्रदेश मुख्यालय मौजूद है। इस विवाह में विशेष तौर पर आये थे अटल बिहारी वाजपेयी, लालकृष्ण आडवाणी भी आये थे।

वाजपेयी और आडवाणी दोनों ही उस वक्त भाजपा को खड़ा करने की कोशिशों में जुटे थे, हालांकि वह देश की राजनीति के चमकते सितारे बन चुके थे। वैवाहिक कार्यक्रम में सियासत से परे जाकर तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवचरण माथुर ने अटल बिहारी वाजपेयी की अगवानी की।

भैंरो सिंह शेखावत से वह ऐसे गले लगे जैसे दो दोस्तों का मिलन हो। इसके बाद विवाह से जुड़े अहम रस्मों-रिवाजों में उन्होंने शिरकत की। क्या उस वक्त के दिग्गज कांग्रेसी नेताओं परसराम मदरेणा, पूनमचंद बिश्नोई के साथ उन्होंने घंटो बिताये। साथ ही राजस्थान पत्रिका के संस्थापक कर्पूर चंद कुलिश और दैनिक नवज्योति के संस्थापक दुर्गा प्रसाद चौधरी के साथ भी बातचीत की।

राजस्थान के राजनेताओं से रहा करीबी रिश्ता
अटल बिहारी वाजपेयी के राजस्थान से भाजपा के कई नेताओं के गहरे संबंध रहे हैं। वह अक्सर पार्टी की बैठकों में जयपुर आते रहे कई बार भाजपा के वरिष्ठ नेता रामदास अग्रवाल के परकोटे स्थित आवास पर रुके। पूर्व सांसद रामदास अग्रवाल को उनके साथ बिताये प्रत्येक पल का स्मरण है।
अटल, आडवाणी और भैंरो सिंह के संयुक्त दुर्लभ चित्रों से सुसज्जित पहला फोटो राजस्थान में ही खींचा गया था। इस फोटो ने देश की और भाजपा की राजनीति को नवीन दिशा दी।

अटल का हाल पूछने जाते भैंरो सिंह
भैंरो सिंह शेखावत जब तक जीवित रहे, तब अपने दिल्ली प्रवास के दौरान रोजाना अटल बिहारी वाजपेयी के आवास जाते थे और उनकी कुशलक्षेम पूछते थे। इतना ही नहीं राजस्थान के आर एस एस से जुड़े व्यक्तियों से भी उनका लगाव हमेशा रहा। आर एस एस के क्षेत्रीय मुखपत्र पाथेय कण के सम्पादक कन्हैया लाल चतुर्वेदी के परिवार से भी वाजपेयी के गहरे रिश्ते रहे।

अटल बिहारी वाजपेयी को यादों के झरोखों के जरिये जानने पर यही लगेगा कि एक साधारण मनुष्य एक दिन आखिर देश के प्रधानमंत्री के ओहदे तक कैसे पहुंच गया।

यह शायद वाजयेपी ही हैं और इकलौते राजनेता भी, जिनके प्रति भाजपाइयों के बीच ही आदर भाव नहीं है, बल्कि विरोधी दल के नेताओं के बीच भी वे उतने ही सम्मानीय है। आज भैंरो सिंह शेखावत इस दुनिया में नहीं हैं। अटल बिहारी वाजपेयी राजनीतिक जीवन में सक्रिय नहीं हैं। सक्रियता के लिहाज से देश की शिखर तक पहुंची तीन नेताओं की जोड़ी में से केवल लाल कृष्ण आडवाणी ही सक्रिय हैं।

अटल बिहारी वाजपेयी के सबसे करीब रहता है जयपुर का यह शख्‍स, जानें आखिर क्‍यों?

भारत रत्‍न’ बने अटल बिहारी वाजपेयी, राष्‍ट्रपति ने घर जाकर दिया सम्‍मान

PICS: भोपाल में भतीजी रेखा के घर पर ही भोजन करते थे अटल बिहारी वाजपेयी

PICS: देखिए, ‘भारत रत्‍न’ अटल बिहारी वाजपेयी के घर पहुंचकर किन नेताओं ने दी बधाई

आप hindi.news18.com की खबरें पढ़ने के लिए हमें फेसबुक और टि्वटर पर फॉलो कर सकते हैं.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर