होम /न्यूज /राजस्थान /

खाटूश्यामजी दुखान्तिका: SHO SDM और DSP के बाद अब तहसीलदार भी सस्पेंड, सीएम गहलोत ने ली बैठक

खाटूश्यामजी दुखान्तिका: SHO SDM और DSP के बाद अब तहसीलदार भी सस्पेंड, सीएम गहलोत ने ली बैठक

सीएम अशोक गहलोत ने अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि धार्मिक स्थलों पर पैदल यात्रियों के लिए मजबूत कॉरिडोर बनाकर उनकी पालना कराई जाए.

सीएम अशोक गहलोत ने अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि धार्मिक स्थलों पर पैदल यात्रियों के लिए मजबूत कॉरिडोर बनाकर उनकी पालना कराई जाए.

Khatushyamji temple stampede case update: प्रसिद्ध खाटूश्यामजी मंदिर में चार दिन पहले हुये हादसे में तीन श्रद्धालुओं की मौत के बाद अब इलाके के तहसीलदार को भी सस्पेंड (Tehsildar also suspended) कर दिया गया है. इससे पहले थानाप्रभारी समेत एसडीएम और डीएसपी को सस्पेंड किया जा चुका है. हादसे के बाद बुधवार को सीएम अशोक गहलोत ने अधिकारियों की अहम बैठक लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये हैं.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

खाटूश्यामजी मंदिर में चार दिन पहले सोमवार को अलसुबह हुआ था हादसा
खाटूश्यामजी मंदिर में मची भगदड़ में तीन महिला श्रद्धालुओं की मौत हो गई थी

संदीप हुड्डा.

सीकर/जयपुर. खाटूश्यामजी मंदिर में मची भगदड़ (Khatushyamji temple stampede case) में तीन श्रद्धालुओं की मौत के बाद अशोक गहलोत सरकार ताबड़तोड़ एक्शन करने में जुटी है. इसके तहत अब तहसीलदार को भी सस्पेंड (Tehsildar also suspended) कर दिया गया है. खाटूश्यामजी दुखान्तिका केस में अब तक चार अधिकारियों को सस्पेंड किया जा चुका है. इस मामले में चार जिला स्तरीय अधिकारियों के सस्पेंड होने के बाद प्रशासनिक अमले में हड़कंप मचा हुआ है. अब बड़े अधिकारियों पर गाज गिरने की बात सामने आ रही है. वहीं पूरे मामले को लेकर बुधवार को सीएम अशोक गहलोत ने जयपुर में समीक्षा बैठक की.

खाटूश्यामजी मंदिर में मची भगदड़ के मामले में राज्य सरकार ने बुधवार को तहसीलदार विपुल चौधरी को भी सस्पेंड कर दिया है. सोमवार को हुए इस हादसे के बाद उसी दिन सबसे पहले खाटूश्यामजी थानाप्रभारी रिया चौधरी को थाने से हटाकर सस्पेंड किया गया था. उसके बाद मंगलवार रात को इलाके के उपखंड अधिकारी राजेश मीणा और पुलिस उपाधीक्षक सुरेन्द्र सिंह को सस्पेंड किया गया था. फिर बुधवार को तहसीलदार भी कार्रवाई की जद में आ गये.

गहलोत ने कहा मजबूत कॉरिडोर बनाकर उनकी पालना कराई जाए
खाटूश्यामजी मंदिर हादसे के बाद बुधवार शाम को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में इसको लेकर समीक्षा बैठक हुई. बैठक में सीएम गहलोत ने कहा कि धार्मिक स्थलों पर पैदल यात्रियों के लिए मजबूत कॉरिडोर बनाकर उनकी पालना कराई जाए. धार्मिक स्थलों की कमेटियों को सभी तरह की पुख्ता व्यवस्था के दिशा-निर्देश दिए जाएं. प्रशासन धर्मगुरुओं और ट्रस्ट के पदाधिकारियों के साथ बैठकें करें. मेलों से पूर्व और मेलों के दौरान व्यवस्थाओं का लगातार निरीक्षण करें.

वीआईपी रास्तों पर जड़ दिये गये हैं ताले
उल्लेखनीय है कि मासिक मेले के दौरान सोमवार को अलसुबह मंदिर में भीड़ का दबाव बढ़ जाने से वहां भगदड़ मच गई थी. इसमें तीन महिला श्रद्धालुओं की मौके पर ही मौत हो गई थी. उसके बाद एक स्थानीय कांग्रेसी नेता ने मंदिर प्रबंधन कमेटी के पांच पदाधिकारियों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कराया है. वहीं जिला प्रशासन ने मंदिर की दर्शन व्यवस्थाओं को पुख्ता करने के लिये मंदिर में वीआईपी दर्शन के लिये बनाये गये सभी दरवाजों पर ताले जड़ दिये हैं.

(इनपुट- दिनेश शर्मा)

Tags: Ashok Gehlot Government, Big accident, Jaipur news, Rajasthan news, Sikar news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर