Sikar: सूदखोरों से तंग आकर थानाधिकारी के पिता ने किया सुसाइड, पुलिस महकमे में हड़कंप

आरोप है कि सूदखोरों ने रुपयों के ब्याज पर ब्याज लगाकर कर्जा बढ़ा दिया और रुपए देने के लिये दवाब बनाया.
आरोप है कि सूदखोरों ने रुपयों के ब्याज पर ब्याज लगाकर कर्जा बढ़ा दिया और रुपए देने के लिये दवाब बनाया.

Suicide: जिले में सूदखोरों से तंग आकर एक पुलिस ऑफिसर के वृद्ध पिता ने जहर खाकर जान (Suicide) दे दी. मृतक का पुत्र खुद जयपुर के जोबनेर थाने में थानाधिकारी (SHO) हैं.

  • Share this:
सीकर. जिले के खंडेला थाना इलाके में एक बुजुर्ग ने सूदखोरों (Money lenders) से तंग आकर जहर खाकर जान (Suicide) दे दी. मृतक का बेटा जयपुर के जोबनेर थाने में थानाधिकारी हैं. घटना के बाद पुलिस में हड़कंप मच गया. मृतक के पुत्र जोबनेर थानाधिकारी ने एक नामजद आरोपी सहित उसके परिजनों के खिलाफ आत्महत्या के लिये उकसाने का मामला दर्ज कराया है. पुलिस पूरे मामले की जांच में जुटी है.

खंडेला थानाधिकारी महेंद्र मीना ने बताया की आत्‍महत्‍या की वारदात इलाके के होद गांव में हुई है. वहां सुखदेव शर्मा ने 21 अक्टूबर को जहर खा लिया. इस पर उन्हें गंभीर हालत में चौमूं स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया. वहां सुखदेव शर्मा की इलाज के दौरान 22 अक्टूबर को मौत हो गई. इस संबंध में सुखदेव शर्मा के पुत्र हितेश शर्मा ने आत्महत्या के लिए उकसाने का मामला दर्ज कराया है. हितेश शर्मा खुद वर्तमान में जयपुर के जोबनेर में थाना इंचार्ज हैं. हितेश ने अपनी प्राथमिकी में आरोप लगाया है कि तिवाड़ी की ढाणी तन जयरामपुरा निवासी बंशीधर मंगावा और उसके परिजन तथा अन्य लोग उधार लिये गये रुपयों के लिए उसके पिता को तंग कर रहे थे.

Big News: राजस्थान में बदल सकती है पंचायती राज की तस्वीर, बिना सिंबल चुनाव कराने की तैयारी



ब्याज पर ब्याज लगाकर बढ़ा दी कर्ज की रकम
हितेश ने आरोप लगाया कि उनके पिता को प्रताड़ित करने के साथ जान से मारने कि धमकी दे रहे थे. आरोपियों ने ब्याज पर ब्याज लगाकर कर्ज की रकम बढ़ा दी और उनके पिता पर दवाब बनाया. इससे परेशान होकर उनके पिता सुखदेव शर्मा ने आत्महत्या कर ली. पुलिस ने हितेश शर्मा की शिकायत के आधार पर आत्महत्या के लिए उकसाने सहित विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

हजारों के बदले लाखों रुपये वसूलने में लगे सूदखोर
उल्लेखनीय है कि सीकर जिले में सूदखोरों ने लोगों में भय पैदा कर रखा है. वे जरूरतमंद लोगों को मुसिबत के समय रकम उधार देकर उस पर मनमना ब्याज वसूलने में जुटे हैं. इसके लिये वे पीड़ितों पर नियमित रूप से लगातार रकम वापस करने का दबाव बनाते हैं. रुपये नहीं देने पर ब्याज में वृद्धि कर लोगों को प्रताड़ित किया जाता है. हजारों रुपयों के बदले वे लाखों रुपये वसूलने में लगे हैं. इसको लेकर हाल ही में सीकर में लोगों ने कई बार जिला पुलिस-प्रशासन को ज्ञापन दिया है. गुरुवार को भी सैनी समाज ने एसपी को सूदखोरों के खिलाफ कार्रवाई के लिये ज्ञापन सौंपा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज