होम /न्यूज /राजस्थान /Sikar: ईमानदारी अभी जिंदा है! टैक्सी चालक ने लौटाये महिला यात्री के 8 लाख के जेवर

Sikar: ईमानदारी अभी जिंदा है! टैक्सी चालक ने लौटाये महिला यात्री के 8 लाख के जेवर

पुलिस चौकी में अपने जेवर चैक करती पीड़ित महिला.

पुलिस चौकी में अपने जेवर चैक करती पीड़ित महिला.

सीकर (Sikar) जिला मुख्यालय पर एक ऑटाे चालक ने महिला यात्री को जेवर से भरा बैग लौटाकर ईमानदारी (Honesty) का परिचय दिया ...अधिक पढ़ें

सीकर. झूठ और फरेब के इस दौर में भी ईमानदारी (Honesty) जिंदा है. इसका जीता जागता उदाहरण राजस्थान के सीकर जिले में सामने आया है. यहां जिला मुख्यालय पर एक ऑटो चालक ने महिला यात्री के 8 लाख रुपए के गहने लौटाकर (Jewelry return) ईमानदारी का परिचय दिया है. महिला जेवर से भरा बैग ऑटो में ही भूल गई थी. खोये हुये गहने मिलने के बाद महिला ऑटो चालक का धन्यवाद देते हुये नहीं थक रही हैं.

जानकारी के अनुसार, नागौर के जायल में पटवारी के पद पर तैनात पिपराली निवासी इंदिरा जाट गुरुवार शाम को अपने घर लौटी थी. उसने घर जाने के लिये शहर के बजरंग कांटा से ऑटो लिया. वह ऑटो में बैठकर नवलगढ़ पुलिया तक गई और वहां उतर गई, लेकिन इस दौरान वह अपना गहनों से भरा बैग ऑटो में भूल गई. उसके जाने के बाद ऑटो चालक अब्दुल खालिद ने जब बैग खोलकर देखा तो उसमें गहने भरे हुए थे. ऑटो चालक अब्दुल खालिद ने ईमानदारी का परिचय देते हुए वहां खड़े पुलिसकर्मी को गहने से भरा हुआ बैग सौंप दिया। बाद में पुलिसकर्मी और अब्दुल खालिद ने कल्याण सर्किल पुलिस चौकी पर पहुंचकर मामले की जानकारी दी.

Rajasthan: बारां में दंपति को चाकू से गोदा, पत्नी की दर्दनाक मौत, पति गंभीर घायल

जेवर के बैग में मिली थी पर्ची
पुलिस ने जब ऑटो चालक को मौजूदगी बैग को खोलकर देखा तो उसमें एक पर्ची मिली. उस पर्ची में इंदिरा के मोबाइल नंबर थे. पुलिस ने इंदिरा को फोनकर बैग के बारे में जानकारी ली. उसके बाद इंदिरा भी कल्याण सर्किल चौकी पहुंची. वहां पुलिस ने उससे गहनों की तस्दीक करवाई. सभी बातें कन्फर्म होने के बाद पुलिस ने जेवर से भरा बैग इंदिरा को सौंप दिया. अपने जेवर का बैग देखकर इंदिरा भावुक हो गई. उसने ऑटो चालक अब्दुल खालिद और पुलिस को धन्यवाद दिया. वहीं पुलिस ने भी ऑटो चालकी ईमानदारी को काफी सराहा.

Tags: Honesty, Rajasthan police

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें